समाचार
|| श्री दवे सम्मानित || शाही सवारी के दिन श्रद्धालु गरीब नवाज कॉलोनी शंख द्वार से दर्शन कर सकेंगे || सूरत से आये दिव्यांग बच्चों ने पूरी श्रद्धा के साथ किये भगवान महाकाल के दर्शन || नल जल योजना के दूसरे चरण का भूमि पूजन आज || कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक ने निरीक्षण किया || मजिस्ट्रेट भीड़ नियंत्रण में सक्रिय रहे || फोटो प्रदर्शनी का आयोजन || पर्यटन क्विज प्रतियोगिता आयोजित || सर्पदंश से मृत्यु पर 20 लाख की सहायता || बिजली गिरने से हुई मृत्यु पर 8 लाख की सहायता
अन्य ख़बरें
ग्रामवासी ग्राम संसद में ग्राम, वार्ड और मोहल्ला विकास के लिये निर्णय ले-कलेक्टर श्री जैन
कलेक्टर श्री जैन ने ग्राम बोरदेही खुर्द और सतनूर की ग्राम संसद में की सहभागिता
छिन्दवाड़ा | 21-अप्रैल-2017
 
 
   कलेक्टर श्री जे.के.जैन ने गत दिवस ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के अंतर्गत जिले के जुन्नारदेव विकासखंड के ग्राम बोरदेही खुर्द और परासिया विकासखंड के ग्राम सतनूर में आयोजित ग्राम संसद में सहभागिता की। ग्राम बोरदेहीखुर्द में राजस्व अनुविभागीय अधिकारी श्री रोशनलाल राय, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत श्री सी.एल.अहिरवार एवं ग्राम सतनूर में राजस्व अनुविभागीय अधिकारी सुश्री सुनीता खंडायत, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत श्री राजधर पटेल तथा खंड स्तरीय अधिकारियों के साथ ही बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।
   कलेक्टर श्री जैन ने ग्राम संसद में कहा कि ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के अंतर्गत आयोजित की जा रही ग्राम संसद का उद्देश्य ग्रामवासियों द्वारा अपने ग्राम, वार्ड और मोहल्ला विकास के लिये क्या अच्छा किया जा सकता है, इस संबंध में मिलकर निर्णय लेना है। यह ग्राम संसद अत्यंत महत्वपूर्ण है। इसमें सभी लोग मिलकर विचार करें और अपने ग्राम, वार्ड और मोहल्ले के विकास के लिये निर्णय ले। गरीबी रेखा में पात्र हितग्राहियों के नाम सूची में जुडवाये और अपात्रों के नाम कटवाये। उन्होंने कहा कि इस अभियान के माध्यम से ग्रामीणों में जल संरक्षण, मिट्टी परीक्षण, स्वच्छता, नशामुक्ति, कृषि को लाभ का धंधा बनाने के लिये जैविक खेती आदि के संबंध में कार्य करें। उन्होंने बताया कि ग्राम संसद द्वारा लिये जा रहे निर्णयों और गतिविधियों को देखने जिले के अधिकारियों के साथ ही प्रदेश स्तर से भी वरिष्ठ अधिकारी आपके ग्रामों में आयेंगे तथा आपकी तैयारियों को देखेंगे।
   कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि जिले में लगभग 37 हजार भूमि पड़ती है जिस पर जल संरचनाये बनाकर जल के स्तर को बढ़ाया जा सकता है। जनभागीदारी से जल संरचनाये बनाकर सामाजिक बदलाव की दिशा में कार्य किया जा सकता है। किसान अपने खेतों में खेत तालाब, बलराम तालाब बनवा सकते है या नदी, नाले, नहर आदि में छोटे-छोटे बंधान बनाकर पानी रोक सकते है। उन्होंने जैविक खेती पर बल देते हुये कहा कि सुबह-सुबह जगह-जगह कचरे का जो धुआं निकलता है, यदि कचरे या पत्तियों के ढेरों को नाडेप या वर्मी कम्पोस्ट में बदला जाये तो यह ज्यादा फायदेमंद होगा और इससे पर्यावरण की रक्षा भी होगी। उन्होंने कहा कि परम्परागत के स्थान पर कृषि की उन्नत तकनीकी, टपक सिंचाई और कम लागत में अधिक उत्पादन लेने के नये तरीकों से खेती में बदलाव किया जा सकता है जिससे कृषकों की आय में बढोत्तरी होगी। खेती के साथ ही वैकल्पिक रूप से उद्यानिकी और पशुपालन भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ग्राम में शौचालय बनाये और उसका उपयोग करें, साफ-सफाई रखे, ग्राम को एक आदर्श ग्राम बनाये। उन्होंने पालीथिन पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने और उसके विकल्प के रूप में कागज और पुराने कपड़ो के थैले बनाने का प्रशिक्षण देने पर विचार करने एवं नशामुक्ति और शराबबंदी के प्रति जागरूक होने के लिये भी कहा। उन्होंने ग्राम बोरदेहीखुर्द में कृषकों से संपर्क कर उन्हे विभागीय योजनाओं की जानकारी नही देने पर ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही करने, श्रीमती निरमा बाई को राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना में सहायता राशि देने और विधवा पेंशन स्वीकृत करने, ग्राम के श्री टिंगू का नाम बी.पी.एल. सूची में जोड़ने और श्री खोदा पिता संतराम के एक पैर में आर्टिफिशियल पैर बनवाकर लगाने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिये। ग्राम संसद में कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, ग्रामीण विकास आदि विभागों के अधिकारियों ने विभागीय योजनाओं की जानकारी देकर लाभ लेने के लिये प्रोत्साहित किया।    
 
(121 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2017सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
31123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer