समाचार
|| मध्यप्रदेश में कोराना के विरूद्ध जंग में हर नागरिक बना योद्धा - मुख्यमंत्री श्री चौहान || वृहद वृक्षारोपण अभियान ‘‘अंकुर‘‘ में सहभागिता हेतु ऑनलाईन पंजीयन || अनुकम्पा नियुक्ति और पेंशन प्रकरणों का निराकरण शीघ्र करें || अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस 26 को || दीनदयाल अंत्योदय रसोई योजना अंतर्गत खाद्यान्न वितरण के संबंध में निर्देश || जिले में अब तक 219.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज || टीकाकरण महाअभियान का तीसरा दिन || नेशनल लोक अदालत 10 जुलाई को आयोजित होगी || मध्यप्रदेश के एम एस एम ई रिकवरी मॉडल को गुजरात सरकार अपनाएगी || विभाग के 20 मॉडल विकासखण्डों से 2 लाख कृषक परिवार होंगे लाभान्वित
अन्य ख़बरें
गरीब का नि:शुल्क उपचार शासन की जिम्मेदारी
राष्ट्रीय औसत से कम हुई प्रदेश की पॉजिटिविटी रेट, मुख्यमंत्री ने की कोरोना कोर ग्रुप की विडियों काँन्फ्रेस
निवाड़ी | 05-मई-2021
      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि गरीब के उपचार की व्यवस्था शासन की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि गरीब व्यक्तियों के लिए निरूशुल्क उपचार की व्यवस्था के लिए चिकित्सालय चिन्हित किए गए है। इसके साथ ही गरीब के लिए निरूशुल्क उपचार की व्यवस्थाओं को अधिक विस्तारित करने के संबंध में प्रयास किए जाए। उन्होंने कहा कि सी.टी. स्कैन की निर्धारित दरों को कम करने के तरीकों पर भी विचार किया जाए। दर ऐसी हो जो आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग द्वारा भी वहन की जा सके। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंगलवार को कोरोना कोर ग्रुप की बैठक को वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा मुख्यमंत्री निवास से संबोधित कर रहे थें। बैठक में बताया गया कि प्रदेश की पॉजिटिविटी रेट 4 मई को राष्ट्रीय औसत से कम हो गई है। राष्ट्रीय औसत 21.6 प्रतिशत की तुलना में प्रदेश की औसत 20.7 प्रतिशत हो गई है।
निजी अस्पतालों में कोविड रोगियों का निर्धारित दर पर हो उपचार
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गरीब व्यक्तियों के उपचार के लिए आयुष्मान कार्ड के साथ ही अन्य निरूशुल्क उपचार की वैकल्पिक व्यवस्थाएँ भी की जाएँ। उन्होंने कहा कि कोविड रोगियों का निजी चिकित्सालयों में उपचार शासन द्वारा निर्धारित शुल्क पर हो। इस व्यवस्था को और अधिक मजबूत बनाने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि किसी भी चिकित्सालय को मनमानी दरों पर उपचार की छूट नहीं दी जाएगी। ऐसा करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने एम्बुलेंस की दरें प्रति किलो मीटर के आधार पर निर्धारित करने के निर्देश दिए। इसी तरह सी.टी. स्कैन करवाने के परामर्श के लिए भी निर्धारित प्रोटोकॉल अनुसार व्यवस्थाएँ कराने की जरूरत बताई।
प्रभारी मंत्री ग्रामीण अंचल के कोविड केयर सेंटर की व्यवस्था देखें
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रभारी मंत्रियों को निर्देशित किया है कि ग्रामीण अंचल के क्वारेंटाइन सेंटर और कोविड केयर सेंटरों का निरीक्षण करें और वहाँ की व्यवस्थाओं को प्रभावी बनाए। उन्होंने कहा कि क्वारेंटाइन और कोविड केयर सेंटरों की व्यवस्थाओं के संबंध में जन-जागरण भी किया जाए, ताकि संक्रमित व्यक्ति को वहाँ पर रख कर संक्रमण को नियंत्रित किया जा सके। उन्होंने बताया कि वे स्वयं भी आकस्मिक रूप से ग्रामीण अंचल के कोविड केयर और क्वारेंटाइन सेंटर का निरीक्षण करेंगे।  
     बीना रिफायनरी में 200 ऑक्सीजन बिस्तर का अस्पताल शीघ्र होगा प्रारम्भ
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बीना रिफायनरी में बनने वाले अस्पताल के निर्माण कार्य की समीक्षा की। बताया गया कि मई माह के मध्य तक 200 ऑक्सीजन बिस्तर का अस्पताल प्रारम्भ हो जाएगा। साथ ही उन्होंने मोहासा-बाबई में निर्माणाधीन ऑक्सीजन प्लान्ट की गति को भी तीव्र करने के निर्देश दिए। साथ ही इंदौर में ई.एस.आई. के चिकित्सालय में शीघ्र ही कोविड केयर सेंटर शुरु हो जाएगा।
ऑक्सीजन उपलब्धता की स्थिति हुई बेहतर
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में ऑक्सीजन आपूर्ति व्यवस्था की समीक्षा की। बताया गया कि ऑक्सीजन उपलब्धता की स्थिति बेहतर हुई है। 2 मई को ऑक्सीजन की 516 मीट्रिक टन आवश्यकता की तुलना में 683 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई है। प्रदेश को आवंटित ऑक्सीजन मात्रा की तुलना में 90 प्रतिशत से अधिक ऑक्सीजन की आपूर्ति लगातार ठीक ढंग से हो रही है। प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में आगामी 2 दिन की ऑक्सीजन आवश्यकता से अधिक का भंडारण हो गया है। प्रदेश में ऑक्सीजन भंडारण क्षमता पूर्णता की ओर तेजी से बढ़ रही है। विगत चार दिनों में 4 नये ऑक्सीजन टैंकर भी प्राप्त हुए है। आगामी 2-3 दिनों में सिंगापुर से अयातित दो टैंकर भी प्राप्त हो जाएगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ऑक्सीजन आपूर्ति व्यवस्था को प्रभावी बनाने पर संचालन टीम के सभी सदस्यों को बधाई दी और कहा कि मॉनीटरिंग की गहनता बनी रहे।
अस्पताल से डिस्चार्ज होने वालों की बढ़ी संख्या
   बैठक में बताया गया कि प्रदेश में आज 12 हजार 236 नये पॉजिटिव केस मिले हैं। चिकित्सालयों से डिस्चार्ज होने वालों की संख्या में करीब 5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। दिनांक 2 मई को डिस्चार्ज संख्या 1505 की तुलना में 3 मई को 1781 डिस्चार्ज हुए है।                      
 
(51 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2021जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
31123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
2829301234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer