समाचार
|| विशिष्ट शैक्षणिक संस्थाओ में प्रवेश के लिए ऑनलाईन होंगे आवेदन || पीड़ित महिलाओं को देंगे व्यवसायिक प्रशिक्षण || पार्षद एवं जिला पंचायत सदस्यों के लिए की गई मतो की गणना || कलेक्टर द्वारा राज्य प्रशासनिक संवर्ग अधिकारियों के मध्य नये सिरे से कार्य विभाजन || दाखाबाई खटीक सरपंच पद पर निर्वाचित || गणतंत्र दिवस पर बच्चों को मिलेगा विशेष भोज "मध्यान्ह भोजन योजना" || अवैध रेत उत्खनन पर पंचायत कर सकेंगी कार्यवाही || केंट विधायक की स्वेच्छानुदान निधि से 3.83 लाख रूपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत || दो दिवसीय रोज शो एवं कृषक प्रशिक्षण आज से || पाटन विधायक ने 47 लोगों को आर्थिक सहायता स्वीकृत की
अन्य ख़बरें
राष्ट्रीय मॉनीटर दल ने किया भ्रमण
सघन इंद्र धनुष अभियान की तैयारियों का लिया जायजा
शहडोल | 13-सितम्बर-2017
 
   
 
   राष्ट्रीय मॉनीटर दल के रूप में डॉ.तृप्ती शिंदे स्टेट टेक्निकल ऑफीसर जेएसआई भोपाल द्वारा जिले में चल रहे सघन इंद्रधनुष अभियान की तैयारियों का जायजा लिया गया। डॉ. शिंदे ने बताया कि बच्चों एवं माताओं का टीकाकरण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता में शामिल हैं तथा उनके द्वारा लगातार समीक्षा की जा रही है। डॉ.शिंदे ने बताया कि मिशन इंद्रधनुष अभियान में सिर्फ स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के सहयोग से अभियान चलाया जा रहा है और इसकी मॉनीटरिंग प्रमुख सचिव स्वास्थ्य द्वारा किया जा रहा था। सघन मिशन इंद्रधनुष में 13 विभाग मंत्रालय मध्यप्रदेश जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य, आदिवासी विकास, पंचायत, श्रम, महिला एवं बाल विकास, खेलकूद विभाग आदि को शामिल किया गया है और इसकी मॉनीटरिंग मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन द्वारा की जा रही है। भ्रमण के दौरान डॉ.शिंदे ने विकास खण्ड जयसिंहनगर के सुदूर ग्राम पिपरी में चल रहे हाउस होल्ड सर्वे का निरीक्षण किया, इसी प्रकार उन्होने जिला, विकास खण्ड, उपस्वास्थ्य केंद्र एवं आरोग्य केंद्र स्तरों पर जिले में चल रहे 0 से 5 वर्ष के बच्चे एंव गर्भवती मातायें जो टीकाकरण से वंचित हैं अथवा जिनका टीकाकरण अपूर्ण है उनके लिये जिले में  चलाये जा रहे हाउस होल्ड सर्वे का निरीक्षण किया। उन्होने विकास खण्ड बुढ़ार के स्लम एरिया धनपुरी शहरी क्षेत्र एवं शहडोल शहरी क्षेत्र जहां कि टीकाकरण का कार्य हाईफोकस है का घर-घर जाकर भेंट की और उन्होने टीकाकरण के विषय में आम जनमानस से चर्चा करते हुये टीकाकरण के महत्व के बारे में बताया। डॉ शिंदे ने नये टीकाकरण रोटा वायरस (बच्चों को डायरिया से बचाने हेतु) आई.पी.व्ही. व सात जानलेवा बीमारी से बचाने के संबंध में बीसीजी, हेपेटाईटिस, पेंटावेलेंट वैक्सीन, पोलियो, खसरा आदि से बच्चों को टी.वी., पीलिया, पोलियो, खसरा, टिटनेस, डिप्थीरिया, काली खांसी, निमोनिया एवं बच्चों का डायरिया के बारे में बचाने की समझाईस देते हुये कहा कि 5 साल 7 बार बच्चों का टीकाकरण कराने से आपका बच्चा स्वस्थ्य एवं निरोगी हो जायेगा।  उन्होने कहा कि टीकाकरण सत्र में स्वास्थ्य कार्यकर्ता माताओं को बच्चों के टीकाकरण के संबंध में चार संदेश आवश्य देवें साथ ही साथ टीककारण के प्रतिकूल प्रभाव के बारे में भी बतायें। ग्राम स्तर पर आशाकार्यकर्ता अपने ग्राम में सहयोगी सदस्य जैसे धर्मगुरू, पुजारी, चिकित्सक, शिक्षक, कोटेदार, पंचायत सचिव, समुदाय की प्रभावशाली महिला आदि की सूची एवं टीकाकरण कार्यों में बाधओं को भी इसी दौरान सूची बद्ध करें ले, ताकि टीकाकरण के साथ अन्य कार्यक्रमों में भी इनका सहयोग व समन्वय प्राप्त करते हुये ग्राम स्तर पर बाधाओं को दूर किया जा सके। भ्रमण के दौरान डॉ.अंशुमन सोनारे जिला टीकाकरण अधिकारी एवं डॉ. मौलिक शाह जिला समन्वयक यूनिसेफ उपस्थित थे।
(129 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2018फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer