समाचार
|| एकात्म यात्रा सामाजिक सरोकारों से जुड़ा सांस्कृतिक अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान || एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला आज || एकात्म यात्रा के संबंध में बैठक 16 दिसम्बर को || पिंक ड्राइविंग लाइसेंस शिविर आज परिवहन कार्यालय में || जनपद स्तर पर कृत्रिम अंग उपकरण वितरण शिविर जारी || एकात्म यात्रा के दौरान प्रतियोगिताए आयोजित होगी || स्वच्छता मैराथन दौड़ आज || वरिष्ठ सहकारिता निरीक्षक निलंबित || एकात्म यात्रा अभियान सांस्कृतिक एवं समरसता की यात्रा है - मुख्यमंत्री || हिन्दी ओलम्पियाड परीक्षा 31 दिसम्बर को
अन्य ख़बरें
अखिल भारतीय सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों ने किया जिले के ग्रामों का भ्रमण
मैदानी स्तर पर योजनाओं के क्रियान्वयन का लिया जायजा
बालाघाट | 12-अक्तूबर-2017
 
    अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा के 8 प्रशिक्षु अधिकारियों का दल इन दिनों बालाघाट जिले के भ्रमण पर आया है। दो ग्रुप में इन प्रशिक्षु अधिकारियों ने 10 से 12 अक्टूबर 2017 तक कटंगी, बिरसा एवं बैहर विकासखंड के ग्रामों का भ्रमण केन्द्र व राज्य शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति को देखा।
    इन प्रशिक्षु अधिकारियों ने आज 12 अक्टूबर को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बालाघाट के मुख्य वन संरक्षक श्री धीरेन्द्र भार्गव, कलेक्टर श्री डी व्ही सिंह एवं जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय से मुलाकात की और ग्रामों के भ्रमण के दौरान प्राप्त अनुभव साझा किये और प्रशासन की कार्यप्रणाली को समझा।
    प्रशिक्षु अधिकारियों के एक दल में कर्नाटक कैडर के 2015 बैच के आईएफएस अधिकारी श्री पी रूथर्न, 2016 बैच के आईआरटीएस अधिकारी श्री प्रमोद पंडित जाधव, 2016 बैच की आईपीएस अधिकारी श्रद्धा नरेन्द्र पांडे एवं मणिपुर कैडर की वर्ष 2015 बैच की अधिकारी अमृता सिन्‍हा शामिल है। इस दल ने कटंगी विकासखंड के ग्राम तिरोड़ी, महकेपार व गोरेघाट का भ्रमण किया है।
    प्रशिक्षु अधिकारियों के दूसरे दल में गुजरात कैडर के वर्ष 2013 बैच के आईपीएस यशपाल धीरजभाई जगनिया, वर्ष 2016 बैच की आईआईएस जे विजयलक्ष्मी, पश्चिम बंगाल कैडर के वर्ष 2015 बैच के आईपीएस उमेश गनपत खंडबहले एवं महाराष्ट्र कैडर के वर्ष 2015 बैच के आईएफएस अधिकारी सिद्धेश तुकाराम सावड़ेकर शामिल है। इस दल के अधिकारियों ने बिरसा विकासखंड के ग्राम चिचगांव, देवगांव व बैहर विकासखंड के ग्राम परसाटोला का भ्रमण किया है।
    प्रशिक्षण पर आये इन अधिकारियों ने जिले के ग्रामों का भ्रमण कर वहां की शालाओं, आंगनवाड़ी केन्द्रों, व प्रधानमंत्री आवास योजना के आवासों का निरीक्षण किया तथा शालाओं में शौचालय की स्थिति, ग्रामों में शौचालय की स्थिति, ग्रामीणों के रोजगार के साधन, कृषि की स्थिति व ग्रामों की सामाजिक संरचना के बारे में जानकारी ली। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों की शालाओं में लड़कों की तुलना में लड़कियों की अधिक संख्या ने इन अधिकारियों को चकित किया। इन अधिकारियों को बताया गया कि बालाघाटजिला मध्यप्रदेश का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला है और यहां पर शिक्षा का स्तर बहुत अच्छा है। इस जिले में अधिक क्षेत्र में वन होने के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका का साधन भी वनों से मिलता है।
    प्रशिक्षण पर आये इन अधिकारियों को मध्यप्रदेश के जबलपुर, कटनी, मंडला, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट एवं नरसिंहपुर जिलों के ग्रामों का भ्रमण कर केन्द्र व राज्य शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन, ग्रामों की सामाजिक संरचना, क्षेत्र विशेष में संसाधनों की स्थिति एवं लोकहित में योजनाओं के उपयोग को समझना है।
(63 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2017जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer