समाचार
|| अजा-अजजा के विभागीय छात्रावासों में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे || संविदा पैरामेडिकल कर्मचारियों की बोनस अंक सूची वेबसाइट पर अपलोड || शारीरिक दक्षता परीक्षा 10 दिसम्बर से 6 केन्द्रों पर होगी ''''आरक्षक संवर्ग भर्ती परीक्षा-2017'''' || निःशक्त विवाह प्रोत्साहन राशि में वृद्धि || दिसंबर के अंत तक सभी स्कूल बसे जीपीएस व सीसीटीवी कैमरायुक्त होंगी || विधानसभा क्षेत्रों में वीवीपेट-ईवीएम की जानकारी देगी जागरूकता वेन || निःशुल्क आयुर्वेद मेगा शिविर || टीडीएस एवं टीसीएस के संबंध में सेमीनार संपन्न || पुरूष नसबंदी पखवाड़ा मनाए जाने हेतु कार्यशाला आज || अधूरे कार्यों को समयावधि में पूर्ण करें
अन्य ख़बरें
मुख्यमंत्री कौशल्या योजना के अंतर्गत प्रस्तावित व्यवसायिक पाठ्यक्रमों में महिलाओं को किया जायेगा नि:शुल्क प्रशिक्षित
कलेक्टर द्वारा महिलाओं से प्रशिक्षित होकर स्वावलंबी और आत्म-निर्भर बनने की अपील
छिन्दवाड़ा | 19-मई-2017
 
 
   मुख्यमंत्री कौशल्या योजना के अंतर्गत 15 सेक्‍टरों में 2 से 6 माह तक के 38 प्रस्तावित व्यवसायिक पाठ्यक्रमों में वर्ष 2017-18 से प्रतिवर्ष 2 लाख महिलाओं को नि:शुल्क प्रशिक्षित किया जायेगा। इस योजना के अंतर्गत औपचारिक शिक्षा प्रणाली को छोडी हुई महिलायें, अपना कौशल विकसित कर रोजगार/स्वरोजगार चाहने वाली महिलायें, अपना कौशल बढ़ाने की इच्छुक महिलाये, अपने अनौपचारिक कौशल के प्रमाणीकरण की इच्छुक कामगार महिलाये और नक्सलवाद प्रभावित क्षेत्रों की महिलाओं को आवासीय प्रशिक्षण देकर लाभान्वित किया जायेगा। मुख्यमंत्री द्वारा गत 11 मई को रोजगार की पढाई-चले आई.टी.आई अभियान के अंतर्गत महिलाओं के प्रशिक्षण और स्वावलंबन के लिये प्रारंभ की गई  इस योजना का मुख्य उद्देश्य रोजगार अथवा स्वरोजगार प्राप्त करने के लिये महिलाओं को आवश्यक कौशल प्रदान करना, गैर परम्परागत क्षेत्रों में कौशल प्रदान कर महिलाओं की भागीदारी को सुनिश्चित करना, महिलाओं के रोजगार अवसर में वृद्धि करना और प्रशिक्षण के बाद पारिश्रमिक स्तर में वृद्धि हासिल करना है। कलेक्टर श्री जे.के.जैन द्वारा जिले की महिलाओं से उनकी रूचि, पात्रता और पाठ्यक्रम के अनुसार प्रशिक्षित होकर स्वावलंबी और आत्म-निर्भर बनने की अपील की गई है।  
   औद्योगिक संस्था के प्राचार्य श्री जे.पी.सूर्यवंशी ने बताया कि मुख्यमंत्री कौशल्या योजना के अंतर्गत अपेरल मेड-अप्स एण्ड होम फर्नीशिंग सेक्टर में स्वींइग मशीन ऑपरेटर के लिये 4 माह और सेल्फ एम्पलॉयड टेलर के लिये 5 माह, ऑटोमोटिव सेक्टर में शोउफर/टैक्सी ड्रायवर के लिये 6 माह और ऑटोमोटिव सर्विस टेक्नीशियन (टू एण्ड थ्री व्हीलर्स) के लिये 6 माह, कैपिटल गुड्स सेक्टर में मैनुअल मेटल आर्क वेल्डिंग/शील्डिंग मेटल आर्क वेल्डिंग वेल्डर के लिये 6 माह, फिटर-इलेक्ट्रिकल एण्ड इलेक्ट्रानिक एसेम्बली, मैकेनिकल एसेम्बली और फिटर फैब्रीकेशन के लिये 6-6 माह, सी.एन.सी. ऑपरेटर टर्निंग और ड्राफ्टसमैन –मैकेनिकल के लिये 5-5 माह, कंस्ट्रक्शन सेक्टर में असिस्टेंट इलेक्ट्रीशियन, बार वेंडर एण्ड स्टील फिक्सर, मेसन जनरल, कंस्ट्रक्शन पेंटर एण्ड डेकोरेटर, मेसन टाइलिंग, मेसन कांक्रीट और शटरिंग कारपेंटर – सिस्टम के लिये 3-3 माह, डोमेस्टिक वर्कर सेक्टर में जनरल हाउस कीपर के लिये 2 माह, इलेक्ट्रानिक्स एण्ड हार्डवेयर सेक्टर में डी.टी.एच. सेट टॉप बॉक्स इंस्टालेशन एण्ड सर्विस टेक्नीशियन के लिये 2 माह एवं फील्ड टेक्नीशियन में कम्प्यूटिंग एण्ड पेरीफेरल्स, नेटवर्किंग एण्ड स्टोरेज और अदर होम एम्लायंसेस, सी.सी.टी.वी. इंस्टालेशन टेक्नीशियन, सोलर पैनल इंस्टालेशन टेक्नीशियन, एल.ई.डी. लाइट रिपेयर टेक्नीशियन, मोबाईल फोन हार्डवेयर रिपेयर टेक्नीशियन के लिये 2-3 माह, फूड प्रोसेसिंग सेक्टर में पिकल मेकिंग टेक्नीशियन, जेम जेली एण्ड केचप प्रोसेसिंग टेक्नीशियन और बेकिंग टेक्नीशियन के लिये 2-2 माह, ब्यूटी एण्ड वेलनेस सेक्टर में 7 मॉड्यूल के लिये 2 माह, हैल्थकैयर सेक्टर में 8 मॉड्यूल के लिये 3-4 माह, आई.टी. एण्ड आई.टी.ई.एस. सेक्टर में डोमेस्टिक डाटा इंट्री ऑपरेटर के लिये 3 माह, रिटेल सर्विस सेक्टर में 3 मॉड्यूल के लिये 3 माह, सिक्योरिटी सेक्टर में अन्आर्म्ड सिक्योरिटी गार्ड के लिये 2 माह, टेलीकॉम सेक्टर में टेलीकॉम टॉवर टेक्नीशियन के लिये 3 माह और ऑप्टिकल फाइबर टेक्नीशियन के लिये 4 माह, टूरिज्म एण्ड हॉस्पिटेलिटी सेक्टर में ट्रेवल कंसल्टेंट के लिये 2 माह और बैंकिंग फाइनेंशियल सर्विसेस एण्ड इंश्योरेंस (बी.एफ.एस.आई.) सेक्टर में 8 मॉड्यूल के लिये 3 माह का प्रशिक्षण प्रस्तावित किया गया है।  
   संस्था के प्राचार्य ने बताया कि प्रस्तावित पाठ्यक्रमों में नेशनल स्किल क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क (एन.एस.क्यू.ए.एफ.) के अंतर्गत कौशल दक्षता के स्तर निर्धारित किये गये है। इन पाठ्यक्रमों के अंतर्गत न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता आवश्यक है। इन पाठ्यक्रमों के लिये 15 साल से अधिक उम्र की महिलायें पात्र है। प्रत्येक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिये निर्धारित शैक्षणिक योग्यता के आधार पर मैरिट के अनुसार प्रशिक्षणार्थियों के ऑन लाईन चयन की कार्यवाही की जायेगी। प्रशिक्षणार्थियों का पंजीयन पोर्टल www.ssdm.mp.gov.in पर किया जायेगा तथा एम.पी.एस.डी.एम. द्वारा राज्य के अखबारों और मीडिया में प्रवेश की सूचना दी जायेगी। पंजीकरण के समय आधार कार्ड, वोटर आई.डी., जाति प्रमाण पत्र, शैक्षणिक योग्यता के प्रमाण पत्र की छायाप्रति लाना अनिवार्य है। विस्तृत जानकारी के लिये महिलायें आई.टी.आई.में स्थापित हेल्प डेस्क पर संपर्क कर सकती है।            
 
(187 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2017दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer