समाचार
|| मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र द्वारा नगर भ्रमण कर दीपावली की शुभकांमनाएं दी || दीपावली मिलन समारोह में सम्मिलित हुए मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र || जनसम्पर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र आज विभिन्न कार्यक्रमों में सम्मिलित होंगे || घर के अंदर मिलेगा स्वच्छ और फिल्टर पानी - मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र || एक दीया प्रदेश के विकास के लिए भी जलाएं-मुख्यमंत्री श्री चौहान || कलेक्टर सपरिवार पहुंचे वृद्धाश्रम || राजस्व अधिकारी शीघ्र करें न्यायालयीन प्रकरणों का निराकरण || पत्रकारो के समक्ष व्ही.व्ही.पी.ए.टी. मशीन का प्रदर्शन || आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित करनें के निर्देश || मतदान केन्द्रों की सूची का विक्रय मूल्य घोषित
अन्य ख़बरें
राज्य सरकार ने महिलाओं के सशक्तिकरण हेतु अनेकों योजनाएं संचालित की है- डॉ. शर्मा
लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत 100 बालिकाओं को प्रदाय किए स्वीकृति पत्र
शिवपुरी | 12-अगस्त-2017
 
 
   म.प्र.बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ.राघवेन्द्र शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार समाज के सभी वर्गों के साथ-साथ महिलाओं के सशक्तिकरण हेतु विशेष प्रयास कर रही है। इस दिशा में जहां राज्य सरकार ने बालिकाओं के जन्म से लेकर उनके विवाह तक सहायता देने हेतु अनेकों योजनाएं संचालित की है और राज्य सरकार बालिकाओं के प्रति इतनी संवेदनशील है कि वर्ष 2006 के पूर्व महिला एवं बाल विकास का बजट लगभग 18 हजार करोड़ था, लेकिन लाडली लक्ष्मी योजना लागू होने से बजट की राशि दोगूनी हो गई।
   म.प्र.बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ.राघवेन्द्र शर्मा ने उक्त आशय के विचार आज स्थानीय कम्युनिटी हॉल गांधी पार्क शिवपुरी के पास शिवपुरी में लाडली शिक्षा पर्व 2017 एवं (किशोर न्याय बालको की देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम 2015 अंतर्गत आयोजित कार्यक्रम में मुख्य आतिथि के रूप में व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता पोहरी विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री प्रहलाद भारती ने की।
   आयोजित कार्यक्रम में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नीतू माथुर, मानव अधिकार आयोग के जिला संयोजक एवं जिला बाल संरक्षण समिति के सदस्य श्री आलोक एम इंदौरिया, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री जिनेन्द्र जैन, सदस्य विनय राहुरीकर, किशोर न्याय बोर्ड की सदस्य श्रीमती सरला वर्मा एवं रंजीत गुप्ता, महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री ओ.पी.पाण्डे, उपसंचालक जनसंपर्क श्री अनूप सिंह भारतीय, लाडली लक्ष्मी योजना के तहत लाभांवित बालिकाए एवं उनके परिजन सहित महिला एवं बाल विकास के अधिकारी एवं कर्मचारी आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम में लगभग लाडली लक्ष्मी योजना के तहत ऐसी लगभग 100 बालिकाए जिन्होंने कक्षा 6वीं में प्रवेश लिया है, प्रत्येक बालिका को 2 हजार रूपए की राशि के स्वीकृति पत्र प्रदाय किए गए है। उक्त राशि बालिकाओं के खाते में सीधे जमा होगी।    
   डॉ.राघवेन्द्र शर्मा ने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में राज्य सरकार के प्रयासों में किसी प्रकार की कमी नहीं है, लेकिन आवश्यकता इस बात की है कि समाज भी महिलाओं के प्रति अपनी सोच में बदलाव लाकर उनके अधिकारों के संरक्षण और सुरक्षा हेतु आगे आए। उन्होंने कहा कि संकट शिक्षा का नहीं है, बल्कि हमारे संस्कारों का है, जो हमारे चिंता का विषय है। अतः हमें बच्चों को अच्छे एवं बेहतर संस्कार देने होंगे। संविधान के तहत बच्चों के लिए जो कानून एवं अधिकार दिए गए है। उनका भी हमें संरक्षण करना होगा। जिससे बच्चें अपने अधिकारों से वंचित न रहे।
प्रधानमंत्री भी कर चुके है लाडली लक्ष्मी योजना की सराहना
   कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विधायक श्री प्रहलाद भारती ने कहा कि प्रदेश में लाड़ली लक्ष्मी योजना का बेहतर क्रियान्वयन किया गया है। इसकी सफलता को देखते हुए देश के अन्य राज्यों ने भी अपने यहां ये योजना शुरू की है, इस योजना की सराहना देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी कर चुके है, उन्होंने कहा कि दुनिया के देशों में भारत एक ऐसा देश है, जो मातृभूमि के रूप में, विश्व गुरू के रूप में जाना जाता है, जहां महिलाओं को मातृ शक्ति के रूप में पूजन किया जाता है। श्री भारतीय ने कहा कि लाडली लक्ष्मी योजना के बेहतर क्रियान्वयन में विभाग के मैदानी कर्मचारियों का भी विशेष योगदान है। इसी भावना के साथ अधिकारी एवं कर्मचारी अन्य योजनाओं का क्रियान्वयन कर जनता को लाभ पहुंचाए।
   जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नीतू माथुर ने कहा कि बालिका के शिक्षित होने पर स्वयं के साथ समाज एवं देश का भी विकास होगा। शिक्षित होकर बालिका को विभिन्न क्षेत्रों में सेवा करने का भी अवसर प्राप्त होगा। उन्होंने ग्वालियर चंबल संभाग में महिलाओं की कम संख्या पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि समाज को अब बालिका के प्रति अपनी सोच में बदलाव लाना होगा और बालक एवं बालिका में किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं करना होगा। उन्होंने कहा कि महिला के विकास के बिना सर्वांगीण विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है। उन्होंने महिला सशक्तिकरण की दिशा में संचालित लाडली लक्ष्मी योजना की सराहना की।
   बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री जिनेन्द्र जैन ने अपने उद्बोधन में कहा कि महिलाओं एवं बच्चों के आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक उन्नयन हेतु केन्द्र एवं राज्य सरकार ने अनेको योजनाएं संचालित कर उन्हें संबल प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि बालिकाए किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है, बल्कि वे सभी क्षेत्रों में अपनी भूमिका को बेहतर तरीके से निर्वाहन कर रही है।
    मानव अधिकार आयोग के जिला संयोजक एवं जिला बाल संरक्षण समिति के सदस्य श्री आलोक एम इंदौरिया ने कहा कि प्रदेश में शिशु मृत्यु दर में कमी इस बात का प्रतीक है कि लाडली लक्ष्मी योजना के बाद समाज का बालिकाओं के प्रति सोच में बदलाव आया है। बालिका बोझ नहीं वरदान है, साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि बालिकाओं के संरक्षण के साथ-साथ हमें ऐसे बालकों का बहिष्कार करना होगा, जो बालिकाओं को गलत नजरिए से देखते है ओर उनका सम्मान नहीं करते है।
   कार्यक्रम के शुरू में महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री ओ.पी.पाण्डे ने राज्य सरकार की महत्वकांक्षी योजना लाडली लक्ष्मी योजना पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इस योजना के तहत लाभांवित कक्षा 5 वीं से 6वीं कक्षा में प्रवेश लेने वाली 569 बालिकाओं प्रत्येक को 2 हजार रूपए की सहायता राशि उनके खाते में जमा कराई गई है। उन्होंने कहा कि पूरे जिले में अभी तक योजना के तहत 62 हजार 155 बालिकाओं को लाभांवित किया गया है। उन्होंने लालिमा अभियान की जानकारी देते हुए कहा कि बालिकाओं के हिमोग्लोबिन की जांच की जाकर हिमोग्लोबिन की कमी होने पर आयरन की गोलियों दी जा रही है। कार्यक्रम का संचालन श्री गिरीश मिश्रा ने किया।
(68 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2017नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer