समाचार
|| आम नागरिकों से संवाद तथा वर्तमान परिस्थितियों पर प्रभावी नियंत्रण हेतु ई-दक्ष केन्द्र में जिला स्तरीय कन्ट्रोल रूम स्थापित || गलत जानकारी देने वाले और होम आईसोलेशन में बाहर घूमने वालों पर अब होगी एफ.आई.आर. || टीकमगढ़ जिले में लॉकडाउन के दौरान लाकडाउन क्षेत्र के आंगनवाड़ी केन्द्र रहेंगे बन्द || जिले में स्वस्थ होकर 5 मरीज लौटे अपने घर || आमजन को मेडिकल सेवायें उपलब्ध कराने हेतु स्थापित कंट्रोल स्थापित || निजी क्षेत्र के अस्पतालों में कोविड-19 पॉजीटिव मरीजों को उपचार प्रदान करने हेतु आदेष || पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक श्री राजेन्द्र शुक्ल एवं कलेक्टर इलैयाराजा टी ने कोविड वार्ड में जाकर मरीजों से मुलाकात की || कोरोना मरीजों के उपचार के लिए संसाधनों की कमी न हो – पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक श्री राजेन्द्र शुक्ल || पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक ने ऑक्सीजन कंसट्रेटर मशीन क्रय किये जाने हेतु विधायक निधि से राशि व्यय करने की सहमति दी || ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित कर रही हैं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व आशा बहनें (सफलता की कहानी )
अन्य ख़बरें
डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर और अस्पतालों के लिये मार्गदर्शी निर्देश जारी
-
शहडोल | 08-अप्रैल-2021
      कोरोना पॉजिटिव रोगियों के विभिन्न स्तरीय उपचार के लिये डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर और डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों के जनरल आइसोलेशन बेड्स, ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स, हाई डिपेंडेंसी यूनिट बेड्स के उपयोग के लिये मार्गदर्शी निर्देश जारी किये गये हैं।
कोविड-19 रोगियों के भर्ती के लिये क्लीनिकल क्राईटेरिया
SPO2<94%, Respiratory Rate>24/min, Temperature>1010 F despite antipyretics, SBP<100 mm or DBP<60 mm, Pregnant COVID positives, Age>60 with co-morbidities with symptoms, Chest X-ray Showing lobar/multi lobar bilateral lung consolidation, CT Chest showing multi lobe distributions with GGO, Crazy paving, consolidation or air Spaces, Symptoms/signs of Septic Shock.
सामान्य आइसोलेशन बेड्स के लिये भर्ती मापदण्ड
    ऐसे कोविड पॉजिटिव रोगी, जिनके पास होम आइसोलेशन के लिये उपयुक्त व्यवस्था न हो, मंद लक्षण वाले रोगी, जिन्हें ऑक्सीजन एवं कड़ी चिकित्सीय निगरानी की आवश्यकता न हो, को-मोर्बिडिटी युक्त कोविड पॉजिटिव रोगी, जिनकी क्लीनिकल स्थिति स्थिर हो और SPO2-95 प्रतिशत हो एवं ऑक्सीजन की कोई आवश्यकता न हो, के लिये मापदण्ड निर्धारित किये गये हैं।
ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स के लिये भर्ती मापदण्ड
    ऐसे कोविड पॉजिटिव रोगी, जिनका SPO2 स्तर 90-94% हो तथा <5 लीटर/मिनट के मान से ऑक्सीजन फ्लो रेट को नियंत्रित करने की आवश्यकता हो। ऑक्सीजन प्रदायगी के लिये Simpl Face Mask, Nasal Canula/Prongs द्वारा ऑक्सीजन थैरेपी दी जाने की आवश्यकता हो। उपचार उपरांत स्थित क्लीनिकल स्थित वाले को-मोर्बिलिटी युक्त कोविड पॉजिटिव रोगी।
हाई डिपेन्डेंसी यूनिट बेड्स के लिये भर्ती मापदण्ड
    ऐसे कोविड पॉजिटिव रोगी, जिनका SPO2 स्तर <90% हो एवं ऑक्सीजन की प्रदायगी उच्च फ्लो दर >5 लीटर प्रति मिनट की दर से देने की जरूरत हो। Non-Rebreathing Mask अथवा Venturi Mask द्वारा ऑक्सीजन थैरेपी देने की आवश्यकता हो। को-मोर्बिलिटी युक्त कोविड पॉजिटिव रोगी, जिनकी क्लीनिकल स्थिति की लगातार निगरानी की आवश्यकता हो।
आईसीयू बेड्स के लिये भर्ती मापदण्ड
    ऐसे कोविड पॉजिटिव रोगी, जिन्हें अति उच्च दर पर ऑक्सीजन सपोर्ट की Non Invasive Ventilator (NV), Ventilator अथवा HFNC support की आवश्यकता हो। गंभीर जानलेवा को-मोर्बिलिटी युक्त कोविड पॉजिटिव रोगी।
कोविड-19 रोगियों के भर्ती के लिये डिस्चार्ज मापदण्ड
    कोविड पॉजिटिव रोगी का ऑक्सीजन सेचुरेशन निरंतर 3 दिवस तक बिना ऑक्सीजन सपोर्ट के >95% SPO2 होने तथा बुखार कम करने की दवा के बगैर बुखार न होने पर चिकित्सकीय परामर्श अनुसार डिस्चार्ज किया जा सकता है। ऐसे रोगी घर पर आगामी 7 दिवस तक होम आइसोलेशन में रहकर अपने स्वास्थ्य की स्व-निगरानी करेंगे।
 
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer