समाचार
|| आर्थिक सहायता स्वीकृत || ऋण समाधान योजना की अंतिम तिथि 15 जून || सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 29 मई को || सभी जिला अस्पतालों में डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध कराने वाला || जिला मूल्यांकन समिति की बैठक आयोजित || पंजीकृत असंगठित श्रमिकों की गंभीर बीमारियों का होगा इलाज || पर्यटन से जुड़ी नौकरियों के लिए रोजगार मेला आज आयोजित होगा || मुख्यंत्री युवा उद्यमी एवं विभिन्न योजनाओं में जिले को लक्ष्य प्राप्त || टोल नाका पर अधिमान्य पत्रकारों को छूट || आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका की अनंतिम चयन सूची जारी
अन्य ख़बरें
सुरक्षित यातायात बनाने में सहयोग की अपील
बढ़ती दुर्घटनाओं को रोकने के लिए ऐहतियात बरती जाये, जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न
नरसिंहपुर | 16-मई-2018
 
 
   जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सांसद राव उदय प्रताप सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। समिति ने सुरक्षित यातायात बनाने में लोगों से सहयोग की अपील की है। बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए पुलिस प्रशासन से यातायात नियमों का सख्ती से पालन कराने के लिए भी कहा गया है। दो पहिया वाहन चालकों से अनुरोध किया गया है कि हेलमेट का उपयोग करें। दोपहिया वाहनों में दो से अधिक सवारियां न बैठें। समिति के सदस्यों ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली असामयिक मौतों को थोड़ी सजगता से रोका जा सकता है। बैठक में सुरक्षित यातायात बनाने के संबंध में महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुये। सांसद ने इन सुझावों पर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिये।
   बैठक में राज्यसभा सांसद कैलाश सोनी, कलेक्टर अभय वर्मा, पुलिस अधीक्षक डॉ. मोनिका शुक्ला, एसडीएम रानी बंसल व महेश कुमार बमनहा, जिला परिवहन अधिकारी जितेन्द्र शर्मा, नीरज महाराज, बंटी सलूजा, एसडीओपी, एनएचएआई व नगरीय निकायों के अधिकारी और अशासकीय सदस्य मौजूद थे।
   बैठक में राज्यसभा सांसद श्री सोनी ने कहा कि स्कूल के सामने की सड़क पर तेज गति से वाहन नहीं चलाना चाहिये, ताकि दुर्घटनाओं से बचा जा सके। उन्होंने कहा कि मोबाइल पर बात करते हुए गाड़ी चलाना, वाहन कहीं भी सड़क पर खड़े करना, गाड़ी के पीछे रिफ्लेक्टर नहीं होना, ऐसी गाड़िया भी यातायात बाधित करती है और दुर्घटनाओं का कारण बनती हैं। इन्हें हतोत्साहित किया जाना चाहिये।
   बैठक में कहा गया कि तहसील स्तर पर भी पुलिस प्रशासन के संयुक्त दल द्वारा समय- समय पर वाहन चैकिंग की कार्रवाई की जाये, इससे यातायात में सुधार होगा। गाडरवारा में यातायात के सुधार की आवश्यकता बताई गई। यहां आरटीओ का उप कार्यालय खोले जाने का सुझाव भी आया। इसी प्रकार जिले में यातायात पुलिस बल में संख्या बढ़ाने का प्रस्ताव लिया गया।
   बैठक में सदस्यों का कहना था कि नरसिंहपुर एवं जिले के अन्य शहरों में पार्किंग के लिए स्थान चिन्हित किये जायें, जिससे यातायात पर नियंत्रण हो सके। बाजारों में दुकानदार सड़कों पर अतिक्रमण कर अपनी दुकान का सामान रख लेते हैं, पहले इन्हें समझाइश दी जाये और बाद में कार्रवाई की जाये। दुर्घटनाओं को रोकने के लिए शराब पीकर वाहन चलाने वालों के विरूद्ध कार्रवाई की जाये, उनके लायसेंस निरस्त किये जायें। जहां पर छोटी सड़कें नेशनल हाईवे से मिलती हैं, उन छोटी सड़कों से 50 मीटर पहले स्पीड ब्रोकर बनाये जायें, ताकि स्पीड में गाड़िया सीधे हाइवे पर न पहुंचें। इसी प्रकार नेशनल हाईवे के किनारे मैरिज गार्डन को तभी अनुमति दी जाये, जब उनके पास पार्किंग के लिए पर्याप्त स्थान उपलब्ध रहे। अन्यथा मैरिज गार्डन में आने वाले लोग अपने वाहन हाईवे पर ही खड़े करते हैं, जो दुर्घटनाओं का कारण बनते हैं और यातायात बाधित होता है।
   बिना उपयुक्त लायसेंस के बड़े व भारी वाहन चलाने वाले ड्रायवर भी दुर्घटना का कारण बनते हैं, इनकी सघन चैकिंग हो। ट्रेक्टर में ट्राली के पीछे ट्राली लगाने से भी दुर्घटनायें होती हैं। वाहनों के पीछे रेडियम व रिफ्लेक्टर लगाये जायें। जिले के विभिन्न स्थान जहां दुर्घटनाओं की आशंका होती है, वहां साइन बोर्ड लगाकर लोगों को जागरूक किया जाये। शिक्षण संस्थाओं में यातायात नियमों की जानकारी दी जाये, जिससे बच्चों में यातायात के प्रति जागरूकता बढ़े। स्कूलों में छात्र- छात्राओं को लाने- ले जाने वाले वाहनों की समय- समय पर चैकिंग की जाये, जिससे बच्चों का सुरक्षित आवाजाही सुनिश्चित हो सके। बैठक में पेट्रोल पम्पों पर प्रदूषण जांच केन्द्र स्थापित करने पर भी चर्चा हुई।
(7 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2018जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer