समाचार
|| खालवा में होम आइसोलेशन वाले मरीजों के घरों का निरीक्षण किया कलेक्टर ने || शासन द्वारा जिले में रेमडेसिविर इंजेक्शन की समुचित उपलब्धता कराई जा रही है सुनिश्चित || किल कोरोना अभियान के व्दितीय चरण के अंतर्गत अभी तक कुल 4 लाख 7273 व्यक्तियों का किया गया सर्वे और स्क्रीनिंग || जिला कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर द्वारा विगत 24 घण्टे में 102 प्रकरणों का निराकरण || द्वितीय चरण में सोमवार को लगवाया 2818 लोगो ने टीका || बड़वानी के कोरोना प्रभारी मंत्री श्री पटेल ने किया कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण || कोविड टीकाकरण उत्सव के दूसरे दिन 12 हजार 397 व्यक्तियों को लगा टीका || अज्ञात शत्रु से हम सबको मिलकर लड़ना है-पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर || रेमडेसिवीर इंजेक्शन का किया गया कोविड-19 अस्पतालों को वितरण || बीएमसी में कोविड मरीजों के लिए बैड की संख्या बढ़ाई
अन्य ख़बरें
जिला मुख्यालय में श्रमदान के माध्यम से जलाभिषेक अभियान का आगाज "खुशियों की दास्तां"
जन अभियान परिषद द्वारा उमरार नदी में ज्वालामुखी मंदिर के पास शुरू किया गया नदी पुर्नजीवन अभियान
उमरिया | 01-अप्रैल-2021
    जल ही जीवन है। जल के बिना जीवन की कल्पना भी नही की जा सकती। उमरिया नगरवासियों को स्वच्छ एवं शुद्ध पेयजल मिले , इसके लिए नगर की जीवन रेखा उमरार नदी के ज्वालामुखी मंदिर के समीप बने घाट में जन अभियान परिषद इकाई उमरिया द्वारा श्रमदान के माध्यम से नदी पुर्नजीवन एवं संरक्षण का कार्य प्रारंभ किया गया है। प्रथम दिन घाट के पास उगी खरपतवार की साफ सफाई का अभियान चलाया गया, जिसमें 15 लोगों ने दो घंटे तक उत्साह के साथ श्रमदान किया।
    जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक शिवशंकर शर्मा ने बताया कि प्रदेश सरकार की मंशा है कि जल स्रोतो का ग्रीष्म काल में जन अभियान चलाकर जीर्णोद्धार किया जाए। इसी सोच को अमलीजामा पहनानें हेतु जिले के विभिन्न क्षेत्रों में जलाभिषेक अभियान का संचालन शीघ्र ही प्रारंभ किया जाएगा। जल अभिषेक कार्यक्रम में सामाजिक संगठन मां ज्वालामुखी सेवा समिति एवं जलज नीर सामाजिक संस्था के नरेंद्र राय एवं नरोत्तम गिरी गोस्वामी का पूरा सहयोग प्राप्त हो रहा है। आपने बताया कि उमरार नदी जिसके नाम पर जिला मुख्यालय उमरिया का नामकरण हुआ है को स्वच्छ बनाने हेतु लगातार श्रमदान का कार्यक्रम चलाया जाएगा। यह कार्यक्रम प्रतिदिन प्रातः 7 बजे से प्रातः 9 बजे तक संचालित किया जाएगा। आपने जल संरक्षण एवं संवर्धन कार्य में रूचि रखने वाले नगर एवं जिले के स्वैच्छिक संगठनों , आम जनता , प्रशासनिक अधिकारियों से अपील की है कि सामाजिक सरोकार से जुड़े इस कार्य में अपनी सहभागिता निभाएं , जिससे नगरवासियों को प्रदूषित जल से मुक्ति मिले तथा जल जनित बीमारियों से भी उनका बचाव हो सके।
    प्रथम दिन के श्रमदान कार्यक्रम में हरी सिंह मरावी, दस्सु कोल, विरजभान कोल, बारेलाल, फूलचंद, कटोर, रिषी, गोविंद, धीरज आदि ने श्रमदान किया। आगामी श्रमदान कार्यक्रम में नगर के जाने पहचाने कवि प्रेमशंकर मिर्जापुरी ने भी श्रमदान कार्यक्रम में सहभागिता निभाने की सहमति दी है।  इसके साथ ही नवांकुर संस्थाओं द्वारा भी श्रमदान किया गया।

 
(11 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer