समाचार
|| आज का अधिकतम तापमान 31 डि.से. || कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति गठित || 28 नवम्बर को मनाया जाएगा एनसीसी का स्थापना दिवस समारोह || मध्यप्रदेश में प्रतिदिन हो रहा है 5300 मेगा वॉट से अधिक सौर ऊर्जा उत्पादन - मुख्यमंत्री श्री चौहान || प्रदेश की प्रगति के आँकड़ों की स्पष्ट झलक मिली राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे में || मध्यप्रदेश को ऊर्जा क्षेत्र में आधुनिकीकरण के लिए मिलेंगे 13 हजार करोड़ रूपए || जल जीवन मिशन से करीब 44 लाख ग्रामीण परिवारों तक पहुँचा नल से जल || कक्षा 10वीं एवं 12वीं की परीक्षाएं 12 फरवरी से || नेशनल स्कॉलरशिप - आवेदन आमंत्रित 30 नवम्बर तक || कृषक उद्यमिता विकास कार्यक्रम अन्तर्गत परियोजनाओं का लाभ लेने हेतु संपर्क करें
अन्य ख़बरें
भोपाल में अनूठी पहल-वाहनों पर कोरोना शायरी और कविताओं से जागरूकता "कहानी सच्ची है"
चलती है गाड़ी उड़ती है धूल - वैक्सीन लगवा लो वरना होगी बड़ी भूल
भोपाल | 02-जून-2021
   सफर करते वक्त हमारी नजरें इधर-उधर के कई नजारों को देखती है. ऐसा ही एक दृश्य होता है आगे चल रहे वाहन को देखना और उस पर लिखी कविता तथा शायरी को पढ़ना। कई बार शायरी समाज को संदेश भी देती हैं और कभी नसीहत भी देती हैं तो कई में ड्राइवरों का दर्द झलकता है तो कुछ में मौज मस्ती होती है। इनकी भाषा-शैली और अंदाज के कारण यह लोगों को गुदगुदाती हैं और लंबे समय तक याद भी रहती है। भोपाल में कोरोना से लड़ने के सबसे सशक्त हथियार वैक्सीन के प्रति जागरूकता के लिए इस विचार को अपनाकर अनूठी पहल की गई है। जागरूकता के लिए जिले भर में रथ से जागरूकता का संदेश दे रही सर्च एंड रिसर्च डवलपेंट सोसायटी अब वाहनों के पीछे ’कोरोना शायरी’ लिखने का अभियान चला रही है। 
   अब भी कोरोना की वैक्सीन को लेकर अनेक तरह की भ्रांतियां, डर और संशय है। वैक्सीन को लेकर तरह तरह की अफवाहें फैल रहीं हैं। लोग टीका नहीं लगवा रहे हैं और कई गांवों और कस्बों में स्वास्थ्य अमले से बुरा बर्ताव भी कर रहे हैं जबकि सरकार और विशेषज्ञों का कहना है कि वैक्सीन ही कोरोना से लड़ने का वर्तमान में सशक्त हथियार है। ऐसी स्थिति में इस भ्रम को दूर कर लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक करने के लिये सभी
तरह के प्रयास किए जा रहे है ताकि संपूर्ण टीकाकरण से हमारा देश कोरोना महामारी से मुक्त हो सके हैं। 
   टीकाकरण को लेकर व्यापक स्तर पर जन-जागरूकता के लिए सर्च एंड रिसर्च डवलपमेंट सोसायटी ने ’ट्रकों पर कोरोना शायरी’’ लिखने की अनूठी पहल की है। सोसायटी ने कोरोना शायरी उसी रोचक और मौजी अंदाज में लिखी है जैसी आप ट्रकों के पीछे पढ़ते हैं। इसमें अनेक भावों के साथ वैक्सीन लगवाने और मास्क का निरंतर उपयोग करने के संदेश है। ट्रक, बस, ट्रेक्टर- ट्रॉली जैसे वाहन गांव-शहरों से होते हुए पूरे देश में जाते हैं। इस तरह से लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करने के लिए यह मुहिम बेहतर होगी,यह उम्मीद की जा सकती है।
"शायरी और कविताओं की बानिगी"
1"देखो मगर प्यार से...."
"कोरोना डरता है वैक्सीन की मार से"
2"मैं खूबसूरत हूं मुझे नजर न लगाना"
"जिंदगी भर साथ दूंगी, वैक्सीन जरूर लगवाना"
3"टीका लगवाओगे तो बार-बार मिलेंगे"
"लापरवाही करोगे तो हरिद्वार में मिलेंगे"
4"यदि करते रहना है सौंदर्य दर्शन रोज-रोज"
"तो पहले लगवा लो वैक्सीन के दोनों डोज"
5"टीका नहीं लगवाने से"
"यमराज बहुत खुश होता है।"
6"चलती है गाड़ी, उड़ती है धूल"
"वैक्सीन लगवा लो वरना होगी बड़ी भूल"
7"बुरी नजर वाले तेरा मुंह काला"
"अच्छा होता है वैक्सीन लगवाने वाला"
8"मालिक तो महान है,चमचों से परेशान है"
"कोरोना से बचने का, टीका ही समाधान है।"
(177 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2021दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer