समाचार
|| विद्युत पर्यवेक्षक परीक्षा के लिये आवेदन पत्र 30 अप्रैल तक आमंत्रित || विश्वकर्मा पुरस्कार के लिये आवेदन आमंत्रित अंतिम तिथि 30 अप्रैल || बैंक खाता व मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराने पर मिलेगा योजनाओं का लाभ || संभागीय मुख्यालयों पर 7 मई से सरकारी स्कूलों के शिक्षकों का प्रशिक्षण || कौशल विकास कार्यक्रम के तहत निःशुल्क प्रशिक्षण के लिए 30 अप्रैल तक कर सकते हैं आवेदन || वैष्णों देवी तीर्थ दर्षन यात्रा के आज रवाना होगी ट्रेन || समन्वित प्रयासों से ही मिलेंगे सार्थक परिणाम- कलेक्टर || दबिश में 320 क्वार्टर देशी मदिरा जप्त || राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री लाल सिंह आर्य का दौरा कार्यक्रम || आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ 15 अगस्त से
अन्य ख़बरें
लोक सेवा गारंटी में लापरवाही बर्दाश्त नहीं – कलेक्टर
बैठक में कलेक्टर ने दी चेतावनी, समय-सीमा बैठक सम्पन्न
जबलपुर | 17-जुलाई-2017
 
    कलेक्टर महेशचन्द्र चौधरी ने लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी के सम्बन्ध में अधिकारियों की लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए आगाह किया है कि इस सिलसिले में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि ऐसे मामलों में प्रावधानों के मुताबिक कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।
    श्री चौधरी आज यहां समय-सीमा बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि पदाभिहित अधिकारियों को सम्बन्धित अधिनियम के तहत कार्यवाही समय-सीमा में सुनिश्चित करनी होगी। अन्यथा सम्बन्धित अधिकारियों पर अर्थदण्ड लगाया जाएगा। समीक्षा के दौरान श्री चौधरी ने राजस्व विभाग, नगरीय प्रशासन तथा लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी में लम्बित मामलों की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि समय-सीमा से बाहर हो चुके मामलों में संज्ञान लेते हुए नियमानुसार दण्डात्मक कार्यवाही की जाए। कलेक्टर ने इस बात पर जोर दिया कि सभी विभाग प्रमुखों का यह दायित्व है कि वे आम नागरिकों को समय पर सेवाएं मुहैया कराई जाना सुनिश्चित करें।
    बैठक में कलेक्टर श्री चौधरी ने सीएम हैल्पलाईन की शिकायतों को लेकर की जाने वाली कार्यवाही की भी विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अधिकारियों से यह अपेक्षा की जाती है कि वे आवेदनकर्ता से सीधे टेलीफोन पर चर्चा करें और तदनुसार प्रावधानों के तहत जरूरी कार्यवाही करें। श्री चौधरी ने राजस्व विभाग में लम्बित शिकायतों का जिक्र करते हुए निर्देशित किया कि इन शिकायतों के त्वरित निराकरण की दिशा में अविलम्ब कदम उठाए जाएं। उन्होंने ऐसे सभी विभाग प्रमुखों को शिकायतों का जल्द से जल्द निराकरण के लिए पाबंद किया जिनके विभागों में सीएम हैल्पलाईन की शिकायतें बड़ी संख्या में लम्बित हैं।
    बैठक में विभिन्न विभागों में स्थानान्तरण के सिलसिले में भी चर्चा हुई। कलेक्टर ने साफ तौर पर कहा कि शिक्षकों के स्थानान्तरण में यह ध्यान रखा जाना चाहिए कि इसके चलते किसी भी प्रायमरी या मिडिल स्कूल के बंद हो जाने की नौबत न आए। कलेक्टर ने डीईओ तथा डीपीसी को इस बारे में आगाह किया। बैठक के दौरान उत्कृष्ट विद्यालय कुण्डम के छात्रावास में बच्चों को समुचित भोजन नहीं मिलने की शिकायत का जिक्र करते हुए कलेक्टर ने कहा कि इस सिलसिले में तत्काल जरूरी कदम उठाए जाएं। श्री चौधरी ने सिहोरा हॉस्पिटल से सम्बन्धित शिकायतों के बारे में भी तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिए। उन्होंने सीएमएचओ डॉ मुरली अग्रवाल को निर्देश दिए कि वे डेंगू रोग के बारे में एडवाईजरी जारी करें। साथ ही ग्रामीण क्षेत्र की सभी स्वास्थ्य संस्थाओं में एन्टी स्नेक वेनम की उपलब्धता सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए।
    बैठक में समीक्षा के दौरान कृषि एवं उद्यानिकी विभागों के कामकाज को असंतोषजनक माना गया। कलेक्टर ने ताकीद की कि अमानक खाद एवं बीज के मामलों में एफआईआर दर्ज कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। इस दौरान श्री चौधरी ने जनसुनवाई के सम्बन्ध में भी अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि शिकायतकर्ता से जरूरी तौर पर चर्चा की जानी चाहिए तभी शिकायतकर्ता को संतुष्टि मिलेगी। बैठक में श्री चौधरी ने कहा कि समाधान ऑनलाइन की व्यवस्था तभी कारगर साबित होगी जब अधिकारी आवेदक की शिकायत के प्रति गंभीरता बरतेंगे।
    बैठक में सीईओ जिला पंचायत हर्षिका सिंह, अपर कलेक्टर छोटे सिंह एवं सुरभि गुप्ता तथा सभी विभाग प्रमुख मौजूद थे।   
 
(280 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2018मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2627282930311
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer