समाचार
|| पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों का प्रशिक्षण संपन्न || लोकसेवक एप से ही लगानी होगी हाजिरी || मंगलवार को जिले के प्रवास पर रहेंगे राज्यमंत्री श्री पाठक || बुरहानपुर उत्सव आज से || राज्यमंत्री श्री संजय पाठक का जबलपुर आगमन आज || पिछले साढ़े तीन साल में ग्वालियर विधान सभा क्षेत्र में 140 करोड़ की सड़कें बनी – श्री पवैया || अपनी धरोहर व विरासत पर गर्व करने की जरूरत - श्री पवैया || मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस की पहल पर पॉवरलूम बुनकरों को मध्यप्रदेश सरकार का तोहफा || धारा-नीर सशक्तिकरण कार्यक्रम का आयोजन आज || अपनी पंचायत के बचे किसानों का पंजीयन करायें (मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना)
अन्य ख़बरें
आगामी पर्व शांति, सद्भाव, आपसी मेल- मिलाप से मनाने की नागरिकों से अपील
जिला शांति समिति की बैठक सम्पन्न
नरसिंहपुर | 12-सितम्बर-2017
  
   जिले की गौरवशाली परम्परा के अनुरूप आगामी सभी पर्व/ त्यौहार शांति, सद्भाव, आपसी मेल- मिलाप, शालीनता और पारम्परिक सौहाद्र के साथ मनाने की अपील जिला शांति समिति ने जिले के नागरिकों से की है। जिला शांति समिति की बैठक कलेक्टर डॉ. आरआर भोंसले की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक में नवरात्र, दशहरा, मोहर्रम समेत आगामी पर्वों से संबंधित व्यवस्थाओं पर चर्चा हुई, समिति के सदस्यों से सुझाव लिये गये और आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये गये। पर्वों के दौरान कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने और सुचारू आवागमन सुनिश्चित करने पर बल दिया गया।
   बैठक में राष्ट्रीय हरित अधिकरण-एनजीटी के निर्देशों के अनुरूप पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से दुर्गोत्सव के दौरान मिट्टी की प्रतिमाओं की स्थापना करने पर बल देते हुए प्राकृतिक रंगों का उपयोग करने का अनुरोध श्रद्धालुओं से किया गया। बैठक में पर्यावरण प्रदूषण से बचाव के लिए प्लास्टर ऑफ पेरिस की प्रतिमाओं का निर्माण नहीं करने और प्रतिमाओं व ताजियों का विसर्जन जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित कुण्डों में ही करने का आग्रह किया गया। कलेक्टर ने कहा कि गणेशोत्सव के दौरान मिट्टी की प्रतिमाओं के निर्माण एवं स्थापना के प्रति लोगों का रूझान बढ़ा है। इसी तरह की सकारात्मक पहल दुर्गोत्सव के दौरान जारी रहना चाहिये। इस बारे में जागरूकता बढ़ाई जावे। उन्होंने विसर्जन कुंडों की साफ- सफाई करने के निर्देश दिये।
   कलेक्टर डॉ. आरआर भोंसले ने नरसिंहपुर में दशहरा आयोजन/ रावण दहन के लिए आम सहमति से आवश्यक पहल करने पर जोर दिया। उन्होंने पर्वों के दौरान सड़कों की मरम्मत कराने, गड्ढे भरवाने, सुचारू विद्युत आपूर्ति, पीने के पानी की व्यवस्था, अतिरिक्त जलापूर्ति, साफ- सफाई कराने, फायर बिग्रेड, एम्बुलेंस और चिकित्सकों की टीम तैयार रखने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। जिला मुख्यालय के साथ- साथ जिले के अन्य सभी स्थानों पर भी जरूरी इंतजाम किये जावें। उन्होंने आवारा पशुओं के नियंत्रण के लिए प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए विसर्जन स्थलों पर आवश्यक प्रबंध के लिए कहा।
   पुलिस अधीक्षक मोनिका शुक्ला ने चाक-चौबंद पुलिस और सुचारू आवागमन व्यवस्था के लिए बैठक में निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों पर सतत निगरानी रखी जायेगी और गड़बड़ी करने अथवा अफवाह फैलाने पर सख्त कार्रवाई होगी। जुलूसों में शस्त्रों के प्रदर्शन पर रोक रहेगी। साथ ही पर्याप्त पुलिस बल, होमगार्ड के तैराकों समेत चिन्हित स्थानीय गोताखोरों को मुस्तैद रखने के लिए निर्देशित किया।
   जिला शांति समिति की बैठक के निर्णय के अनुसार आग्रह किया गया कि विभिन्न पर्वों के दौरान समिति सदस्यों/ वालंटियर्स की सूची, जुलूस आयोजन एवं रूट की जानकारी संबंधित पुलिस थाने में/ एस.डी.एम. को दी जावे। आवश्यक अनुमति प्राप्त की जावे। जुलूसों में लोग प्रतिबंधित अस्त्र- शस्त्र लेकर नहीं निकलें। शराब पीकर जुलूस में शामिल नहीं हों। तेज आवाज के ध्वनि विस्तारक यंत्रों और डीजे का इस्तेमाल नहीं किया जाए। कार्यक्रमों के आयोजन में शालीनता का विशेष ध्यान रखा जावे। प्रतिमाओं की स्थापना का स्थान पारंपरिक एवं सर्वसाधारण की सुविधा के अनुरूप हो। प्रतिमाओं के स्थापना स्थल से आवागमन में कोई अवरोध नहीं हो, इसका विशेष ध्यान रखा जावे। जबरन चंदा वसूली नहीं की जावे। ताजिया/ दुर्गोत्सव समितियां स्थापना स्थल पर प्रतिदिन रात्रि में सुरक्षा की दृष्टि से वालंटियरों की उपस्थिति सुनिश्चित करें। विद्युत व्यवस्था के कार्य में सुरक्षा का पूर्ण ध्यान रखा जावे। ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग नियमानुसार सर्वोच्च न्यायालय के दिशा- निर्देशों के अनुरूप नियत समयावधि में ही करें। असामाजिक तत्वों की गतिविधियों एवं हरकत की सूचना पुलिस को तत्काल देवें, सूचनाकर्ता का नाम गोपनीय रखा जायेगा। सभी नागरिकों से सामुदायिक सौहार्द बनाये रखने में सहायता करने का अनुरोध किया गया है।
   अपेक्षा की गई कि शराब का सेवन करने वालों को पंडाल में प्रवेश नहीं दें। भीड़ को नियंत्रित रखने के लिए निकासी द्वारों की समुचित व्यवस्था करें। शार्ट- सर्किट से बचाव के लिए बिजली की बायरिंग अच्छी तरह से करावें। दीपक की लौ को पंडाल के कपड़ों, रूई व नारियल से दूर रखें। प्रतिमा की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखें। धार्मिक गीतों को ही बजाया जावें। सड़क के आर- पार बिजली के तारों की उंचाई पर्याप्त रखी जावे। कार्यक्रम स्थल पर ताश के पत्तों से मनोरंजन नहीं किया जावे। सड़क पर अवरोध नहीं हो यह सुनिश्चित करें। यातायात के लिए जगह छोड़ें एवं सड़कों पर पंडाल लगाने के लिए गड्ढे न करें। पंडाल विद्युत तार के नीचे न लगाएं। बिजली के खम्बों पर डेकोरेशन न करें। लंगर डालकर बिजली कनेक्शन नहीं जोड़ा जावे। पंडालों के लिए अस्थायी विद्युत कनेक्शन अनिवार्यत: लिए जावें। जुलूसों में पीली मिट्टी का उपयोग नहीं किया जावे।
   इस अवसर पर जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष वीरेन्द्र फौजदार, अपर कलेक्टर जे समीर लकरा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक राजन, संयुक्त कलेक्टर जेपी सैयाम, मैथलीशरण तिवारी, वीरेन्द्र गिरी गोस्वामी, शब्बीर उस्मानी, मनमोहन-बंटी सलूजा, डॉ. अनंत दुबे, रमाकांत दीक्षित, नारायण सिंह पटैल, महंत प्रीतमपुरी गोस्वामी, सरदार सिंह, संजीव चांदोरकर, मनोहर साहू, विनय जैन, नरेन्द्र राजपूत, अब्दुल हकीम खान, बन्ने खां, मो. हुसैन पठान, ताज पहलवान, जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण व समिति के अन्य सदस्य उपस्थित थे।
 
(68 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2017दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer