समाचार
|| पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों का प्रशिक्षण संपन्न || लोकसेवक एप से ही लगानी होगी हाजिरी || मंगलवार को जिले के प्रवास पर रहेंगे राज्यमंत्री श्री पाठक || बुरहानपुर उत्सव आज से || राज्यमंत्री श्री संजय पाठक का जबलपुर आगमन आज || पिछले साढ़े तीन साल में ग्वालियर विधान सभा क्षेत्र में 140 करोड़ की सड़कें बनी – श्री पवैया || अपनी धरोहर व विरासत पर गर्व करने की जरूरत - श्री पवैया || मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस की पहल पर पॉवरलूम बुनकरों को मध्यप्रदेश सरकार का तोहफा || धारा-नीर सशक्तिकरण कार्यक्रम का आयोजन आज || अपनी पंचायत के बचे किसानों का पंजीयन करायें (मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना)
अन्य ख़बरें
कमिश्नर ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जैतपुर का किया निरीक्षण
13 दिवसों से स्टाक पंजी का संधारण नहीं होने पर दिये जांच के निर्देश
शहडोल | 13-सितम्बर-2017
 
   
    कमिश्नर शहडोल संभाग श्री बी.एम.शर्मा ने कलेक्टर शहडोल श्री मुकेश शुक्ला के साथ आज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जैतपुर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कमिश्नर ने मरीजों से चर्चा की, प्रसूतिगृह एवं जनरल वार्ड में भर्ती मरीजों से कमिश्नर ने चर्चा की एवं अस्पताल प्रबंधन द्वारा मरीजों को मुहैया की जा रही सुविधाओं के संबंध में मरीजों से जानकारी ली। प्रसूति वार्ड के निरीक्षण के दौरान कमिश्नर को जैतपुर की सुमित्रा बाई ने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र द्वारा उन्हें निःशुल्क दवाईयां भोजन और गुड़ के लड्डू मुहैया कराये गये हैं। जिस पर कमिश्नर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्रोत्साहन राशि के संबंध में जानकारी ली। जिस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कमिश्नर को बताया कि सुमित्रा बाई को 1400 रूपये की प्रोत्साहन राशि शीघ्र ही मुहैया करा दी जायेगी। खाता नम्बर के कारण उन्हें राशि मुहैया नहीं कराई जा सकी है, खाता नम्बर उपलब्ध होते ही उसे प्रोत्साहन राशि उपलब्ध करा दी जायेगी। जिस पर कमिश्नर ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि प्रसव के लिये चिकित्सालयों में आने वाली गर्भवती महिलाओं को उन्हें अस्पाताल से डिस्चार्ज करने के पूर्व उनके डिस्चार्ज लेटर में इस बात का उल्लेख किया जाये कि उनके संबंधित खाते में 1400 रूपये की प्रोत्साहन राशि प्रेषित कर दी गई है। कमिश्नर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिये कि मध्यप्रदेश शासन लोगों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिये विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है। कमिश्नर ने निर्देश दिये कि कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मरीजों को पारदर्शिता के साथ मुहैया करायें। कमिश्नर ने निर्देश दिये कि योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार का गतिरोध नहीं होना चाहिए। इस दौरान कमिश्नर ने दवाईयों के भण्डारण कक्ष का निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान दवाईयों की स्टॉक पंजी का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वितरण पंजी और स्टॉक पंजी लगभग 13 दिवसों से संधारित नहीं होने पर कमिश्नर ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा मौके पर उपस्थित एसडीएम जैतपुर को स्टॉक पंजी और दवाई वितरण पंजी की जांच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिये ताकि लापरवाह कर्मचारियों, अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही की जा सके। निरीक्षण के दौरान स्टॉक पंजी में सिर्फ 50 प्रकार की दवाईयां लिस्टेड पाई गई, जबकि लगभग 71 प्रकार की दवाईयां दर्ज होनी चाहिए थी। इस संबंध में कमिश्नर ने खण्ड चिकित्सा अधिकारी जैतपुर से वस्तु स्थिति की जानकारी ली, जिस पर उन्होने बताया कि फार्मासिस्ट द्वारा इस संबंध में विस्तृत जानकारी दी जा सकती है। कमिश्नर ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में किचन का भी निरीक्षण किया, निरीक्षण के दौरान कमिश्नर ने मरीजों को दिये जा रहे खाद्यान्न सामग्री का निरीक्षण किया। इस दौरान कमिश्नर ने प्रसूता महिलाओं को दिये जाने वाले लड्डुओं का भी निरीक्षण किया तथा लड्डुओं के साईज काफी कम होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा निर्देश दिये कि मरीजों को मिलने वाली दवाईयां, खाद्यान्न साम्रग्री एवं लड्डू आदि के वितरण में पूरी पारदर्शिता रखी जाये, रस्म अदायगी न की जाये। उन्होने निर्देश दिये कि चिकित्सालयों से मरीज स्वस्थ्य और खुशहाल होकर जाये ऐसी सेवाएं चिकित्सालयों के माध्यम से मरीजों मिलना चाहिए। कमिश्नर ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के ऑपरेशन थियेटर का भी निरीक्षण किया तथा ऑपरेशन थियेटर में रखे गये पुराने उपकरणों पर नाराजगी व्यक्त की गई तथा निर्देशित किया गया कि पुराने उपकरणों को बदलकर तत्काल नये उपकरण ऑपरेशन थियेटर में लगाये जायें तथा ऑपरेशन थियेटर में पर्याप्त रोशनी भी कराई जाये। कमिश्नर द्वारा जिला चिकित्सालय की डिवेलरी रजिस्टर का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान खण्ड चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र जैतपुर में लगभग 80 प्रतिशत संस्थागत प्रसव कराये गये हैं। 79 प्रकरणों में से सिर्फ 19 प्रकरणों को रिफर किया गया है। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.राजेश पाण्डेय, एस.डी.एम. श्री सी.एल.चनाफ भी उपस्थित रहे।
(67 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2017दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer