समाचार
|| प्रदेश में संक्रमण दर घटी है परंतु अभी ढिलाई नहीं, अभी पूरी कड़ाई || कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने की एडवाइजरी जारी || कोरोना महामारी रोकथाम के लिये कलेक्टर्स को 104 करोड़ आवंटित करने का अनुसमर्थन || आमजन को सुविधा देने हेतु, जिला चिकित्सालय की व्यवस्थाओं में हो रहा उन्नयन - कलेक्टर श्री पुष्प || कोवीशील्ड का अब द्वितीय डोज 42 दिन के स्थान पर 84 दिवस के बाद लगाया जाएगा || कोविशिल्ड वैकसीन की दूसरी डोज 12 से 16 सप्ताह के अंतराल में लगेगी || ऑक्सीजन गैस सिलेंडर की कालाबाजारी में लिप्त शातिर अपराधी नन्दकिशोर पर लगाई रासुका - कलेक्टर || प्रदेश में संक्रमण दर घटी है परंतु अभी ढिलाई नहीं, अभी पूरी कड़ाई, बीमारी को छिपाइये मत, बताइये, हम तुरंत इलाज करेंगे-मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान || कृष्णा पैलेस कोविड केयर सेंटर में मरीजो को मिल रहा बेहतर उपचार || जिला अस्पताल में आज 30 से अधिक मरीजों ने कोरोना से जंग जीती
अन्य ख़बरें
’गर्मी के मौसम में साधारण से उपाय कर आप ही कम कर सकते हैं’ ’अपना बिजली बिल’
-
विदिशा | 02-अप्रैल-2021
   गर्मी का मौसम आते ही जैसे-जैसे पारा चढ़ता है, वैसे-वैसे आपका बिजली का बिल ना बढ़े, इसके लिए मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कुछ कारगर तरीके सुझाये हैं
’ए.सी. इस्तेमाल करने वालों के लिए’
    ए.सी. के टेम्प्रेचर को 24 से 26 डिग्री के बीच सेट करें। इससे नीचे टेम्प्रेचर करने पर ए.सी. के कंप्रेशर को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। ए.सी. ज्यादा देर तक चलता है, इसलिए बिजली भी ज्यादा खर्च होती है और आपका बिल ज्यादा आता है। ए.सी. के साथ-साथ कमरे में पंखा भी चलाएं। ए.सी. के एयर फिल्टर को हर 10-15 दिनों में अच्छी तरह धोकर साफ करें फिल्टर में धूल जमने में आपको पूरी ठंडक नहीं मिलती और आपको ए.सी. ज्यादा देर तक चलाना पड़ता है। ए.सी. वाले कमरों के खिड़की-दरवाजे ए.सी.चलने के दौरान मजबूती से बंद रखें। यदि दरवाजे-खिड़कियों में झिरियां हों तो उन्हें थर्मोकोल आदि का इस्तेमाल कर सील कर दें।
’कूलर इस्तेमाल करने वालों के लिए’
    कूलर से पूरी ठंडक पाने के लिए जरूरी है कि कूलर जितनी हवा फेंक रहा है उतनी हवा कमरे से बाहर निकलने का भी पूरा इंतजाम हो। कूलर के पैड यदि खराब हो गये हैं तो उन्हें बदलवा लें।कूलर के पंखे और पंप की आइलिंग ग्रीसिंग करा लें। कूलर के पंखे के कंडेंसर की जांच जरूर करायें। कूलर के रेगुलेटर की भी जांच करायें। इलेक्ट्रॉनिक रेगुलेटर से बिजली कम खर्च होती है।
’पंखे इस्तेमाल करने वालों के लिए’
    घर के सब पंखों की सर्विसिंग करा लें। खराब कंडेंसर, बाल बेयरिंग इत्यादि को तुरंत बदलवा लें। पंखे में इलेक्ट्रॉनिक रेगुलेटर का इस्तेमाल करें।
’रेफ्रिजरेटर इस्तेमाल करने वालों के लिए’
    रेफ्रिजरेटर में कोई खराबी न भी दिखायी दे रही हो तो गर्मी का मौसम ठीक से शुरू होने के पहले रेफ्रिजरेटर की जांच करा लें। रेफ्रिजरेटर का दरवाजा बार-बार ना खोलें। रेफ्रिजरेटर का दरवाजा ज्यादा देर तक न खुला रखें। दरवाजा बार-बार खुलने या ज्यादा देर खुला रहने से कंप्रेशर को फ्रिज का टेम्प्रेचर बनाये रखने में ज्यादा मेहनत लगती है। कंप्रेशर ज्यादा चलने से आपका बिजली बिल बढ़ता है। एकदम गर्मागर्म खाना या दूध फ्रिज में न रखें। ऐसा करने से भी कंप्रेशर को ज्यादा देर चालू रहना पड़ता है और आपका बिजली बिल बढ़ता है।
’सबके लिए कुछ जरूरी टिप्स’
    अपने घर में बिजली की वही वायर और फिटिंग्स इस्तेमाल करें जिन पर आई.एस.आई. का मार्क है। वायरिंग पुरानी, खराब होने से भी बिजली ज्यादा खर्च होती है और घर में आग लगने का खतरा हो सकता है। बिजली की मरम्मत का काम लाइसेंसधारी ठेकेदार, इलेक्ट्रिशियन से ही करायें। सर्टिफिकेट, लाइसेंस देखने की मांग करें। घर में हर जगह ऊर्जादक्षएलईडी लाईट का ही इस्तेमाल करें।
 
(43 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer