समाचार
|| उप संचालक पशुपालन द्वारा कामधेनु गौशाला मोहगांव हवेली का औचक निरीक्षण || जान बचाना हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता सभी को मिले अच्छे से अच्छा उपचार, आई.सी.यू. बेड्स बढ़ाए जाएँ || चिकित्सालयीन उपचार सुविधाओं का विस्तार करें || कोई भी गरीब बिना राशन के नहीं रहेगा सार्वजनिक वितरण प्रणाली की व्यवस्थाएँ परफेक्ट हों || कोरोना संक्रमित मरीजों के परिवहन हेतु प्रायवेट एम्बुलेंस की दरें निर्धारित || अभी तक जिले में 199553 व्यक्तियों ने लगवाया टीका || कोविड-19 मीडिया बुलेटिन || टीकाकरण प्रारंभ होने से 18 + उम्र वाले युवाओं में खुशी की लहर "दास्तां खुशियों की" || जिले में कोविड-19 से बचाव एवं नियंत्रण के लिए सैंपलिंग का कार्य लगातार जारी || गौ-शालाओं के संचालन और पशु आहार के लिए राशि जारी
अन्य ख़बरें
पुलिस ने लुटेरी दुल्हन सहित गैंग का किया पर्दाफाश
लुटेरी दुल्हन सहित 8 आरोपियों के कब्जे से जब्त रूपए व सामग्री
खरगौन | 17-अप्रैल-2021
   7 अप्रैल 2021 को 100 डायल के माध्यम से सुचना प्राप्त हुई की ग्राम जलालाबाद में कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा फरियादी कैलाश पिता मांगीलाल निवासी हाट पिपल्या थाना हाट पिपल्या जिला देवास व उनके परिजनों के साथ मारपीट कर लूट की घटना करित हुई है। लूट की घटना की सुचना प्राप्त होते ही वरिष्ठ अधिकारियों से प्राप्त निर्देशों के परिपालन में पुलिस अधीक्षक श्री शैलेंद्र सिंह चौहान के निर्देशन पुलिस टीम का गठन किया गया, जिनके द्वारा लूट की घटना का पर्दाफाश किया गया। फरियादी कैलाश द्वारा बताया गया की मैं आज से करीब 1 माह पहले ओम जाट पिता जगदीश जाट निवासी हाट पिपल्या ने पंडित जी से परिचय कराया था व परिचय कराने के 8 दिन बाद पंडितजी मेरे छोटे लडके अमित पिता कैलाश कि शादी के लिए राकेश पिता रुपसिंग जाति भिलाला निवासी देवली व उसकी बहन संगिता पिता रुपसिंग को साथ मे लेकर मेरे घर ग्राम हाट पिपल्या आये थे। जहां पर शादी के जेवर बनाने के लिए राकेश ने 1 लाख 10 हजार रुपए की मांग की थी। पैसे देने के लिए 7 अप्रैल 2021 को पंडितजी से बात की और साथ चलने के लिए कहा। पंडितजी ने बताया की मै किसी काम से बाहर हूं। तुम को राकेश जुलवानिया में लेने आ जाएगा। पंडितजी से बात करके मै तथा मेरा बड़ा लडका प्रवीण, अमित मेरी घरवाली मुन्नीबाई, बहु सुनिता पति प्रवीण व पप्पुसिंग पिता नारायणसिंग दरबार को साथ लिया और हाट पिपल्या जिला देवास से राकेश को पैसे देने के लिए हम सभी लोग जुलवानिया गए। जुलवानिया में राकेश नही मिला तो फिर राकेश को मेरे लड़के ने फोन लगाया तो राकेश ने बताया कि केली के पास देवली गांव आ जाओ फिर हम पुछते हुए देवली फाटे पर मटन दुकान के पास पहुंचे। वहां पर राकेश एक अन्य व्यक्ति के साथ बिना नंबर कि मोटर सायकल लिए मिला और बोला कि सामान लेना है, मेरे पीछे-पीछे आ जाओं और जंगल मे घाट पर ले गए। घाट पर राकेश ने पीछे बैठे व्यक्ति को उतार दिया और मोटर सायकल लेकर आगे चला गया। पीछे वाले व्यक्ति व 5 व्यक्ति जो पहले से वहा छिप कर बैठे थे उन्होंने मेरी गाड़ी को रोककर पत्थर मारने लगे हम लोग बाहर निकले तो एक व्यक्ति ने पत्थर मारा जो मेरे सीर मे पीछे तरफ लगा खुन निकलने लगा व मुन्नीबाई के सीर मे पत्थर मारा व दो डंडे पीठ मे मारकर पर्स सहित 1 लाख 10 हजार रुपए छिन लिए व सोने का मंगलसुत्र पकड़कर खींचा तो 20 मोती छीन कर ले गए तथा मेरी बहु सुनिता के बाए कान का सोने का टॉप्स छीन लिया। मेरा लड़का अमित व प्रवीण बचाने आए, तो उनको भी पत्थर मारे व 6 अज्ञात व्यक्ति 1 लाख 10 हजार व 20 सोने के मोती व एक सोने का टाप्स लुट कर ले गए है।
आरोपी ने स्वीकार किया लूट की घटना करना
     घटना की विवरण देखते हुए राकेश की भूमिका संदिग्ध लगी, जिस पर मुखबीरो एवं पुलिस सुचना तंत्र को सक्रिय किया गया। परिणाम अनुसार सुचना प्राप्त हुई की घटना से एक दिन पूर्व मस्ताराम पिता रायसिंह भील निवासी गोलपुरा सांगवी को राकेश के साथ देखा गया था। जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए मस्ताराम पिता रायसिंह भील निवासी गोलपुरा सांगवी के घर पर घेराबंदी कर दबीश देकर पकड़ा व उसे थाने लाकर सख्ती से पूछताछ की, जिसमें उसने लूट की घटना करित करना स्वीकार किया व राकेश को लूट की घटना का मास्टर माइंड बताया। आरोपी मस्ताराम पिता रायसिंह भील निवासी गोलपुरा सांगवी की निशानदेही पर अन्य साथी रमेश पिता रेमसिंग भील निवासी तिरी के घर पर घेराबंदी कर दबीष दी व उसे पकड़ा। रमेश पिता रेमसिंग ने राकेश का नाम अजय उर्फ राकेश उर्फ विजय पिता भावसिंग उर्फ रुपसिंग निवासी मोहनफाटा जिला झाबुआ का होना बताया। पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर आरोपी अजय को जुलवानिया के पास ग्राम मोयदा घर पर घेराबंदी कर दबिश देकर पकड़ा,जिसे थाने लाकर सख्ती से पूछताछ करने पर उसने अन्य साथी रुघन पिता नानिया भील, नानका उर्फ कैलाश पिता धनु भील, जुवानसिंग पिता ईडु भील, नुरू, अजय की प्रेमीका सपना पति संजय गोरे को गिरफ्तार किया गया। घटना का खुलासा करते हुए अजय ने लखन पिता राम गिरी उर्फ़ पंडितजी के साथ मिलकर प्रेमिका सपना की शादी फरियादी कैलाश के लड़के अमित धोबी निवासी हाट पिपल्या जिला देवास से करने का कहकर 1 लाख 10 हजार रूपए लेकर बुलाया व ग्राम जलालाबाद घाट पर जंगल में भैरव बाबा मंदिर के पास अपने साथियों के साथ रोककर लूट की घटना को अंजाम देना स्वीकार किया।
घटना में यह आरोपी से सम्मिलित
     पुलिस अधीक्षक कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना में 8 लोग शामिल थे, जिन्हें गिरफ्तार कर सामग्रियां भी जब्त की। इनमें अजय भील भावसिंग उर्फ रुपसिंग निवासी मोहनफाटा जिला झाबुआ से 14 हजार रूपए व 50 हजार रूपए वाली एक मोटरसाईकल जब्त की। वहीं जुवानसिंग पिता ईडु भील निवासी तिरी से 10 हजार रूपए व कान की एक झुमकी जब्त की। प्रेमिका सपना पति संजय गोरे निवासी ग्राम मोयदा थाना जुलवानिया जिला बड़वानी से 8 हजार रूपए जब्त किए। इसी तरह रुघन पिता नानिया निवासी तिरी से 12 हजार रूपए, नुरु उर्फ नुरसिंग पिता कहारिया से 12 हजार रूपए व 50 हजार रूपए वाली एक मोटरसाईकल, नानका उर्फ कैलाश पिता धनु निवासी सिरपुर फल्या नागलवाड़ी हाल तिरी व मस्ताराम भील पिता रायसिंह भील निवासी गोलपुरा सांगवी से 12-12 हजार रूपए तथा रमेश भील पिता रेमसिंग भील निवासी तिरी से 12 हजार रूपए 50 हजार रूपए वाली एक मोटरसाईकल जब्त की। जबकि आरोपी बिलरसिंग पिता कनसिंह डावर निवासी चोरमाल खेड़ीघाटी ग्राम पानीगांव जिला देवास तथा लखन पिता राम गिरी निवासी देहरी खेड़ा हाल मुकाम स्याखेड़ी थाना बागली जिला देवास फरार है, जिनकी गिरफ़्तारी के लिए भरसक प्रयास किये जा रहे है।
(19 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer