समाचार
|| कोविड-19 मीडिया बुलेटिन - जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण से 139 नये व्यक्ति हुये स्वस्थ || किसानों को 5 दिनों के मौसम को देखते हुये कृषि कार्य करने की सलाह || अभी तक जिले में 178046 व्यक्तियों ने लगवाया टीका || कोरोना कर्फ्यू के दौरान पथ विक्रेताओं के माध्यम से फल-सब्जी की आपूर्ति है जारी || जिले के खरीदी केन्द्रों में गेहूं की खरीदी जारी || विकासखंड चौरई के एक ग्राम व चौरई नगर के 2 वार्डों का निर्धारित क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया घोषित || विकासखंड परासिया के 2 नगरों का निर्धारित क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया घोषित || ट्रेन से आने वाले 7 यात्रियों को किया गया कोरेंटाईन || विकासखंड जुन्नारदेव के एक ग्राम व दो नगरों का निर्धारित क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया घोषित || विकासखंड चौरई के एक ग्राम व एक नगर का निर्धारित क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया घोषित
अन्य ख़बरें
अंग-भंग से प्रभावित तीनों महिलाओं को चार-चार लाख रू.की सहायता : मुख्यमंत्री श्री चौहान
प्रदेश के 700 थानों में आरंभ होगी महिला हेल्प डेस्क, घरेलू हिंसा पर कठोर कानून बनाने के संबंध में मुख्यमंत्री ने ली बैठक
सागर | 27-मार्च-2021
 
   मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में मार्च माह में अंग-भंग के जघन्य अपराध से प्रभावित तीनों महिलाओं को चार-चार लाख रूपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान निवास पर घरेलू हिंसा पर कठोर कानून बनाने के संबंध में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पति या परिवार के निकटतम व्यक्ति द्वारा घर की महिला पर हिंसा मूलतः विश्वास की हत्या है। जिस पर महिला की सुरक्षा और संरक्षण का दायित्व है, यदि वही आक्रांता और अत्याचारी हो जाएगा तो महिला का भरोसा किस पर रहेगा। प्रदेश में हुई हाथ काटने की घटनाएँ घोर निंदनीय है। ऐसा अत्याचार करने वाले व्यक्ति समझ लें कि सरकार हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठी रहेगी। कठोरतम सजा के लिए कड़े प्रावधान किए जाएंगे और पीड़ित महिलाओं की सहायता के लिए भी हर संभव व्यवस्था की जाएगी। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव गृह श्री राजेश राजौरा, प्रमुख सचिव विधि श्री सत्येन्द्र कुमार सिंह, प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास श्री अशोक शाह उपस्थित थे।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि घरेलू हिंसा में महिला के अंग-भंग की स्थिति में अधिक कठोर दंड का प्रावधान किया जाएगा। राज्य शासन महिलाओं के प्रति संवेदनशील है। अंग-भंग से प्रभावित महिलाओं की सहायता और क्षतिपूर्ति के लिए विशेष योजना लागू की जाएगी। साथ ही घरेलू हिंसा के सामान्य प्रकरणों में त्वरित और कठोर कार्रवाई के लिए व्यवस्था को अधिक संवेदनशील बनाया जाएगा।
700 थानों में महिला डेस्क स्थापित होगी
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिलाओं की सहायता के लिए प्रदेश के 700 थानों में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की जाएगी। इन थानों में महिला अधिकारी पदस्थ होंगी तथा पीड़ित महिलाएँ आसानी से अपनी रिपोर्ट दर्ज करा सकें, इसके लिए प्रत्येक थाने का अलग मोबाइल नंबर दिया जाएगा।
(20 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer