समाचार
|| विश्व स्तनपान सप्ताह का आयोजन एक अगस्त से || मनरेगा अधिकारी एवं मजदूर दोनों मोबाइल पर निरीक्षण और उपस्थिति एप पर होगी दर्ज || समय पर मिल जाएं अनुकम्पा नियुक्तियाँ, मिशन मोड में कार्य करें, दर्द बड़ा है, सरकार आपके साथ खड़ी है || कोरोना कर्फ्यू के दिशा निर्देश 10 अगस्त तक रहेगें प्रभावशाली || जिले में अब तक 416.2 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज || आयोग पदाधिकारियों ने भानपुरा में किया आंगनवाड़़ी केन्द्र का निरीक्षण || दोषियों को हर हाल में मिलेगी सजा - श्री देवड़ा || नेशनल लोक अदालत के आयोजन के लिए हुई बैठक || पौधे रोपकर शुरू किया पंच-ज अभियान, पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश || नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप शिक्षा प्रणाली में प्रभावी बदलाव करें
अन्य ख़बरें
स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग की संयुक्त समीक्षा बैठक सम्पन्न
अन्न उत्सव में महिला बाल विकास के स्व-सहायता समूहों को खाद्यान्न वितरण हेतु जोड़ा जाएं- कलेक्टर
शहडोल | 22-जुलाई-2021
      कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ. सतेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में आज स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग की संयुक्त समीक्षा बैठक कलेक्टर कार्यालय के विराट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर ने संवेदना अभियान के तहत गर्भवती माताओं एवं बच्चों का कुपोषण दूर करने के लिए दोनों विभागों को मिल कर कार्य योजना बनाकर कार्य करने के निर्देश देते हुए कहा कि, कुपोषण दूर करने के लिए शासन द्वारा दी जा रही योजनाओं का लाभ सभी पात्र हितग्राहियों को मिले साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि, शासन के प्रोत्साहन राशि का उपयोग उनके कुपोषण को दूर करने, पौष्टिक आहार लेने में ही उपयोग हो इसके लिए परिवार को समझाइश की आवश्यकता है जिससे गर्भवती माता एवं उसका बच्चा कुपोषित होने से बच सकें। कलेक्टर ने कहा कि, ब्लांक स्तर पर जन सहयोग लेते हुए ग्रेन बैंक (अनाज बैंक) की शुरूआत करें। जिससे जरूरतमंदों को कुपोषण से दूर करने के लिए  पौष्टिक आहार दिया जा सके। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि, एनआरसी में सभी बेड भरे रहे यह सुनिश्चित किया जाए कि मैदानी कार्यकर्ता, महिला एवं बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग मिलकर कुपोषित बच्चों  का चिन्हाकंन कर शीघ्र एनआरसी मे शीघ्र भर्ती कराएं साथ ही बच्चों के डिस्चार्ज के बाद उनका अनुशरण भी किया जाएं जिससे बच्चें पुनः कुपोषित होने से बच सकें, बेहतर पोषण देकर बच्चों के प्रति संवेदना दिखाते हुए सभी गर्भवती माताओं का स्वास्थ्य परीक्षण समय-समय पर किया जाए, व्हीएचएनडी दिवस के दिन उन्हें अरोग्य केन्द्र में एकत्रित कर उन्हें कुपोषण से बचने की समझाइश भी दी जाए। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास ने कलेक्टर को अवगत कराया कि, जैतपुर एवं झींकबिजुरी में एनआरसी शुरू करने की आवश्यकता है, इस पर कलेक्टर ने उन्हें शासन को पत्र लिखने के लिए निर्देशित किया। आयोजित बैठक कोविड वैक्सीनेशन की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने कहा कि गर्भवती माताओं का टीकाकरण भी कल से शुरू किया जा रहा है, इसमें दोनांे विभाग संयुक्त रूप से कार्य योजना बनाकर जन-जन तक गर्भवती माताओं को कोविड टीकाकरण कराने का संदेश देने कहा, ताकि जिले के सभी गर्भवती माताएं कोरोना महामारी से बच सकें।
  बैठक में राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान, कुष्ठ अभियान, परिवार कल्याण कार्यक्रम, मलेरिया उन्मूलन तथा राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए  कलेक्टर ने प्रगति सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि, राष्ट्रीय कार्यक्रमों में सफलता आपके प्रयासों पर निर्भर है सभी राष्ट्र एवं समाजहित में मिलकर कार्य करें और लक्ष्य की शत-प्रतिशत उपलब्धता सुनिश्चित करें। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमएस सागर, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्रीमती शालिनी तिवारी,  सहायक संचालक श्री  मनोज लारोकर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी क्रं.02 डॉ. योगेश पासवान, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अंशुमन सोनारे, डॉ. ए.के. लाल सहित महिला बाल विकास के सीडीपीओ  उपस्थित थें।
 
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2021अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2829301234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930311
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer