समाचार
|| 15 मई तक सब कुछ बंद कर दें, संक्रमण की चेन तोड़ दें || कोरोना के निःशुल्क इलाज के लिए नई योजना लागू होगी || रेमडेसिविर की सप्लाई निरंतर जारी || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अशोक का पौधा लगाया || केंद्रीय एजेंसियों से समन्वय एवं विदेशी आयातित सामग्री के लिए राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त || प्रवासी श्रमिकों की सहायता एवं समन्वय के लिये राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त || एक लाख 87 हजार 608 कोरोना मरीजों तक पहुँची मेडिकल किट || दवाएँ खरीदते समय उपभोक्ता करें अपने अधिकारों का उपयोग || लॉकडाउन के 29 वां दिन भी लगातार सेवा कार्य में लगे है जनहित के कार्यकर्ता || ’वायुमंडल का शुद्धिकरण लोक अभियान’
अन्य ख़बरें
घर-घर जाकर ढूंढे संदिग्ध संक्रमित, कील कोरोना अभियान में 238629 व्यक्तियों तक हुई पहुंच
-
खरगौन | 13-अप्रैल-2021
      कील कोरोना 2.0 अभियान के अंतर्गत अब तक जिले में कुल 48 हजार 791 घरों तक पहुंचकर 2 लाख 38 हजार 629 नागरिकों की प्राथमिक जांच दलों द्वारा की जा चुकी है। 10 अप्रैल से प्रारंभ हुए कील कोरोना अभियान के तहत एएनएम, एमपीडब्ल्यू, आशा व आंगनवाड़ी कार्यकर्ता घर-घर पहुंचकर सर्वे का कार्य कर रही है। डॉ सुनील वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि इनके द्वारा घर के सदस्यों की टेम्प्रेचर गन और पल्स ऑक्सीमीटर से जांच करने के बाद रजिस्टर में इंट्री की जाती है। ये दल कोरोना के सामान्य लक्षणों की जानकारी और जांच के बाद आरआरटी और एमएमयू टीम जाकर सैंपल और आवश्यक उपचार तथा आईसोलेशन में रहने की सलाह दी जाती है। 20 अप्रैल तक चलने वाले इस अभियान में 355 स्वास्थ्य और आंगनवाड़ी के दल को लगाया गया है। वही 27 आरआरटी और एमएमयू के दल है। इस अभियान में सोमवार तक 252 और मंगलवार को 28 इस तरह कुल 280 व्यक्ति संदिग्ध संक्रमित सामने आए है। इस अभियान में सबसे अधिक महेश्वर में 73, कसरावद में 48, भीकनगांव में 44, खरगोन में 42, गोगांवा में 33,भगवानपुरा में 19, झिरन्या में 14, सेगांव में 7 और बड़वाह में 1 व्यक्ति सामने आए है।
खरगोन के 13 द्वारों से गुजरे 10 हजार से अधिक मुसाफिर
    कोरोना की रोकथाम और नियंत्रण के लिए जिले की सीमाओं पर 13 नाके बनाए गए है। इन 13 नाको या खरगोन जिले की सीमा में आने के लिए बने 13 द्वारों पर दो दिनों में कुल 10 हजार 828 मुसाफिर गुजरे है। ई-गवर्नेंस के प्रबंधक अमित वर्मा ने बताया कि 13 नाको पर 10-10 अधिकारी कर्मचारियों की ड्यूटी 3-3 शिफ्ट में लगाई गई है। इन दलों के पास टेम्प्रेचर गन और पल्स ऑक्सीमीटर है। इन नाको से गुजरने वाले व्यक्तियों की आवश्यक जांच के बाद नाम पता व अन्य जानकारी लेकर पोर्टल पर दर्ज की जाती है। इसके बाद यह सूची संबंधित एसडीएम को देकर उनकी टीम द्वारा दिए गए पते पर जाकर होम कोरोनटाईन का फ्लेक्स लगाया जाता है।
ये है 13 द्वार,जहाँ से गुजरे मुसाफिर
    जिले की सीमा पर बनाए गए द्वारों में कसरावद खलटाक फाटा से 874, मगरखेड़ी से 236, बोबलवाड़ी फाटा से 1402, मदरिया फाटा से 721, भातलपुरा से 778, शेरीनाका से 299, ग्वालू घाट से 623, ओखला से 237, खंडवा रोड़ सनावद से 196, जामगेट से 642, बड़वी महेश्वर से 1669 और गढ़ी से 355 जबकि सिरवेल आने से अब तक कोई नही निकला।
 
(24 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer