समाचार
|| औद्योगिक भूखंडो के ई-नीलामी से आवंटन हेतु आवेदन आमंत्रित || सभी लोग पांच-पांच पौधे अवश्य लगाए- प्रियंका बुनकर || 6 माह तक केवल स्तनपान कराएं शिशु को बलवान बनाएं- सीईओ श्री एचपी वर्मा || 8 आश्रितों को मिली अनुकम्पा नियुक्ति || दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत प्रतिबंधात्‍मक आदेश 10 अगस्‍त तक प्रभावशील || आरटीई के तहत द्वितीय चरण की प्रवेश प्रक्रिया के तहत पंजीकृत आवेदक || प्रदेश में 16 लाख 60 हजार मानक बोरा तेन्दूपत्ता संग्रहीत : वन मंत्री डॉ. शाह || देश को मौजूदा परिपाटियों से आगे बढ़ाने के हो प्रयास || जन-अभियान परिषद स्वयंसेवी संगठन की मूल भावना को हमेशा याद रखे || देश को मौजूदा परिपाटियों से आगे बढ़ाने के हो प्रयास
अन्य ख़बरें
जिला उपार्जन समिति की समीक्षा बैठक  सम्पन्न
मूग की खरीदी 6 केंद्रों पर होगी, मूंग खरीदी केंद्रों पर समस्त आवश्यक सुविधाएं कराएं उपलब्ध  - कलेक्टर श्री सिंह
सागर | 10-जून-2021
   मूग की खरीदी 6 केंद्रों पर होगी एवं समस्त  केंद्रों पर आवश्यक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराएं उक्त निर्देश कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने जिला उपार्जन समिति की बैठक में  दिये। रबीफसल उपार्जन एवं विपणन  2020-2021अंतर्गत जिला कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने गेहूं, चना, मसूर एवं सरसों की कुल खरीदी एवं भंडारण व्यवस्थाओं पर विस्तार से चर्चा कर अधिकारीयों को निर्देशित किया। 
   कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि सागर जिले मे सागर,देवरी,रहली,केसली,राहतगढ़,खुरई मैं मूग की खरीदी की जायेगी।

   उन्होंने कहा कि डीएपी एव यूरिया की उपलब्धता भी सुनिश्चित कराएं साथ ही किसी भी केंद्र पर यूरिया एवं डीएपी की उपलब्धता किसानों को आसानी से हो सके इस प्रकार से कार्य योजना तैयार करें
   कलेक्टर श्री सिंह ने खाद्यान को शतप्रतिशत सुरक्षित भंडारण एवं असमय बारिश के कारण गीले हुए अनाज को तत्काल गोदाम स्तर पर अपग्रेडिंग कर गुणवत्ता में सुधार एवं सुरक्षित करने हेतु निर्देशित किया।  जिले में कार्यरत लगभग 57 सेल्फ हेल्प ग्रुप (स्वसहायता समूहों ) द्वारा बेहतर कार्य किया जा रहा है। लगभग  94 प्रतिशत किसानों के स्वीकृति पत्रक जारी किए जा चुके है शेष   किसानों को जल्द से जल्द स्वीकृति पत्रक दें और शतप्रतिशत पत्रक वितरण सुनिश्चित कर शीघ्र भुगतान करें। आगामी खरीफ फसल की तैयारियों का भी जायजा लेते हुए जिले के किसानों की मांग आपूर्ति हेतु  दलहन, तिलहन आदि खरीफ फसलों के बीज एवं उर्बरक की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करें। खरीफ सीजन 2021 की फसलों हेतु बीज एवं उर्बरक के लक्ष्य अनुसार आपूर्ति एवं विक्रय हेतु रणनीति बनाकर सभी सहकारी समितियों एवं प्राइवेट विक्रेता आदि के पास पर्याप्त उपलब्धता शीघ्र सुनिश्चित करें। उर्वरकों में डीएपी, यूरिया, एनपीके, एसएसपी, पोटाश आदि मिला कर कुल 21875 मीट्रिक टन लक्ष्य है वर्तमान उपलब्धता 12062 मीट्रिक टन है इसका तत्काल विक्रय सुनिश्चित करायें एवं शेष लक्ष्य की आवश्यकता अनुसार बीज व उर्वरकों की डिमांड बना कर उपलब्धता सुनिश्चित करें। ताकि प्रत्येक किसान को समय पर आवश्यकता अनुसार बीज व उर्वरक मिल सकें।
   शासन के प्राप्त निर्देशानुसार जिले के जिन क्षेत्रों में जायद सीजन (ग्रीष्मकाल) में मूंग की फसल होती है उसकी सूची तैयार करें।
   फलमंडी, सब्जीमंडी एवं अनाज मंडी को अलग-अलग एंट्री एग्जिट बना कर व्यवस्थित किया है  इसकी स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें।  मंडियों में 24Û7 सफाई कर्मी उपस्थित रहें। साथ ही अनाज मंडी से  मसूर, चना, गेहूं, सरसों आदि के विक्रय की जानकारी ली।
   पशुपालन विभाग की समीक्षा कर शासन के निर्देशानुसार प्रत्येक गौशाला में नंदी संबर्धन हेतु नंदी शाला का निर्माण करें। साथ ही स्वस्थ्य गायों, दुधरु गायों, बछड़े-बछड़ियों एवं बीमार गायों आदि हेतु अलग-अलग व्यवस्थित शेड तैयार करने का कार्य तेजी से करायें। सभी दुधारू पशुओं का किसानों से बात कर बीमा कराये।नेशनल ऐआई प्रोग्राम के तहत शत प्रतिशत फ्री ऐआई करायें। सभी गायों मवेशियों का पूर्ण टीकाकरण कराएं।
   उद्यानिकी विभाग की नर्सरियों में लगभग 1 लाख पौधे उपलब्ध हैं इन पौधों को जिले के प्रत्येक वैक्सीनेशन सेंटर में वैक्सीन लगवाने वाले नागरिकों को दिये जायेंगे। माननीय मुख्यमंत्री जी के महत्वकांछी “ अंकुर कार्यक्रम“ अंतर्गत प्रत्येक घर में जमीन की उपलब्धता अनुसार पौधे लगाने हेतु प्रोत्साहित किया जायेगा। इसके लिए वैक्सीनेशन सेंटर में वैक्सीन लगवाने वाले प्रत्येक नागरिकों को एक पौधा वितरण कर घर या आस-पास सुरक्षित जगह पर पौधा लगाकर वायुदूत ऐप पर पौधे के साथ सेल्फी या फोटो अपलोड करने व इसकी अच्छे से देखरेख करने हेतु प्रेरित किया जायेगा। एनआरएलएम एवं स्वसहायता समूहों के सदस्यों को अंकुर कार्यक्रम में शामिल कर जिले के गांव-गांव सहित शहरी क्षेत्र में भी बृहद वृक्षारोपण करायें।
   इसके साथ ही मत्स्यपालन विभाग, जल संसाधन विभाग, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित सागर आदि की भी समीक्षा की गई।
(51 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2021अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2829301234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930311
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer