समाचार
|| समन्वित प्रयासों से सुधर रही है प्रदेश में कोरोना की स्थिति || कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिये सभी को एकजुटता के साथ कार्य करना होगा - मुख्यमंत्री श्री चौहान || समर्थन मूल्‍य पर गेहूं खरीदी सोमवार को रहेगी स्‍थगित-कलेक्‍टर || पटवारी निलंबित || गरीब उपभोक्ताओं को तीन माह का खाद्यान मिलेगा आज से || डेंगू से बचाव हेतु हमें एंडीज मच्छर के लार्वा को नष्ट करना होगा || परिवहन कार्य में लापरवाही पर जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम को नोटिस जारी, 24 घंटे में मांगा जवाब || रविवार 16 मई का कोरोना हेल्थ बुलेटिन || कलेक्टर महोदय ने आयुष्मान योजना नोडल अधिकारियो की समीक्षा की || जिले की समस्त मदिरा दुकानें 30 मई तक बंद रखने का आदेश जारी
अन्य ख़बरें
जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में 22 अप्रैल तक लाकडाउन बढ़ाने का हुआ निर्णय
-
बालाघाट | 11-अप्रैल-2021
 
       जिले में कोरोना के मरीजों की निरंतर बढ़ती जा रही संख्या एवं उनके उपचार की व्यवस्था पर चर्चा के लिए आज 11 अप्रैल 2021 को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में मघ्यप्रदेश शासन के राज्य मंत्री आयुष (स्वतंत्र प्रभार) एवं जल-संसाधन विभाग श्री रामकिशोर "नानो" काँवरे, पूर्व कृषि मंत्री एवं वर्तमान विधायक श्री गौरीशंकर बिसेन, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष एवं वारासिवनी विधायक श्री प्रदीप जायसवाल, लांजी विधायक सुश्री हिना कावरे, बैहर विधायक श्री संजय उईके, कलेक्टर श्री दीपक आर्य, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक तिवारी, अपर कलेक्टर श्री फ्रेंक नोबल ए, व्यापारी वर्ग, सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

       बैठक में तय किया गया कि जिले में कोरोना के मरीजों की तेजी से बढ़ती संख्या पर नियंत्रण करने एवं कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए कड़े लाकडाउन की सख्त जरूरत है। अत: सम्पूर्ण बालाघाट जिले में आगामी 22 अप्रैल 2021 तक लाकडाउन प्रभावी रहेगा और जिले हर नागरिक एवं समाज के सभी वर्गों को इसका कड़ाई से पालन करना होगा। बैठक में आम जन से अपील की गई कि बालाघाट जिले को कोरोना महामारी के संकट से बचाने के लिए लाकडाउन में किसी भी तरह की रियायत की अपेक्षा न करे और प्रशासन को इसे लागू करने में पूरी मदद करे। 12 अप्रैल को भी जिले में भी लाकडाउन रहेगा।

       मध्यप्रदेश शासन के राज्य मंत्री आयुष (स्वतंत्र प्रभार) एवं जल-संसाधन विभाग श्री रामकिशोर "नानो" काँवरे ने बैठक में कहा कि बालाघाट जिले में कोरोना पाजेटिव मरीजों के उपचार के लिए पर्याप्त संख्या में बेड का इंतजाम किया जा रहा है। बालाघाट में 350 बेड की व्यवस्था की जा रही है। लांजी, बैहर, परसवाड़ा, कटंगी एवं वारासिवनी में भी आक्सीजन सप्लाय वाले बेड का इंतजाम किया जा रहा है। जिससे जिला चिकित्सालय में कोरोना मरीजों का दबाव कम किया जा सकेगा। सभी लोग सामाजिक, धार्मिक एवं वैवाहिक आदि कार्यक्रम को संभव हो तो रोक दे।

       विधायक श्री गौरीशंकर बिसेन ने बैठक में कहा कि इस बार कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या अधिक हो रही है। अत: अब पहले की तुलना में अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। हम सभी तय कर लें कि भीड़ वाले शादी-विवाह, धार्मिक कार्यक्रम में शामिल न हों। खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री प्रदीप जायसवाल ने कहा कि इस बार कोरोना का असर गत वर्ष से ज्यादा है अत: हम सभी लाकडाउन को प्रभावी बनाने में प्रशासन का करें। उन्होंने खैरलांजी में भी कोविड मरीजों के उपचार के लिए बेड का इंतजाम करने की आवश्यकता बताई। विधायक सुश्री हिना कावरे ने कोरोना टेस्ट बढ़ाने एवं कोविड वेक्सीन टीकाकरण को प्रभावी बनाने तथा प्रायवेट क्लिनिक में सीटी स्केन के रेट लिखे जाने की सलाह दी। बैहर विधायक श्री संजय उईके ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के प्रति जागरूकता की कमी को दूर करने की आवश्यकता बतायी और मलाजखंड में भी कोविड मरीजों के उपचार की व्यवस्था करने कहा।

       कलेक्टर श्री आर्य ने बैठक में बताया कि जिले में 22 अप्रैल 2021 तक लाकडाउन प्रभावी रहेगा । कोरोना मरीजों की संख्या को देखकर 22 अप्रैल के बाद लाकडाउन को बढ़ाने या कम करने पर विचार किया जायेगा। 22 अप्रैल तक लाकडाउन में आवाश्यक सेवायें पूर्व के लाकडाउन की तरह चालू रहेंगी। जरूरी एवं किराना सामान की पूर्व की तरह होम डिलिवरी की सुविधा प्रारंभ रहेगी। दूध वाले एवं सब्जी के हाथठेले वाले गलियों में घूमकर सब्जी, दूध का विक्रय कर सकेगें। अस्पताल जाने वाले मरीजों को नहीं रोका जायेगा। एटीएम खुले रहेंगें। शादी-विवाह, धार्मिक आयोजन व सामाजिक कार्यक्रमों की लाकडाउन में अनुमति नहीं रहेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में भी पट प्रतियोगिता का आयोजन नहीं होगा। कोविड वेक्सीन का टीकाकरण निरंतर चलते रहेगा।

कलेक्टर श्री आर्य ने बैठक में बताया कि पड़ोसी गोंदिया एवं नागपुर में कोरोना के अधिक मरीज होने के कारण बालाघाट जिले के मरीजों के लिए इन शहरों में बेड मिलना मुमकिन नहीं रहेगा। अत: जिला प्रशासन बालाघाट जिले में पर्याप्त बेड का इंतजाम कर रहा है। जिला मुख्यालय बालाघाट में जिला चिकित्सालय, प्रायवेट अस्पताल एवं सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से 350 बेड का इंतजाम किया जा रहा है। इसके अलावा लांजी में 50, बैहर में 50, परसवाड़ा में 50, कटंगी एवं वारासिवनी में 50-50 बेड का इंतजाम किया जा रहा है। जिले में आक्सीजन एवं रेमडीविसिर दवा की कोई कमी नहीं है। कोविड मरीजों के लिए महावीर इंटरनेशनल एवं अन्य जैन संस्थाओं की ओर से 100 बेड का कोविड केयर सेंटर, सिंधी समाज की ओर से 50 बेड का कोविड केयर सेंटर एवं जिला प्रशासन की ओर से 50 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाया जा रहा है। सरदार पटेल कालेज अपना 50 बेड का अस्पताल भी कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध करा रहा है।

       कलेक्टर श्री आर्य ने कहा कि आम जनों को घबराने की कोई जरूरत नहीं है, लाकडाउन में प्रशासन को सहयोग करने की जरूरत है। रेमडीविसिर इन्जेक्शन जिले में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। मेडिकल स्टोर्स से यह मरीज के आधार कार्ड, कोरोना पाजेटिव रिपोर्ट एवं डाक्टर की सील लगी पर्ची प्रस्तुत करने पर ही दिया जायेगा। तभी दिया जायेगा

बैठक में डॉ बी एम शरणागत ने बताया कि रेमडीविसिर दवा कोरोना का स्थायी ईलाज नहीं है। इसका उपयोग आक्सीजन लेबल बहुत कम होने एवं फेफड़ों में संक्रमण बहुत अधिक होने पर ही किया जाता है। उन्होंने आम लोगो से अपील की कि इस बार का कोरोना संक्रमण 18 से 40 वर्ष के लोगों को भी प्रभावित कर रहा है और इसका वायरस तेजी से अपना स्वरूप बदल रहा है। अत: इस माहमारी से लोगों को बचाने के लिए हम अपने व्यापार एवं आर्थिक नुकसान की कुछ दिनों के लिए चिंता छोड़ दें और मानवता को बचाने के लिए 22 अप्रैल 2021 तक के लाकडाउन में पूरा सहयोग करें। डॉ रोहित गुप्ता ने भी कहा कि रेमडीविसियर इन्जेक्शन कोरोना के उपचार में बहुत जरूरी नहीं है और लोगों को इसकी उपलब्धता को लेकर चिंतिंत होने की जरूरत नहीं है।
 
(35 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer