समाचार
|| विधायक मैहर ने दिये सिविल हास्पीटल को 60 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर || कमिश्नर एवं आईजी ने किया कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण || ईद की नमाज घर में ही अदा करने की अपील || जिला संकट प्रबंधन समूह में जितेन्द्र जैन सदस्य नामांकित || विकेन्द्रीकृत उपचार व्यवस्था से कोविड मरीजों को मिली राहत || किल कोरोना अभियान में गाँव में डोर-टू-डोर सर्वे शीघ्र कराये जायें - स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी || रबी उपार्जन साढ़े 13 लाख से अधिक किसानों से समर्थन मूल्य पर एक करोड़ मी. टन गेहूँ-चना की खरीदी || प्रदेश में निरंतर नियंत्रण में आ रहा है कोरोना - मुख्यमंत्री श्री चौहान || कोरोना का टेस्ट हर नागरिक का अधिकार 26 हजार से अधिक कोरोना मरीजों का नि:शुल्क उपचार || प्रदेश में मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना का अनुसर्मथन राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली योजना में राज्य शासन का अंशदान हुआ 14 प्रतिशत
अन्य ख़बरें
मूंदी, पंधाना, खालवा व हरसूद में भी कोविड मरीजों का उपचार करायें
वन मंत्री डॉ. शाह ने अधिकारियों की बैठक में दिए निर्देश
खण्डवा | 19-अप्रैल-2021
    प्रदेश के वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक लेकर कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि जिले के मूंदी, पंधाना, खालवा व हरसूद के अस्पतालों में भी कोविड वार्ड की सभी सुविधाएं स्थानीय स्तर पर उपलब्ध कराकर वहां के आसपास के कोविड मरीजों का वहीं पर उपचार करायें, ताकि जिला अस्पताल पर मरीजों का दबाव कम हो सके और मरीजों को तहसील से जिला स्तर पर आने जाने में होने वाली परेशानी से मुक्ति मिल सकें। बैठक में वन मंत्री डॉ. शाह ने कहा कि ये चारों तहसील स्तरीय कोविड वार्ड में भी ऑक्सीजन कोंसेंट्रेटर मशीन तथा रेमडेसिविर इंजेक्शन भी मरीजों के उपचार हेतु उपलब्ध कराये जायें। वन मंत्री डॉ. शाह ने बैठक में कहा कि मूंदी, पंधाना, खालवा व हरसूद में कोविड वार्ड की स्थापना शीघ्र ही की जायेगी। उन्होंने कहा कि वे स्वयं इन चारों तहसीलों का दौरा कर वहां की व्यवस्थाएं देखेंगे।
ये अधिकारी व जनप्रतिनिधि थे उपस्थित
   बैठक में खण्डवा विधायक श्री देवेन्द्र वर्मा, पंधाना विधायक श्री राम दांगोरे, मांधाता विधायक श्री नारायण पटेल, कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी, पुलिस अधीक्षक श्री विवेक सिंह, जिला भाजपा अध्यक्ष श्री सेवादास पटेल, अपर कलेक्टर श्री एस.एल. सिंघाड़े सहित विभिन्न अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।
सनसनीखेज खबरें प्रकाशित न करें, सही तथ्य प्रकाशित करें
वन मंत्री डॉ. शाह ने बैठक में कहा कि प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया तथा सोशल मीडिया में प्रकाशित होने वाली सनसनीखेज खबरों से आम नागरिक डरा हुआ है। समाज के चौथे स्तम्भ को भी जिम्मेदारी पूर्वक अपना दायित्व निभाना चाहिए। उन्होंने मीडिया प्रतिनिधियों से अपील की है कि वे जिला प्रशासन से सही तथ्यों की जानकारी लेकर ही खबर प्रकाशित करें, ताकि नागरिकों तक सही सही जानकारी पहुंच सकें। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण के संबंध में अफवाह फैलाने वालों के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जाये, क्योंकि अफवाहों से नागरिकगण डर रहे है और नागरिकों का सिस्टम से विश्वास उठ रहा है।  
मरीजों की मदद के लिए हेल्पर तैनात करें व वार्ड में सीसीटीवी कैमरे लगवायें
वन मंत्री डॉ. शाह ने इस अवसर पर निर्देश दिए कि कोविड अस्पताल के सभी वार्डो में प्रत्येक 4 मरीजों के बीच में 1 हेल्पर तैनात किया जायें जो मरीजों की समय समय पर सहायता करें। उन्होंने कोविड वार्ड में सीसीटीवी चालू कराने के लिए भी कहा तथा कोविड वार्ड के प्रत्येक फ्लोर पर 1 प्रशासनिक अधिकारी 3-3 शिफ्टों में तैनात किये जायें, ये अधिकारी मरीजों के लिए वार्ड में उपलब्ध सुविधाओं पर सतत नजर रखेंगे।
कोविड मरीजों की आवश्यकता अनुसार पर्याप्त ऑक्सीजन हैं उपलब्ध
कलेक्टर श्री द्विवेदी ने बताया कि खण्डवा जिले में कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता है। वर्तमान में कोविड वार्ड के लिए लगभग 40 कोंसेंट्रेटर मशीन उपलब्ध है। समाजसेवियों व दानदाताओं द्वारा और भी मशीन दिए जाने की बात कही गई है। उन्होंने बताया कि रेडक्रास से 15 ऑक्सीजन कोंसेंट्रेटर मशीनें क्रय की गई है। ये सभी मशीनें कोविड वार्ड में मरीजों को उनकी आवश्यकता अनुसार ऑक्सीजन उपलब्ध करायेंगी। उन्होंने बताया कि अस्पताल में कोविड संक्रमित मरीजों को भर्ती करने तथा स्वस्थ्य हो चुके मरीजों को डिस्चार्ज करने के लिए डॉक्टर्स की समिति बना दी गई है। इन्हीं की अनुशंसा पर मरीजों को भर्ती किया जा रहा हैं तथा इन्हीं की अनुशंसा पर मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पूर्व में ऑक्सीजन की खपत ज्यादा हो रही थी, लेकिन स्थिति की विस्तृत समीक्षा कर मरीजों की आवश्यकता अनुसार ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है, जिससे 1 घंटे में लगभग 60 सिलेंडर ऑक्सीजन की बचत होने लगी है। इस बचत वाली ऑक्सीजन से निजी अस्पतालों को पर्याप्त ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगी।       
 
(23 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer