समाचार
|| प्रदेश में संक्रमण दर घटी है परंतु अभी ढिलाई नहीं, अभी पूरी कड़ाई || कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने की एडवाइजरी जारी || कोरोना महामारी रोकथाम के लिये कलेक्टर्स को 104 करोड़ आवंटित करने का अनुसमर्थन || आमजन को सुविधा देने हेतु, जिला चिकित्सालय की व्यवस्थाओं में हो रहा उन्नयन - कलेक्टर श्री पुष्प || कोवीशील्ड का अब द्वितीय डोज 42 दिन के स्थान पर 84 दिवस के बाद लगाया जाएगा || कोविशिल्ड वैकसीन की दूसरी डोज 12 से 16 सप्ताह के अंतराल में लगेगी || ऑक्सीजन गैस सिलेंडर की कालाबाजारी में लिप्त शातिर अपराधी नन्दकिशोर पर लगाई रासुका - कलेक्टर || प्रदेश में संक्रमण दर घटी है परंतु अभी ढिलाई नहीं, अभी पूरी कड़ाई, बीमारी को छिपाइये मत, बताइये, हम तुरंत इलाज करेंगे-मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान || कृष्णा पैलेस कोविड केयर सेंटर में मरीजो को मिल रहा बेहतर उपचार || जिला अस्पताल में आज 30 से अधिक मरीजों ने कोरोना से जंग जीती
अन्य ख़बरें
एफआईआर दर्ज करने के लिए झोलाछाप डाक्टरों पर निगरानी रखी जाएगी: कलेक्टर श्री रत्नाकर झा
मेडिकल स्टोर संचालक को सर्दी-खांसी और बुखार की दवाईयां लेने वालों की सूचना देनी होगी, कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक आयोजित कर दिए दिषा-निर्देष
डिंडोरी | 15-अप्रैल-2021
   कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण दिखाई देने पर ऐसे मरीजों को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय या फीवर क्लीनिक में भेजा जाए। झोलाछाप डॉक्टरों के द्वारा ऐसे मरीजो को अनावष्यक रूप से रोकने पर उनके विरूद्ध पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज की जाएगी। जिले में ऐसे मरीजों और झोलाछाप डाक्टरों पर निगरानी रखने के लिए एक दल काम करेगा। कलेक्टर श्री झा गुरूवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के संबंध में समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री संजय सिंह, जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री अरूण कुमार विष्वकर्मा, अपर कलेक्टर श्रीमति मिनिषा भगवती पाण्डेय, एसडीएम डिंडौरी श्री महेष मण्डलोई, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 श्री मरावी, जिला समन्वयक सर्व षिक्षा अभियान श्री राघवेन्द्र मिश्रा, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीममि मंजूलता सिंह, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग डॉ0 संतोष शुक्ला सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।
कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जिला चिकित्सालय सहित सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में ऑक्सीजन सिलेण्डर, दवाईयां और किट की उपलब्धता रहे। उन्होंने कहा कि कोविड केयर सेंटर एवं होम क्वारंटाईन होने वाले मरीजों का नियमित रूप से उपचार, देखरेख और दवाईयों का वितरण करें। होम क्वारंटाईन व्यक्तियों को उनके स्वास्थ्य के बारे में रोजाना जनपद स्तर से तीन बार और जिला स्तर से दो बार जानकारी ली जाए। इस संबंध में एक रजिस्टर पंजी भी संधारित की जाए, जिसमें होम क्वारंटाईन व्यक्तियों से कब चर्चा की गई, इसका उल्लेख हो। स्वास्थ्य में गिरावट होने पर उसे तत्काल स्वास्थ्य केन्द्रों में भर्ती किया जाए। उन्होंने उक्त कार्य में लापरवाही बतरने वाले अधिकारी एवं कर्मचारियों के विरूद्ध कडी कार्रवाई करने के निर्देष दिए।
कलेक्टर श्री झा ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर डोर-टू-डोर संपर्क किया जाए। संपर्क के दौरान सर्दी खांसी एवं बुखार से पीडित व्यक्ति पाए जाने पर इसकी तत्काल सूचना दी जाए। जिससे ऐसे व्यक्तियों को स्वास्थ्य केन्द्रों में लाकर उनका उपचार किया जा सके। कलेक्टर श्री झा ने इस दौरान कोविड केयर सेंटर के गतिविधियों की भी समीक्षा की। उन्होंने कोविड केयर सेंटर में ऑक्सीजन एवं दवाईयांे की उपलब्धता, साफ-सफाई, सुरक्षा के प्रबंध, भोजन का प्रबंध, बिजली की व्यवस्था और चिकित्सकों के दल को तैनात रहने के निर्देष दिए। कोविड केयर सेंटर में हेण्डबॉस, मास्क एवं सेनेटाईजर रखने के निर्देष दिए।
कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कहा कि मेडिकल स्टोर्स के संचालकों को सर्दी खांसी और बुखार की दवाईयां लेने वाले व्यक्तियों के नाम दर्ज करने होंगे। ऐसे व्यक्तियों की सूचना रोजाना एक निर्धारित फार्मेट में जिला चिकित्सालय को भेजना होगा। कलेक्टर ने उक्त निर्देषों का कडाई से पालन करने को कहा है। उल्लंघन की स्थिति पर मेडिकल संचालकों के विरूद्ध कडी कार्रवाई की जाएगी। जिले में को-वैक्सीन टीकाकरण का कार्य प्रारंभ है। जिन व्यक्त्यिों को को-वैक्सीन का प्रथम टीका लग चुका है, ऐसे व्यक्ति को-वैक्सीन का दूसरा टीकाकरण अनिवार्य रूप से लगाएं।
कलेक्टर श्री झा ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सभी व्यक्ति शासन द्वारा जारी दिषा-निर्देषों का पालन करें। हमेषा मास्क, सेनेटाईजर और सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करें। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए फ्लैक्स, पंपलेट, पोस्टर और दीवार लेखन के माध्यम से ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में प्रचार-प्रसार करने को कहा। मास्क का उपयोग नहीं करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध दण्ड अभिरोपित करने के निर्देष दिए। 
(30 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer