समाचार
|| बहोरीबंद पहुंचकर कलेक्टर ने कोरोना कर्फ्यू की व्यवस्थाओं का लिया जायजा || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप्स के सदस्यों से की चर्चा || कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत आंगनबाड़ी केन्द्रों में हितग्राही बच्चों व गर्भवती एवं धात्री माताओं को नहीं बुलाने के निर्देश || शनिवार को 916 लाभार्थियों को लगाया गया कोविड-19 वैक्सीन || (कोविड-19 समाचार) 11 अप्रैल को अंजुमन स्कूल में होगा कोविड-19 का टीकाकरण || वन विहार राष्ट्रीय उद्यान प्रत्येक शनिवार-रविवार को बंद रहेगा || सरकार और समाज मिलकर लड़ें कोरोना से कोरोना संक्रमित रोगियों को ऑक्सीजन आपूर्ति सर्वोच्च प्राथमिकता || स्वास्थ्य कर्मी जान जोखिम में डालकर लोगों की जान बचा रहे हैं- मुख्यमंत्री श्री चौहान || कोरोना उपचार के लिए बिस्तरों, ऑक्सीजन आदि की पर्याप्त व्यवस्था अपने-अपने क्षेत्रों में युद्ध स्तर पर जुट जाएँ सभी मंत्री || आज दिनांक तक 87178 व्यक्तियों का लिया गया सैंपल
अन्य ख़बरें
कोरोना गाइडलाइन के पालन में ढिलाई बर्दाश्त नहीं होगी – संभाग आयुक्त श्री सक्सेना
गूगल मीट के जरिए सभी इंसीडेंट कमाण्डर को दिए निर्देश
ग्वालियर | 08-अप्रैल-2021
      सभी इंसीडेंट कमांडर और नोडल अधिकारी अपने अपने क्षेत्र में कड़ाई से कोरोना गाइडलाइन का पालन कराएं।  साथ ही जरूरत हो तो इंसीडेंट कमांडर की संख्या भी बढ़ाई जाए। इस आशय के निर्देश संभागायुक्त श्री आशीष सक्सेना ने गूगल मीट में दिए। उन्होंने ऐसे इंसीडेंट कमांडर को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए, जो मास्क न लगाने वालों के खिलाफ चालान और कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन कर चल रहीं दुकानों को सील्ड करने में ढिलाई बरत रहे हैं।
   गुरुवार को ही गूगल मीट में संभागायुक्त श्री सक्सेना ने कहा कि हर इंसीडेंट कमांडर 5 हज़ार वोलेंटियर बनाएं, जिससे कोरोना से संबंधित सावधानियाँ अपनाने के लिए लोगों को अभियान बतौर प्रेरित किया जा सके। उन्होंने जन अभियान परिषद के अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि इंसीडेंट कमांडर की टीम से उस क्षेत्र के स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधियों को भी जोड़ें। श्री सक्सेना ने कोरोना मरोजों के उत्साहवर्धन के लिए उच्च शिक्षा विभाग के सहयोग से मोटिवेटर (प्रेरक) भी तैयार करने के लिये भी कहा।
गूगल मीट में कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त श्री शिवम वर्मा, अपर कलेक्टर श्री रिंकेश वैश्य, संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवायें डॉ. आर के दीक्षित, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष शर्मा सहित जिले के सभी इंसीडेंट कमाण्डर शामिल हुए।
सरकारी अस्पतालों की तर्ज पर निजी अस्पतालों में भी इलाज की व्यवस्था कराएँ
    संभाग आयुक्त श्री आशीष सक्सेना ने गूगल मीट में यह भी निर्देश दिए कि राज्य शासन द्वारा सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिये जो प्रोटोकॉल निर्धारित किया गया है उसका पालन निजी अस्पतालों में भी कराया जाए। बैठक में बताया गया कि सरकारी अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिये 49 प्रतिशत, मेटरनिटी के लिये 30 प्रतिशत एवं आपातकालीन सेवाओं के लिये 20 प्रतिशत मरीजों के इलाज की व्यवस्था करने के दिशा-निर्देश मिले हैं। संभाग आयुक्त ने यथासंभव इन्हीं दिशा-निर्देशों के तहत निजी अस्पतालों में भी कोविड मरीजों के इलाज का इंतजाम कराने के निर्देश दिए।
नाकों पर सघन चैकिंग हो
    कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने गूगल मीट में संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि शहर की सीमाओं पर बने चैक पोस्ट पर बाहर से आने वाले यात्रियों की प्रॉपर तरीके से जाँच की जाए। जिन मरीजों में लक्षण दिखें, उनकी कोरोना जाँच भी अनिवार्यत: कराई जाए। साथ ही उन्हें क्वारंटाइन व आइसोलेट कराने की व्यवस्था भी करें। श्री सिंह ने जल्द से जल्द सरकारी एवं निजी कोविड केयर सेंटर चालू करने के निर्देश भी दिए। साथ ही कोविड केयर सेंटर के लिये पूर्व की तरह होटल अधिग्रहीत करने की बात भी कही।
वैक्सीनेशन में और तेजी लाने पर जोर
    संभाग आयुक्त एवं कलेक्टर ने कोरोना टीकाकरण में और तेजी लाने पर विशेष बल दिया। कलेक्टर श्री सिंह ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि शहर में अधिक से अधिक संख्या में वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित करें। एक दिन पूर्व इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी कराएँ, जिससे लोग अपने नजदीक के केन्द्र में पहुँचकर कोरोना का टीका लगवा सकें।
 
(2 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer