समाचार
|| रेलवे हाई स्कूल शहडोल में किया गया विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन || निर्वाचक नामावली में नाम जोड़ने एवं हटाने के कार्य को गति प्रदान करें- जि.निर्वा.अधि. श्री शर्मा || पटवारी प्रतिवेदन के कारण राजस्व न्यायालयों में प्रकरण लंबित पाए जाने पर पटवारी होंगे निलंबित - कलेक्टर || मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल सम्मेलन तथा रोजगार मेले की तैयारियों के संबंध में समीक्षा बैठक सम्पन्न || टपकती हुई पानी की बूंदो ने किसानों को पहुंचा दिया बुलंदियो पर ''''सफलता की कहानी'''' || नेवरगांव-ला में हायर सेकेंडरी एवं छिंदलई में हाई स्कूल भवन निर्माण के लिए कृषि मंत्री श्री बिसेन ने किया शिलान्यास || 19 हितग्राहियों पर एफआईआर के निर्देश || भावांतर भुगतान योजना में 25 नवंबर तक होंगे पंजीयन || धानहारी नदी के गहरीकरण के निर्देश || कार्यो में धीमी गति पर सरपंच का प्रभार उप सरपंच को देने का प्रस्ताव
अन्य ख़बरें
386 परीक्षा केन्द्रों में 26300 नवसाक्षरों ने दी परीक्षा
कहीं सास-बहू तो कहीं भूतपूर्व सरपंच एवं पंच शामिल हुये नवसाक्षर, परीक्षा में हुये सम्मिलित
शहडोल | 20-मार्च-2017
 
 
    साक्षर भारत योजना अन्तर्गत 19 मार्च 2017, को ग्राम पंचायत स्तर पर स्थापित प्रौढ़ शिक्षा में आयोजित नवसाक्षर मूल्यांकन परीक्षा में रोचक नजारे देखने को मिले कहीं केन्द्र में सास-बहु तो कहीं पंच व भूतपूर्व महिला सरपंच एक साथ परीक्षा में सम्मिलित हुए। जिले में परीक्षा के लिए 386 साक्षर केन्द्र बनाये गये थे। इन केन्द्रों में लगभग 26300 नवसाक्षर परीक्षा मे सम्मिलित हुये। शासन की मंशानुसार जिले के सभी असाक्षरों को जिनकी उम्र 15 वर्ष से अधिक है तथा जो किन्ही कारणों से विद्यालयों मे शिक्षा ग्रहण नहीं कर सके उन्हे सर्वे के माध्यम से चिन्हांकित कर नामांकित किया जाकर साक्षर किया गया। इस परीक्षा मे तीन श्रेणियों के परीक्षार्थी शामिल हुये। पहले वे परीक्षार्थी जो सर्वे से चिन्हांकित होकर साक्षरता केन्द्रों मे नामांकित किये गये तथा प्रेरकों के माध्यम से शिक्षित हुये। दूसरे ऐसे परीक्षार्थी जो पूर्व से साक्षर हैं किन्तु उनके पास कोई प्रमाण पत्र नहीं है तथा तीसरे ऐसे परीक्षार्थी जो पूर्व की बेसिक साक्षरता मूल्यांकन परीक्षा मे असफल हो गये थें।
    जिला प्रौढ़ शिक्षा अधिकारी श्रीमती सावित्री सोनी ने बताया कि 616 प्रेरकों द्वारा चिन्हित किये गये विद्यार्थियों को परीक्षा में शामिल कराया गया साथ ही ऐसी ग्राम पंचायते जिसमें प्रेरक नहीं थे वहॉं (बी.एस.डब्लू) मुख्यमंत्री नेतृत्व क्षमता विकास के छात्रों द्वारा परिक्षार्थियों को शामिल कराया गया। जिले में जिला कलेक्टर द्वारा पांच विकास खण्डों के लिए पांच अधिकारियों की सतत् मानीटरिंग हेतु ड्यूटी लगायी गयी जिसमें जिला शिक्षा अधिकारी को विकास खण्ड ब्यौहारी, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को विकास खण्ड जयसिंहनगर, डाईट प्राचार्य शहडोल को विकास खण्ड गोहपारू एवं जिला परियोजना समन्वयक को विकासखण्ड बुढ़ार तथा जिला प्रौढ़ शिक्षा अधिकारी को विकासखण्ड सोहागपुर के ग्राम पंचायतों में हो रही नवसाक्षर परीक्षा की सतत् मॉनीटरिंग करने हेतु निर्देशित किया गया। इस दौरान जिला प्रौढ़ शिक्षा अधिकारी श्रीमती सावित्री सोनी द्वारा तीन विकास खण्डों के लगभग 12 परीक्षा केन्द्र (जमुई, धुरवार, कंचनपुर, लालपुर, कटकोना, विक्रमपुर,करकटी, भटिया, कमता, कोल्हुआ, चिटुल्हा, नवाटोला) का निरीक्षण किया गया। जिसमें जमुई केन्द्र में 68 महिला, 12 पुरुष कुल 80 नवसाक्षर, वहीं विक्रमपुर केन्द्र वि.खं. सोहागपुर में 144 महिला, 120 पुरुषों कुल 264 नवसाक्षरो ने दो परीक्षा केन्द्रों में परीक्षा दी जिसमें आंगनवाड़ी केन्द्र को भी परीक्षा केन्द्र बनाया गया। परीक्षा केन्द्र करकटी में 167 महिला, 153 पुरुष कुल 320 नवसाक्षरों ने परीक्षा दी। ग्राम पंचायत बोड़री परीक्षा केन्द्र में कुल 240 नवसाक्षरों ने परीक्षा दी। सांसद आदर्श ग्राम केलमनिया विकास खण्ड सोहागपुर में शेष बचे सभी 21 नवसाक्षर परीक्षा में शामिल हुए, जिसमें 09 पुरुष, 12 महिलाओं ने परीक्षा दी और शत् प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त किया गया।
   ग्राम पंचायत खैरहा में सास-बहु तथा भूतपूर्व सरपंच धनवती कोल, पंच मुन्नीबाई कोल ने नवसाक्षर परीक्षा दी यहां कुल 140 नवसाक्षरों ने परीक्षा दी। परीक्षा के दौरान नवसाक्षरों से चर्चा की गयी सभी प्रेरको तथा प्रधान अध्यापकों ने नवसाक्षरों को प्रोत्साहित कर परीक्षा में शामिल कराया। इस दौरान प्रेरकों ने नवसाक्षरो को घर-घर जाकर परिक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया। प्रेरक सुरेश पाण्डे, रमाशंकर कुशवाहा, रिंकी उपाध्याय, कीर्ति सोनी द्वारा बताया गया कि परीक्षा के दौरान निरीक्षण में पहुचे अधिकारियों ने परीक्षा व्यावस्था को देखकर संतोष जताया उक्त परीक्षा मे प्रधानाध्यापक जमुई संतोष कुमार विश्वकर्मा एवं प्रधानाध्यापक यद्यदत्त शर्मा के साथ सभी प्रधानाध्यापकों का सहयोग रहा। जिला शिक्षा अधिकारी शहडोल द्वारा परीक्षा केन्द्र रसपुर, आखेतपुर, साखी, नौड़िया एवं खुटेहरा आदि परीक्षा केन्द्रो का निरीक्षण किया गया।
    जिला परियोजना समन्वयक के पैनल द्वारा विकासखण्ड बुढ़ार के परीक्षा केन्द्र कटकोना, कमता, कोल्हुआ, भटिया परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया गया। परीक्षा केन्द्र कटकोना में 40 नवसाक्षर परीक्षा में शामिल हुए जिसमें 33 महिला, 07 पुरुष एवं परीक्षा केन्द्र कोल्हुआ 39 महिला एवं 07 पुरुष नवसाक्षरों ने परीक्षा दी। उक्त परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण श्री जे.पी. मिश्रा (ए.पी.सी. जिला शिक्षा केन्द्र शहडोल) द्वारा किया गया।
    ब्यौहारी में 66 परीक्षा केन्द्र, जयसिंहनगर में 85 परीक्षा केन्द्र, गोहपारू में 58 परीक्षा केन्द्र, बुढ़ार में 102 परीक्षा केन्द्र तथा सोहागपुर में 75 परीक्षा केन्द्रों के प्राथमिक/माध्यमिक विद्यालयों व आगनवाड़ी को परीक्षा केन्द्र बनाया गया। विकासखण्ड ब्यौहारी मे विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी श्री मंजू शर्मा द्वारा परीक्षा केन्द्र ओदारी, खड्डा, खैरा, सेहरा, तिखवा की मॉनीटरिंग की गई। जिसमें ओदारी परीक्षा केन्द्र मे 98 महिला तथा 52 पुरूष  सहित कुल 150 नवसाक्षर परीक्षा मे सम्मिलित हुये। इसी क्रम मे विकासखण्ड जयसिंहनगर के बी.ई.ओ. श्री एल.के. पाण्डेय, आर.के. तिवारी द्वारा परीक्षा केन्द्र एम./एस. मीठी, दादर, झारा, सीधी, बनसुकली, गजवाही आदि परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया गया। विकास खण्ड बुढ़ार के बी.ई.ओ श्री अशोक शर्मा द्वारा जैतपुर संकुल तथा सहायक ग्रेड-2 श्री मनोज सिंह द्वारा परीक्षा केन्द्र झीकबिजुरी, बकहो, बटुरा, गिरवा, सकरा, केशवाही, कोटा, कुड्डी आदि परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया गया। बी.ई.ओ गोहपारू श्री साकेत द्वारा लेदरा, सेमरा, भर्री, देवगांव, लफदा, चुहरी आदि परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया गया। इसी क्रम मे बी.ई.ओ. सोहागपुर श्री एस.पी. चन्देल द्वारा परीक्षा केन्द्र पी./एस. मैकी, खेतौली, एम./एस. पचगांव, बंधवाबाड़ा, पी./एस. जुगवारी आदि का निरीक्षण किया गया जिसमें परीक्षा केन्द्र खेतौली मे 120 महिला व 04 पुरूष परीक्षा मे सम्मिलित हुये। जिला अधिकारियों के साथ-साथ विकास खण्डों में विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, सी.ए.सी., समन्वयक जनअभियान परिषद श्री विवेक पाण्डेय एव उनके मेंटर्स प्रिया सिंह एवं प्रभा सराफ तथा अन्य सहयोगियो द्वारा परीक्षा केन्द्रों की सतत् मॉनीटरिंग की गई। सभी केन्द्रों में शान्तिपूर्वक सुबह 10 बजे से सायं 5 बजे तक परीक्षा संपन्न कराई गई तथा सायं 5 बजे के बाद केन्द्रों में ही मूल्यांकन कार्य प्रधान अध्यापक व शिक्षकों द्वारा किया गया।
 
(244 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2017दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer