समाचार
|| समर्थन मूल्य पर चना, मसूर की खरीदी 9 जून तक || समस्त पेंशन हितग्राहियों के आधार नंबर की सीडिंग पेंशन पोर्टल पर होगी || सहायक शिक्षक संवर्ग के कर्मचारियो की अंतिम पदक्रम सूची जारी || कैरियर काउसंलिग में शत-प्रतिशत छात्रो को उपस्थित करायें || प्रेक्षक श्री गौतम 25 मई को सतना आयेगें || चयनित पटवारियों की काउंसलिंग 26 मई को || खेलवृत्ति हेतु खिलाड़ियो से आवेदन आमंत्रित || प्रभारी मंत्री श्री जैन व मंत्री श्रीमती चिटनिस ने पर्यावरण जागरूकता रैली को किया रवाना || सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 2 जून को || स्वच्छ भारत मिशन अंर्तगत समीक्षा बैठक आज
अन्य ख़बरें
विकास की राह पर अग्रसर उमरिया जिला
-
उमरिया | 16-मई-2018
 
   
    जिले में दिसंबर 2016 से अब तक 2220 केवी. उपकेन्द्र बिरसिंहपुर पाली पूर्ण किया जा चुका है। इसमें 22 से 20 लाख रूपये व्यय किये गये है। इसी तरह 158 लाख रूपये की लागत से ग्राम निगहरी के कुदरा ग्राम में तथा 130 लाख लागत के ग्राम नौरोजाबाद के देवगंवाकला विद्युत उपकेन्द्र निर्माणाधीन है। 33/11 केवी उपकेन्द्र भरेवा में 50.14 लाख की लागत से 1.6 से 5 एम.वी.ए विद्युत उपकेन्द्रों की क्षमता वृद्धि की गई इसी तरह उपकेन्द्र बी पाली में 22.23 लाख उपकेन्द्र मानपुर में 18.16 लाख, 31 लाख तथा उपकेन्द्र करकेली में 26.83  लाख की लागत से 1.6 से 3.15 एम.वी.ए. विद्युत उपकेनद्रों की क्षमता में वृद्धि की गई है।
    जिले में 10 लाख 4 हजार 756 विद्युत उपभोक्ता है, 33 के.वी. फीडरों की संख्या तथा 11 केवी फीडरों की संख्या 73, वितरण ट्रासफार्मरों की संख्या 2660 है। जिनके माध्यम से कृषि फीडर हेतु 10 घंटे एवं घरेलू फीडर हेतु 24 घंटे विद्युत प्रदाय की जा रही है। 33.11 केवी विद्युत उपकेन्द्रों की संख्या कुल 15 है अति उच्च दाब की बिछाई गई लाईन 426.31 किलो मीटर, उच्च दाब की बिछाई गई लाईन 2479.90 तथा निम्न दाब की पारेषण लाईन 2054.54 किलो मीटर बिछाई गई है।
प्रधान मंत्री आवास के तहत 12975 आवास पूर्ण
    जिले में वर्ष 2016-17 एवं 2017-18 में 14606 आवास का लक्ष्य जनपद पचायतों को दिया गया था जिसमें सभी आवास सूचित किये जा चुके है। इनमें 14602 आवास को प्रथम किश्त, 14354 को द्वितीय किश्त, 13829 को तृतीय किश्त जारी की जा चुकी है। इन आवासों में से 12975 आवासों को पूर्ण किया जा चूका है शेष 1631 आवास प्रगति के विभिन्न आयामों में है।
    इसी तरह प्रधान मंत्री आवास योजना ग्रामीण के लिये वित्तीय वर्ष 2018-19 हेतु 12552 आवास निर्माण का लक्ष्य किया गया है जिसमें 11380 स्वीकृत किये जा चुके है इनमें 8956 को प्रथम किश्त, 1287 को द्वितीय किश्त, 104 को तृतीय किश्त जारी की चुकी है जिसमें 3 आवास पूर्ण कर लिये गये है।
स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत शौचालय निर्माण कार्य प्रगति पर
    स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत वर्ष 2017-18 के लिये 36850 का लक्ष्य  निर्धारित किया गया था जिसमें 16710 शौचालयों का निर्माण कार्य पूरा किया जा चुका है। कलेक्टर श्री माल सिंह ने जिले के करकेली, मानपुर, पाली जनपद पंचायतों को लक्ष्य निर्धारित करते हूये 15 सिंतबर 2018 तक ओडीएफ करने के निर्देश दिये गये है।
    जिले को खुले में शौच से मुक्त करने के लिये समस्त 234 ग्राम पंचायतों को 622 ग्रामों मे से अब तक 17 ग्राम पंचायतों को ओडीएफ किया जा चुका है जिसमें 48 ग्राम शामिल है। शेष समस्त ग्राम पंचायतो एवं ग्रामों को ओडीएफ करने के लिये अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सुबह शाम फालोअप करने के निर्देश दिये गये है।
आजीविका मिशन के तहत 1262 समूहों का गठन
    जिले मे आजीविकास मिशन के तहत 1262 समूहों का गठन किया जाकर 758 समूहों के खाते बैंकों में खोले गये है, इसमें 520 आर एफ, प्रदाय समूहों को 70.67 लाख, सीआईएफ के 367 समूहो को 94 लाख, सीसीएल के 217 समूहों को 217 लाख, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण के 70 समूहों को 35 लाख, युवा स्वरोजगार योजना के 70 प्रकरणों में 99.50 लाख का लेन देन किया गया है। मिशन के अंतर्गत साबुन निर्माण, सेनेटरी नेपकीन निर्माण, बैग निर्माण, पेपर बैग निर्माण, पापड़, आचार यूनिट की एक-एक यूनिट, सिलाई प्रशिक्षण 120, गोडिंग पेंटिंग एवं कस्टम हायरिंग सेंटर 1- 1, कम्प्यूटर प्रशिक्षण 25 तथा कृषि सीआरपी प्रशिक्षण 30 को दिया गया है।  
महिला बाल विकास के तहत 24081 लाडलियो को किया लाभान्वित
    महिला बाल विकास के अंतर्गत माह अप्रैल 2018 तक प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत जनवरी 2017 से अब तक 6124, लाडली लक्ष्मी योजना के तहत अब तक 24081, कौशिल्या योजना के तहत 18, सशक्तवाहिनी योजना के तहत 94, दत्तक ग्रहण के तहत 5, मिशन पालना के तहत 2, मुख्यमंत्री महिला  सशक्तिकरण योजना के तहत 6 विपत्ति ग्रस्त महिलाओं को लाभान्वित करने के साथ साथ फास्टर केयर योजना के अंतर्गत 3 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया। इसी प्रकार लाडो अभियान के तहत वर्ष 2017- 18 में 14 बाल विवाह के प्रकरण  निराकृत किए गए। शौर्या दल योजना के अंतर्गत जिले में 756 दलों का गठन कर 7560 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया है।
हैण्डपंप एवं नल जल योजनाओं से पीने के पानी की व्यवस्था
    जिले में अब तक 9211 हैण्डपंप स्थापित किए गए है जिनमें 9115  हैंडपंपों के माध्यम से नागरिकों को पीने के पानी की समुचित व्यवस्था की गई है।  हैण्डपंपों के अलावा 153 सिंगल फेस के पंप तथा 49 16 अधारित पंप स्थापित कर पेयजल की व्यवस्था की गई है। इसी प्रकार 189 नल जल योजनाएं चालू कराकर ग्रामीण अंचलों के नागरिकों को घर घर पानी पहुचाया जा रहा है। चालू वित्तीय वर्ष 2018-19 हेतु बसाहटों में पेयजल उपलब्ध कराने हेतु 120 का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिसमें 28 स्थानों में कार्य प्रगति पर है।
पिछड़ा वर्ग एवं अल्प संख्यक कल्याण के तहत हितग्राही लाभान्वित
    जिले में पिछड़ा वर्ग अल्प संख्यक कल्याण विभाग द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 37 हितग्राहियों को 43.103 लाख रूपये व्यय कर बेरोजगारों को लाभान्वित किया गया है। इसी प्रकार मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना के तहत 2.85 लाख रूपये व्यय कर 19 हितग्राहियों को लाभ पहुचाया गया है।
    जिले में 952 छात्रों को 48.543 लाख रूपये की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति, मप्र सिविल सेवा परीक्षा उर्त्तीण प्रोत्साहन राशि के तहत एक हितग्राही को 15 हजार तथा मेधावी पुरस्कार योजना के तहत 4 हितग्राहियों को 30 हजार रूपये का भुगतान किया गया है।
मुख्यमंत्री स्वरोजगार, आर्थिक कल्याण, उद्यमी योजना से 1244 हितग्राही लाभान्वित
    जिले में उद्योग विभाग खादी ग्रामोद्योग, वित्त विकास निगम, अन्त्यावासायी, शहरी विकास अभिकरण, ग्रामीण विकास, हथकरघा, माटीकला बोर्ड, पिछड़ा वर्ग अल्प संख्यक कल्याण विभाग द्वारा संचालित मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, मुख्यममंत्री युवा उद्यमी योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना के अंतर्गत वर्ष 2017-18 में 1244 बेरोजगारों को स्वरोजगार स्थापित करने हेतु 2271.28 लाख रूपये विभिन्न बैकों के माध्यम से स्वीकृत किया जाकर लाभान्वित किया गया है।
सर्व शिक्षा अभियान की पहल से स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति बढ़ी
    जिले में सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत 35 जन शिक्षा केंद्र 801 प्राथमिक एवं 381 माध्यमिक शाला, 3 कस्तूरबा बालिका विद्यालय, 4 बालिका छात्रावास  तथा एक निशक्त छात्रावास के माध्यम से छात्र छात्राओं को सुविधाएं मुहैया कराई जा रही है।
    स्कूल चले हम अभियान के तहत वर्ष 2017- 18में  6 से 14 वर्ष के 111088 छात्रों का नामांकन कराया गया। शासकीय शालाओं में 50064 प्राथमिक शाला, तथा 36820 माध्यमिक शाला में अध्ययनरत समस्त बच्चों को नि:शुल्क पाठ्य पुस्तक एवं गणवेश वितरित किया गया, इनमें से पात्रतानुसार 2202 बच्चों को निशुल्क सायकल वितरित की गई। इसी प्रकार सीडब्ल्यूएसएन हेतु 1147 बच्चों का चिन्हांकन, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय एवं गर्ल्स हास्टल में 400-400, सीडब्ल्यूएसएन हास्टल में 50 छात्रों को सुविधाएं मुहैया कराने के साथ साथ 61 हेड स्टार्ट सेंटर तथा 30 स्मार्ट क्लास लगाई गई, इसके अलावा आरटीई के तहत 2011-12 से अब तक 6130 गरीब छात्र छात्राओं को विद्यालयो में निशुल्क प्रवेश दिलाया गया।
अनुसूचित जाति, जन जाति छात्रों को विभिन्न सुविधाए हुई मुहैया
    जिले में वर्ष 2017- 18 के अंतर्गत 1625 छात्रवासियों को 53.38 रूपये की शिष्य वृत्ति एवं 1220 छात्रों को 37.38 लाख रूपये की शिष्यवृत्ति आश्रम के छात्र छात्राओ को प्रदाय की गई है।  विद्यार्थियो को आवास योजना के तहत 94 छात्रों को 12.92 लाख, अनुसूचित जन जाति के बस्तियों के विकास के लिए 174.78 लाख, अत्याचार निवारण के तहत सहायता पुर्नवास हेतु 15 हितग्राहियों को 1 लाख 75 हजार व्यय किए गए है।
जिले में पेंशन योजना के तहत 37777 हितग्राही लाभान्वित
    जिले में अप्रैल 2018 तक 37 हजार 777 हितग्राहियों को पेंशन का लाभ दिलाया जा रहा है।  इनमें, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के 22276, राष्ट्रीय विधवा पेंशन के 10488, राष्ट्रीय निशक्त पेंशन के 1850, सामाजिक सुरक्षा पेंशन के 2625, मानसिक रूप से अविकसित बहु विकलांग पेंशन के तहत 208 तथा 330 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री कन्या अभिभावक पेंशन योजना के तहत लाभान्वित किया जा रहा है।  इसके अलावा चालू वित्तीय वर्ष में अब तक 188 कन्याओ का सामूहिक विवाह मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत कराया गया।
(7 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2018जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer