समाचार
|| इंदौर के एमवाय अस्पताल में सरकारी क्षेत्र का देश का पहला अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाओं से युक्त बोन मैरो ट्रांसप्लांट सेंटर स्थापित || स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंह ने दस व्यक्तियों को सहायता राशि स्वीकृत || गणतंत्र दिवस की संध्या पर भारत पर्व का होगा आयोजन || राष्ट्रीय पल्स पोलियो के संबंध में बैठक 23 जनवरी को || रेरा में पंजीकृत न होने पर प्रोजेक्ट्स पर लगेगा जुर्माना || विशाल हृदय वालों के लिये पूरा विश्व है - मुख्यमंत्री || सामाजिक सुरक्षा पेंशन पाने वालों के लिए बैंकिंग सेवाओं में बदलाव "समसामयिक लेख" || एनआईसी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन हुए शुरू || कॉलेज में लेटरल एंट्री से डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश शुरू || पीएससी परीक्षा की फीस वापसी के लिए प्रक्रिया शुरू
अन्य ख़बरें
चरनू सिंह को मिला आशियाना "सफलता की कहानी"
-
अनुपपुर | 07-जनवरी-2018
 
  
      खेती-किसानी करने वाले जैतहरी जनपद पंचायत के 65 वर्षीय श्री चरनू सिंह ने कभी सोचा भी नहीं था, कि उन्हें स्वयं के पक्के घर में रहने का अवसर अपने जीतेजी मिल पाएगा। चरनू सिंह के बेटे रामरतन सिंह ने बताया कि मेरे पास खेती की 2-3 एकड़ जमीन है। जिसमें थोड़ी-बहुत खेती हो जाती है। घर का संचालन मजदूरी से ही होता है। मेरे पत्नी के अलावा एक बेटा और एक बेटी है। परिवार बढ़ने से पुस्तैनी घर छोटा होने के कारण आवासीय समस्या बढ़ती जा रही थी। परिवार के पास आय के साधन नहीं होने के कारण इस समस्या का निदान भी नहीं था।
    विगत वर्ष प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ग्राम पंचायत के माध्यम से मेरे पिता का चयन हुआ। ग्राम सभा में बताया गया कि आवास बनाने के लिए 4 किस्तों में एक लाख 30 हजार रु. तथा शौचालय निर्माण हेतु 12 हजार रु. एवं आवास निर्माण में मजदूरी हेतु मनरेगा के तहत 16 हजार रु. सरकार देगी। यह सुनते ही मेरे पिता इतने प्रसन्न थे कि उन्हें लग रहा था कि कुबेर का खजाना मिल गया हो। पूरे परिवार ने रातभर बैठकर आवास निर्माण की कार्ययोजना बनाई। इसके बाद किस्त का इंतजार करने लगे। पहली किस्त के रूप में 40 हजार रु. खाते में आए। काम शुरु कर दिया। नींव स्तर तक का कार्य पूर्ण होने के बाद दूसरी किस्त 45 हजार रु. की मिली। इसके बाद एक-एक करके सारी राशि खाते में आती गई। अब हमारा आशियाना लगभग पूर्णता की ओर है। शौचालय का निर्माण भी हो गया है। जल्दी ही हम लोग अपने पुराने घर से नए घर में आ जाएंगे। सरकार की गरीबों के प्रति यह हमदर्दी तथा सरकार की यह योजना हम सबके लिए वरदान साबित हुई है। जीवनभर के परिश्रम से जो सपना पूरा नहीं हो सका था, सरकार ने एक ही साल में पूरा कर दिया।
(13 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2018फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer