समाचार
|| चित्रकूट विधानसभा के लिये आज अपरान्ह 3 बजे तक लिये जायेंगे नाम निर्देशन पत्र || ई.व्ही.एम. मशीन का प्रथम रेण्डमाईजेशन आज || चित्रकूट विधानसभा उप निर्वाचन के लिये प्रेक्षक पहुंचे सतना || मध्यप्रदेश स्थापना दिवस की तैयारियों को लेकर बैठक आज || प्रभारी मंत्री श्री जोशी का दौरा कार्यक्रम || राष्ट्रीय एकता दिवस 31 अक्टूबर को || बंधुआ श्रमिकों के संबंध में कार्यशाला 24 अक्टूबर को || नवोदय विद्यालय के प्रवेश फार्म ऑनलाइन भरे जायेगें || दुकानविहीन ग्राम पंचायतों में खोली जायेगी उचित मूल्य की दुकानें || पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति हेतु ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर
अन्य ख़बरें
लाड़ली शिक्षा पर्व पर 2 हजार 138 बालिकाओं को दो- दो हजार की छात्रवृत्ति वितरित
जिले में 6 स्थानों पर हुआ कार्यक्रम का आयोजन
नरसिंहपुर | 12-अक्तूबर-2017
 
  
   लाड़ली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत छात्रवृत्ति वितरण समारोह लाड़ली शिक्षा पर्व के रूप में जिले के 6 स्थानों नरसिंहपुर, करेली, गोटेगांव, चांवरपाठा, सांईखेड़ा और चीचली में गुरूवार को आयोजित किया गया। इन कार्यक्रमों में कक्षा 6 वीं में प्रवेश लेने वाली लाड़ली लक्ष्मी योजना से आच्छादित जिले की 2 हजार 138 बालिकाओं को एक मुश्त 2 हजार रूपये की छात्रवृत्ति के स्वीकृति पत्र वितरित किये गये। छात्रवृत्ति की राशि संबंधित बालिकाओं के बैंक खाते में सीधे जमा की जा रही है। इन कार्यक्रमों में भोपाल से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उद्बोधन के सीधे प्रसारण को लोगों ने देखा- सुना। जिला मुख्यालय पर स्वामी विवेकानंद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय नरसिंहपुर के ऑडिटोरियम में आयोजित छात्रवृत्ति वितरण समारोह में 6 वीं में प्रवेशित 414 बालिकाओं को दो- दो हजार रूपये छात्रवृत्ति के स्वीकृति पत्रक वितरित किये गये और बालिकाओं को सम्मानित किया गया।
   इस अवसर पर विधायक जालम सिंह पटैल ने अभिभावकों से आग्रह किया कि वे अपनी बेटियों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें। बेटी शिक्षित होगी, तो इसका लाभ भावी पीढ़ियों को भी मिलेगा। महिलायें अपनी परिवार की धुरी होती हैं। परिवार, समाज एवं देश की उन्नति के लिए महिलाओं का शिक्षित और स्वस्थ होना जरूरी है, इससे अनेक समस्याओं से निजात मिलती है। राज्य सरकार द्वारा बेटियों के जन्म से लगाकर विवाह तक के लिए अनेक कल्याणकारी योजनायें संचालित की जा रही हैं। प्रदेश में महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए उनकी शिक्षा और स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। श्री पटैल ने नशे से दूर रहने के लिए लोगों को प्रेरित करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि नशा एक प्रकार की बीमारी है, जिसे लोगों, समाज और गांव से दूर करने के लिए सामूहिक प्रयास करना होंगे।
   कलेक्टर डॉ. आरआर भोंसले ने बताया कि वर्ष 2007 से प्रदेश में शुरू हुई लाड़ली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत जिले में प्रारंभ से अब तक 47 हजार से अधिक बालिकाओं को लाड़ली लक्ष्मी योजना का लाभ दिया गया है। उन्होंने बालिकाओं से आग्रह किया कि वे खूब मेहनत कर पढ़ाई करें और अपना भविष्य उज्जवल बनायें। राज्य सरकार द्वारा बालिकाओं की शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बालिकाओं के स्वास्थ्य, पोषण एवं शिक्षा पर विशेष ध्यान देने पर जोर दिया।
   जिला पंचायत उपाध्यक्ष शीलादेवी ठाकुर ने कहा कि लाड़ली लक्ष्मी योजना राज्य शासन की अत्यंत महत्वपूर्ण योजना है। इससे बेटियों का भविष्य सुरक्षित बनाने में मदद मिली है। उन्होंने कहा कि बेटियां किसी से कम नहीं है, वे हर क्षेत्र में तरक्की कर रही हैं।
   जनपद पंचायत नरसिंहपुर की अध्यक्ष अनुराधा पटैल ने कहा कि राज्य सरकार बेटियों की उन्नति के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।
   मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत आरपी अहिरवार ने कहा कि बालिकायें अवसर को पहचानकर आगे बढ़ें और अपना भविष्य उज्जवल बनायें। उन्होंने व्यवहारिक समझ को बढ़ाने पर जोर दिया। श्री अहिरवार ने अभिभावकों से कहा कि वे अपनी बेटियों को नियमित रूप से स्कूल जरूर भेजें।
   उप संचालक महिला एवं बाल विकास जबलपुर मनीषा लुम्बा ने कहा कि छात्रवृत्ति की राशि का उपयोग बालिकायें अपनी पढ़ाई के लिए ही करें। मिलने वाले अवसरों को पहचान कर उनका लाभ लें और उन्नति करें।
   डॉ. रंजीता कौरव ने महिला स्वास्थ्य, पोषण एवं शिक्षा के बारे में उपयोगी जानकारी दी। उन्होंने बालिकाओं और महिलाओं को अपने पोषण पर विशेष ध्यान देने और संतुलित आहार लेने के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। उन्होंने कहा कि महिलायें स्थानीय स्तर पर उपलब्ध सस्ती एवं सुलभ पोषक खाद्य सामग्री का उपयोग करें। आहार में गुड़, चना, मौसमी फल, मूंगफली, सोयाबीन आदि को शामिल करें। पीने में स्वच्छ एवं शुद्ध जल का उपयोग करें और सही तरीके से हाथ धोयें।
   जिला महिला एवं सशक्तिकरण अधिकारी एपीएस निरंजन ने बताया कि वर्ष 2007 से शुरू हुई लाड़ली लक्ष्मी योजना में जिले में अब तक 47 हजार 371 बालिकाओं को लाभ दिया गया है। लाड़ली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत जिले में कक्षा 6 वीं में प्रवेश लेने वाली लाड़ली लक्ष्मी योजना से आच्छादित जिले की 2 हजार 138 बालिकाओं को छात्रवृत्ति की एक मुश्त दो- दो हजार रूपये की राशि उनके बैंक खाते में जमा कराई जा रही है। लाड़ली लक्ष्मी पर्व में जिले के 6 स्थानों पर आयोजित छात्रवृत्ति वितरण कार्यक्रमों में नरसिंहपुर में 414, गोटेगांव में 488, करेली में 309, चांवरपाठा में 342, सांईखेड़ा में 266 एवं चीचली में 319 बालिकाओं को छात्रवृत्ति के स्वीकृति पत्रक वितरित किये गये।
बालिकाओं की हीमोग्लोबिन की जांच एवं आयरन की गोलियों का वितरण
   इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग एवं आयुष विभाग के काउंटर बनाये गये थे। यहां बालिकाओं की हीमोग्लोबिन की जांच की गई। उन्हें फोलिक एसिड, विटामिन- सी, आयरन, एलबेण्डाजोल की गोलियों का वितरण किया गया। कार्यक्रम में बालिकाओं के स्वास्थ्य एवं पोषण शिक्षा और व्यक्तिगत तथा माहवारी स्वच्छता के संबंध में विशेषज्ञों द्वारा अवगत कराया गया।
   इस अवसर पर नगर पालिका उपाध्यक्ष सरोज राय, पार्षद, जनप्रतिनिधि, अधिकारीगण, बड़ी संख्या में बालिकायें और उनके अभिभावक मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन दीपक अग्निहोत्री ने और आभार प्रदर्शन परियोजना अधिकारी पुष्पा मदकोरिया ने किया।
(11 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2017नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer