समाचार
|| वैक्सीन महाअभियान में कोरोना वॉलेंटियर्स की महत्वपूर्ण भूमिका - मुख्यमंत्री श्री चौहान || अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को || कोविड-19 टीका पूर्णंतः सुरक्षित हैं || पेंशनर्स ऐसोसिएशन के पदाधिकारियों और टीकाकरण महाअभियान के लिये नियुक्त सुपरवाइजरों से भी की चर्चा || जावरा शहर की 46 मस्जिदों के इमामों, मोअज्जिनो ने टीके लगवाए || सांसद श्री गुमानसिंह डामोर का भ्रमण कार्यक्रम || जिले की आधिकारिक वेबसाइट पर देखी जा सकती है टीकाकरण केंद्रों की सूची || कोविड वैक्सीनेशन महा अभियान के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया गया || आज शाम 4 बजे कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के बारे में फेसबुक लाइव के जरिए कलेक्टर करेंगे नागरिकों से संवाद || कोविड 19 वैक्सीनेशन महा अभियान
अन्य ख़बरें
मत्स्य कृषकों को समय पर मत्स्य बीज उपलब्ध कराएं- कलेक्टर श्री सिंह
साकल्दा के मत्स्य बीज प्रक्षेत्र और निर्माणाधीन उमरबन अस्पताल का कलेक्टर ने किया निरीक्षण
धार | 09-जून-2021
    कलेक्टर आलोक कुमार सिंह तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारी आशिष वशिष्ठ ने बुधवार को शासकीय मत्स्य बीज प्रक्षेत्र साकल्दा का निरीक्षण किया। यहां उन्होने मत्स्य बीज उत्पादन के बारे में विस्तृत जानकारी ली तथा समय पर मत्स्य कृषकों को मत्स्य बीज उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। साथ ही मनरेगा योजना से निर्मित किए जा रहे चार मत्स्य संवर्धन पोण्ड का निरीक्षण किया। कलेक्टर श्री सिंह ने आरईएस विभाग को शीघ्र कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए।इस दौरान सहायक संचालक मत्स्य टीएस चैहान ने बताया कि यहां कतला, रोहू, मिरगल एवं कामनकार का मत्स्य बीज उत्पादन किया जाता है। नवीन मत्स्य बीज प्रक्षेत्र के निर्माण के लिए सेमल्दा तालाब के डाउनस्ट्रीम पर शासन द्वारा चार हेक्टेयर जमीन उपलब्ध करवाई गई है। उसके  निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने आरईएस के अभियंता को मनरेगा से इस्ट्रीमेट बनाकर शीघ्र कार्य प्रारम्भ करवाने के निर्देश दिए। नवीन प्रक्षेत्र बनने से करीब 3 से 6 करोड़ स्पान का उत्पादन होगा। उमरबन के निर्माणाधीन अस्पताल के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि कोविड का संक्रमण जिले में थोड़ा कम हुआ है। हमें विकास कार्यो को अब तेजी से गति भी देना है। इसी तारतम्य में बुधवार को कलेक्टर एवं सीईओ भृमण पर निकले थे। उन्होंने कहा कि  उमरबन हॉस्पिटल के निर्माण कार्य  को हमने पिछली बार भ्रमण के दौरान देखा था, तब ग्राउंड फ्लोर तक ही निर्माण हुआ था। वर्तमान में फर्स्ट फ्लोर की भी छत डल गई है। वहां पर पानी की समस्या थी, उसके लिए हमने पीएचई से चर्चा भी की। दो किलोमीटर दूर से वहां पर पाइप लाइन लाएंगे, वहां पर पानी की व्यवस्था होगी और वहां पर एक अलग से पोस्टमार्टम कक्ष भी बनना है । उसके लिए भी कार्यपालन यंत्री को  निर्देश दिए हैं कि शीध्र दे। स्वीकृती दी जाएगी। साथ ही ब्लड काउंट मशीन और एक्सरे  मशीन की आवश्यकता बताई गई है क्योकि लोगो को काफी दूर बाकानेर आना पड़ता है। प्रारम्भिक तौर पर उसकी व्यवस्थाएं देखी है।  उमरबन ब्लॉक पर स्वास्थ संबंधी सारी सुविधाएं उपलब्ध हो सके, जिससे लोगो को काफी दूर न जाना पढ़े, जब तक यह नया हॉस्पिटल बनेगा, तब तक हम कोशिश करेंगे कि वहां सभी व्यवस्था सुनिश्चित हो जाये। भ्रमण के दौरान एसडीएम राहुल चौहान तहसीलदार जीएस धारवे भी मौजूद थे।
(10 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2021जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
31123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
2829301234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer