समाचार
|| किल कोरोना अभियान का हिस्सा बनेंगी महिला प्रेरक || नगरीय निकायों में घर-घर से कचरा एकत्र करने की प्रक्रिया बनी कोरोना संक्रमण रोकने का आधार || मुख्यमंत्री श्री चौहान विभिन्न पेंशन योजनाओं के हितग्राहियों के खाते में पेंशन राशि अंतरित करेंगे || जिला कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर द्वारा विगत 24 घण्टे में 68 प्रकरणों का निराकरण || खरगोन के लिए स्वीकृत है मेडिकल कॉलेज, बड़वानी के लिए पृथक से भेजा प्रस्ताव || ई-संजीवनी ओपीडी का आज 35 मरीजों ने उठाया लाभ || बीएमओ ने भेंट की कंसट्रेटर मशीन || बुधवार को अधिकतम तापमान रहा 41 डिग्री || बुधवार को 2487 नागरिकों को लगाया टीका || 13 मई को होगा जिले के 8 केन्द्रो पर कोरोना टीकाकरण
अन्य ख़बरें
वायु, रेल और सड़क मार्ग से की जा रही है ऑक्सीजन की आपूर्ति - मंत्री डॉ. मिश्रा
8 जिलों में संक्रमण दर घटी और 36 जिलों में लगभग स्थिर, रिकवरी रेट 85 प्रतिशत तक पहुँचा
सीधी | 28-अप्रैल-2021
   गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया है कि सरकार के अथक प्रयासों से संक्रमण की दर में कमी आनी शुरू हो गई है। प्रदेश के 8 जिलों में संक्रमण की दर में कमी दर्ज की गई है, वही 36 जिले ऐसे है, जिनमें संक्रमण की दर स्थिर होने की स्थिति में आ गई है। डॉ. मिश्रा ने बताया है कि ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों के सकारात्मक परिणाम आने लगे हैं। सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति वायुमार्ग, रेलमार्ग और सड़क मार्ग से भारत सरकार की मदद से कर रही है। ऑक्सीजन उत्पादन के लिए स्वीकृत 8 प्लान्टों में से 7 प्लान्ट पूर्ण हो गए है, जिसमें से 6 में उत्पादन भी प्रारंभ हो गया है। उल्लेखनीय है कि रिकवरी की दर भी लगभग 85 प्रतिशत तक पहुँच गई है।
   डॉ. मिश्रा ने बताया कि मध्यप्रदेश को त्वरित ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए पहली ऑक्सीजन ट्रेन बुधवार 28.04.2021 की सुबह पहुँचेगी। इस ट्रेन में 6 टैंकरों द्वारा 63.78 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भोपाल पहुँचेगी। चार टैंकर ओडि़सा से पहुँच रहे है, जिसमें 23 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आयेगी। प्रदेश में 533 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त होने की संभावना है। ऑक्सीजन की आपूर्ति का यह सिलसिला आगामी एक मई तक लगातार जारी रहेगा। डॉ. मिश्रा ने बताया कि 2 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी राज्य सरकार द्वारा खरीद लिए गए हैं। इसके अतिरिक्त 34 जिलों में स्थानीय व्यवस्था कर एक हजार से अधिक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपयोग में लाए जा रहे है।  
   डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में 58 नए स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन प्लान्ट स्वीकृत किए गए है। भारत सरकार द्वारा स्वीकृत 8, मुख्यमंत्री राहत कोष से 5, राज्य सरकार द्वारा 45 स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन उत्पादन प्लान्टस स्थापना कार्य प्रगति पर है। स्वीकृत प्लान्टस में से भारत सरकार के 7 प्लान्ट पूर्ण हो गए है, 6 प्लान्ट में उत्पादन प्रारंभ हो गया है। राज्य सरकार द्वारा स्वीकृत प्लान्टों में से 22 प्लान्ट मई माह के द्वितीय पखवाड़े में पूर्ण होकर क्रियाशील हो जायेंगे। जुलाई माह के द्वितीय सप्ताह में 15 ऑक्सीजन प्लान्ट क्रियाशील हो जायेंगे।
डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में नई ऑक्सीजन लाइन बिछाने का कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है। प्रथम चरण में 42 जिलों के जिला चिकित्सालयों में 2,302 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप-लाइन बिछाने और द्वितीय चरण में 51 जिलों की सी.एच.सी. के 4,643 बिस्तरों के लिए लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है।
   डॉ. मिश्रा ने बताया कि प्रदेश में स्वास्थ्य कर्मचारियों, फ्रन्ट लाइन वर्कर और 45 से अधिक उम्र के 69 लाख 94 हजार 944 व्यक्तियों को वैक्सीनेशन की प्रथम डोज लग गई है। दस लाख 999 व्यक्तियों को टीके की दूसरी डोज भी लग गई है।
 
(14 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer