समाचार
|| केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने पोरसा, अम्बाह, जौरा, कैलारस और सबलगढ़ अस्पतालों का किया निरीक्षण || अभी तक जिले में 2,23,329 व्यक्तियों ने लगवाया टीका || विधायक बड़ामलहरा ने टीकाकरण का द्वितीय डोज लगवाया || कोविड-19 मीडिया बुलेटिन || जिले के 18 से 44 वर्ष के लाभा‍र्थियों को 19 से 24 मई तक सभी विकासखंड मुख्यालयों पर लगाई जायेगी कोविड वैक्‍सीन || रेमडेशिविर इंजेक्शन से जुड़े एक प्रकरण में 3 व्यक्तियों के विरूद्ध रासुका की कार्यवाही || प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा 27.35 लाख तेंदूपत्ता संग्राहकों 191.44 करोड़ रुपये की प्रोत्साहन पारिश्रमिक राशि का वितरण || जिले में ब्लैक फंगस रोग के प्रबंधन और उपचार के लिये टीम गठित || ‘‘पीड़ित व शोषितों की मदद करें पैरालीगल वालेन्टियर्स - जिला न्यायाधीश‘‘ || अभी तक जिले के 3 लाख 31 हजार 888 पात्र परिवारों को एकमुश्त खाद्यान्न वितरित
अन्य ख़बरें
कोरोना उपचार के लिए बिस्तरों, ऑक्सीजन आदि की पर्याप्त व्यवस्था
अपने-अपने क्षेत्रों में युद्ध स्तर पर जुट जाएँ सभी मंत्री, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्रि-परिषद के सदस्यों की आपात बैठक ली
निवाड़ी | 11-अप्रैल-2021
      मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के सभी जिलों में उपचार के लिए अस्पतालों में बिस्तर, ऑक्सीजन, दवाओं, इंजेक्शन आदि की पर्याप्त व्यवस्था है। हर जिले में कोविड केयर सेंटर बनाए जा रहे हैं। भविष्य की व्यवस्थाओं के लिए सभी जिलों में पर्याप्त संख्या में बिस्तर बढ़ाए जा रहे हैं। निजी अस्पतालों से भी अनुबंध किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मंत्री गण अपने-अपने क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण रोकने, उपचार आदि की व्यवस्थाओं के लिए युद्ध स्तर पर जुट जाएं। हमें हर हालत में कोरोना संक्रमण को प्रभावी रूप से रोकना है तथा हर कोरोना मरीज़ का सर्वोत्तम इलाज सुनिश्चित करना है।
 मुख्यमंत्री श्री चौहान शनिवार को मंत्रालय में मंत्रि-परिषद के सदस्यों की आपात बैठक ले रहे थे। बैठक में मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, श्री कमल पटेल, श्री विश्वास सारंग, श्री जगदीश देवड़ा, श्री बिसाहूलाल सिंह, श्री अरविंद भदौरिया, श्री विजय शाह, श्री भारत सिंह कुशवाह और श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर उपस्थित थे।
शासकीय अस्पतालों में 60% तथा निजी अस्पतालों में 47% बिस्तर खाली
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना के उपचार के लिए जिलों के सरकारी अस्पतालों में कुल 60% तथा निजी अस्पतालों में 47% बिस्तर खाली हैं। शासकीय अस्पतालों में 17 हजार 492 बिस्तर भरे हुए हैं, वहीं निजी अस्पतालों में 13 हजार 250 बिस्तर भरे हुए हैं। भोपाल में शासन द्वारा जेके एवं पीपुल्स अस्पताल को अनुबंधित कर लिया गया है। मंत्री श्री विश्वास सारंग ने बताया कि पीपुल्स अस्पताल में कोरोना इलाज के लिए 150 बिस्तर खाली हैं।
67% मरीज होम आइसोलेशन में
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना के कुल मरीजों में से 67% मरीज होम आइसोलेशन में है तथा 33% मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। अस्पतालों में भर्ती मरीजों में से 18% ऑक्सीजन सपोर्ट पर तथा 8% आईसीयू में है। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 30 हज़ार से अधिक है।
अब ऑक्सीजन की 180 मीट्रिक टन उपलब्धता
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पहले प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता 60 एम.टी. थी, जिसे 3 गुना बढ़ाया गया है। अब हमारे अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता 180 एम.टी. है, जो कि पर्याप्त है।
 
हर जिले में कोविड केयर सेंटर
 हर जिले में कोविड केयर सेंटर बनाए जा रहे हैं, जिनमें कोरोना के मरीजों की देखभाल की जाएगी। कोरोना संबंधी व्यवस्थाओं के लिए हर जि़ले को 2-2 करोड़ रुपए की राशि भी जारी की गई है।
50 हजार रेमेडीसीवर इंजेक्शन के आर्डर
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना के उपचार के संबंध में 50 हजार रेमेडीसीवर इंजेक्शन के आर्डर दे दिए गए हैं तथा इंजेक्शन आना भी प्रारंभ हो गए हैं। आगे भी इनकी पर्याप्त आपूर्ति बनी रहेगी। इन्हें शासकीय तथा अनुबंधित अस्पतालों में निरूशुल्क लगाया जाएगा।
होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की बेहतर व्यवस्था
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की भी अच्छी से अच्छी व्यवस्था की जा रही है। जिला कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से इनकी पूरी देखभाल की जा रही है। दिन में कम से कम 2 बार इनसे बात करने तथा आकस्मिक निरीक्षण करने के भी निर्देश जिलों को दिए गए हैं।
जिला स्तर पर सिटी स्केन मशीन
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हर जिला अस्पताल में सीटी स्केन मशीन की व्यवस्था की जा रही है। इसके संबंध में टेंडर जारी कर दिए गए हैं। शीघ्र ही यह प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी।
क्राइसिस मैनेजमेंट समूहों से चर्चा की
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आज उनके द्वारा प्रत्येक जिले के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों से बातचीत की गई है तथा उनसे कहा गया है कि वे अपने जिले की परिस्थितियों के अनुरूप कोरोना संक्रमण को रोकने की रणनीति बनाकर उस पर अमल करें। पूर्ण लॉकडाउन के स्थान पर छोटे-छोटे क्षेत्रों में लॉकडाउन को प्राथमिकता दी जाए। माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए जाएं।
 
(36 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer