समाचार
|| अस्पताल अधीक्षक जिला चिकित्सालय शाजापुर से प्रभार डॉ. शुभम गुप्ता को || चिकित्सकों व स्टॉफ की कड़ी मेहनत और मनोबल से कोरोना पॉजीटिव गंभीर मरीज स्वस्थ्य होकर घर पहुंचने (सफलता की कहानी) || जिले के खरीदी केन्द्रों में गेहूं की खरीदी जारी || मैं कोरोना वॉलेंटियर - देवास जिले में कोरोना वॉलेंटियर द्वारा चलाया जा रहा है जन-जागरूकता अभियान (कहानी सच्ची है) || अच्छी पहल - कोरोना की इस संकट की घड़ी समाजसेवी आ रहे हैं आगे || देवास जिले मे 17 अप्रैल 2021 तक कोरोना से सुरक्षा हेतु 1 लाख 43 हजार 196 टीके लगाये गये || देवास के नर्सिंग होम संचालक मरीजों को इलाज अच्छे से करें, उन्हें बेवजह परेशान करके इलाज नहीं करें -कलेक्टर श्री शुक्ला || देवास जिले के लिए अच्छी खबर 48 मरीज हुए कोरोना से मुक्‍त (खुशियों की दास्तां) || देवास जिले में आज प्राप्त 584 सैम्पल की रिपोर्ट में से 519 सैम्पल की रिपोर्ट नेगेटिव || होम आयसोलेशन में हर मरीज को दें मेडिकल किट
अन्य ख़बरें
वेक्टर जनित बीमारियों को रोकने हेतु प्रचार- प्रसार
-
श्योपुर | 08-अप्रैल-2021
   शहरी क्षेत्र श्योपुर के वार्ड 09, शिवनगर कॉलोनी, रेलवे क्रोसिंग के पास एवं गुरुद्वारा से कल्यानपुरम कॉलोनी, कच्ची बस्ती में लार्वा सर्वे, लार्वा नस्टिकरण एवं वेक्टर जनित बीमारियों को रोकने हेतु प्रचार- प्रसार का कार्य जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. एस.एन. बिन्दल के निर्देशन में मलेरिया सलाहकार श्री किरतसिंह कवचे, शहरी मलेरिया निरीक्षक श्री श्यामलाल बाथम, एवं जिला समन्वयक फैमिली हेल्थ इंडिया EMBED के श्री आकाश व्यास तथा बीसीसीएफ श्री सुरेंद्र शर्मा, विपिन आचार्य के द्वारा लार्वा सर्वे, नस्टिकरण का कार्य करवाया गया।
    इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि कोई भी बुखार मलेरिया हो सकता हैं। साथ ही वार्डों के निवासियों को मच्छरों से बचने के अन्य उपाय जैसे मच्छरों को भगाने वाली क्रीम का शरीर के खुले स्थान पर लेप करें तथा रात को सोने से पहले नीम की पत्तियों का धुँआ करे, पूरी अस्तिन के कपड़े पहने व मच्छरदानी का उपयोग करें तथा मच्छरों के प्रजनन स्थलों को नष्ट करने के उपाय बताएं गये। पानी से भरे स्थानों में जला हुआ इंजीन का ऑयल डालें या मिट्टी का तेल डालें जिससे मच्छरों के लार्वा को नष्ट किया जा सकता है।        इसी प्रकार मलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया व अन्य वेक्टर जनित रोगों की नियंत्रित किया जा सके। वार्डवासियों से चर्चा कर बताया कि कोई भी बुखार मलेरिया हो सकता हैं। इसलिए प्रत्येक बुखार के मरीज की मलेरिया की जांच करवाना अनिवार्य हैं। यदि मलेरिया पॉजिटिव आने पर डॉक्टर या स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के द्वारा बताये अनुसार पूर्ण उपचार लिया जावे। इसी प्रकार अपने घर के अंदर रखें सभी प्रकार के बर्तनों जैसे टंकी, कूलर, मटका एवं टूटे फूटे बर्तनो को हर साथ दिनों में साफ करें। यदि मच्छरों की पैदावार को रोक लिया तो वेक्टर जनित रोगों से निजात पा सकते हैं, नियंत्रण करना सम्भव हो सकता हैं।
 
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer