समाचार
|| कोरोना प्रभारी मंत्री एवं राज्यसभा सांसद ने किया वैक्सीनेशन महा अभियान का शुभारंभ || केंट विधायक ने किया टीकाकरण केंद्रों का अवलोकन || रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा लगाये गये शिविर में 808 व्यक्तियों को लगे कोरोना के टीके || आधारताल में आयोजित टीकाकरण शिविर में 350 व्यक्तियों को लगा टीका || जिले में 60 हजार लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य पूरा || स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने के लिये लोगों में दिखा उत्साह || मध्यप्रदेश ने एक दिन में वैक्सीनेशन का नया रिकार्ड बनाया || वेलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म डेस्टिनेशन बनेगा मध्यप्रदेश- मुख्यमंत्री श्री चौहान || जिले अब तक 3 लाख 37 हजार 188 वैक्‍सीनेशन डोज लगाये गये (टीकाकरण महा-अभियान) || वैक्सीन लग गई तो बाजार भी खुले रहेंगे और मेहनत-मजदूरी भी चलती रहेगी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
अन्य ख़बरें
15 निजी अस्पतालों में होगा निःशुल्क उपचार
आयुष्मान कार्डधारियों के लिए रहेंगे 20 प्रतिशत रिजर्व बेड
खरगौन | 12-मई-2021
   कोविड उपचार योजनांतर्गत जिले के अब 15 अस्पतालों में आयुष्मान कार्डधारियों का निःशुल्क उपचार हो सकेगा। राज्य षासन द्वारा जारी निर्देशानुसार निजी अस्पतालों में 20 प्रतिशत बेड आयुष्मान कार्डधारियों के लिए रिजर्व रखना होंगे। गत दिनों निजी अस्पताल संचालकों के साथ कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने गुगल मीट के माध्यम से स्वीकृति और भुगतान की पुरी प्रक्रिया तथा इससे जुड़े बिंदुओं के संबंध में निर्देश दिए गए। निजी अस्पतालों को भोपाल स्तर से आयुष्मान धारी का उपचार करने के लिए गुगल सीट पर अस्पताल से संबंधित पुरी जानकारी भरनी थी। इसके बाद सीएमएचओ द्वारा अनुशंसा के बाद भोपाल से स्वीकृति प्राप्त होना थी। वर्तमान में जिले के 15 अस्पतालों को कोरोना का उपचार आयुष्मान कार्ड से करने की स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। इन अस्पतालों में आयुष्मान कार्डधारी या कार्ड के पात्र संक्रमित मरीजों को किसी प्रकार की समस्या न हो, इसके लिए निजी अस्पतालों के लिए नोडल अधिकारी भी नियुक्त किए गए है।
कार्ड बनाने में नोडल अधिकारी करेंगे सहयोग
    राज्य षासन के निर्देशानुसार कोविड उपचार योजनांतर्गत कार्डधारियों का निःशुल्क उपचार किया जाना है। जिले में ऐसे कई नागरिक है, जिनके आयुष्मान कार्ड नहीं बने है, लेकिन उनकी पात्रता है। ऐसी स्थिति में यदि आयुष्मान कार्ड का पात्र व्यक्ति आता है, तो ये नोडल अधिकारी संबंधित की समग्र आईडी लेकर पात्रता जांच करने के उपरांत दो दिनों में कार्ड बनाने की कार्यवाही सुनिश्चित करेगा। साथ ही नोडल अधिकारी कार्ड नहीं होने की स्थिति में भी संबंधित निजी अस्पताल में कोविड का निःशुल्क उपचार कराएगा। हालांकि निजी अस्पतालों को भी आयुष्मान हेल्प डेस्क बनाकर अस्पताल के किसी एक कर्मचारी को नियुक्त भी करना होगा।
इन अस्पतालों में नियुक्त हुए नोडल अधिकारी
    जिला पंचायत सीईओ श्री गौरव बेनल द्वारा जारी आदेशानुसार खरगोन स्थित सांई समर्थ अस्पताल के लिए रूपक कुमार सांवले, सोना मां नर्सिंग होम के लिए राहुल मुवेल, सुभिषी अस्पताल खरगोन के लिए निलेष उईके व रामश्री अस्पताल के लिए सुधीरसिंह अलावा को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इसके अलावा सनावद के गुर्जर श्री अस्पताल के लिए नेहा राठौर, श्री नत्थुलाल जी मेमोरियल अस्पताल के लिए मणीषंकर वर्मा, रित्विक अस्पताल एवं रिसर्च सेंटर के लिए हर्षकुमार मेहता, श्री सांई अस्पताल के लिए नलिनचंद्र शुक्ला व अग्रवाल अस्पताल के लिए ब्रजेश पांडे, बड़वाह के श्री दादा दरबार अस्पताल के लिए सुरेश शिंदे व गुर्जर अस्पताल के लिए राहुल सिंह, कसरावद स्थित नवजीवन अस्पताल के लिए विजेंद्र भालेराव, महेश्वर के विष्णुश्री अस्पताल के लिए मुकेश वास्कले, मंडलेश्वर के सुजस अस्पताल के लिए भगवातीप्रसाद शाक्य एवं भीकनगांव के रूद्रांष अस्पताल एवं क्रिटिकल केयर के लिए पंकज अजनार को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। यह सभी अधिकारी जिला चिकित्सालय में पदस्थ आयुष्मान भारत के समन्वयक राहुल सोनी, आयुष्मान मिश्र छाया साठे, ड्राट एंट्री ऑपरेटर अरषद खान, शुभ पाठक व सपना पाटीदार से समन्वय कर आयुष्मान कार्ड बनाएंगे।
(41 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2021जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
31123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
2829301234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer