समाचार
|| मध्यप्रदेश को मॉडल स्टेट बनाएँ-एक नवम्बर को "एक जिला-एक उत्पाद" योजना में हर जिला करेगा नवीन कार्य का शुभारंभ || आपात छुट्टी के लाभ संबंधी 4 अगस्त को जारी आदेश स्थगित - डीजी जेल || आयुष्‍मान भारत दिवस के अवसर पर जिला चिकित्‍सालय में शिविर का आयोजन || अवैध शराब परिवाहन में लिप्त 2 वाहन राजसात || आज का अधिकतम तापमान 32.4 डि.से. || जिले में अब तक 716.9 मि.मी.औसत वर्षा दर्ज || आरटीई के तहत नि:शुल्क प्रवेश के लिए संशोधित समय सारणी जारी || बेहतर सुविधाये प्रदाय करने हेतु नगरपरिषद लखनादौन आईएसओ सर्टिफिकेट से सम्मानित || अल्पसंख्यक पोस्ट मैट्रिक/प्री-मैट्रिक/मेरिट कम-मीन्स छात्रवृत्ति ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित || पत्रकार समूह बीमा योजना की अंतिम तिथि 30 सितम्बर
अन्य ख़बरें
बंधुआ मजदूर पाये जाने पर संबंधित के विरूद्ध करें कठोर कार्यवाही - कलेक्‍टर
20 बंधुआ मजदूर मुक्‍त कराए, बाहर से आए 117 मजदूरों को रोजगार
गुना | 23-जुलाई-2021
        कलेक्‍टर श्री फ्रेंक नोबल ए. ने बुधंआ मजदूर संबंधी जिला स्‍तरीय सतर्कता समिति की बैठक ली। बैठक में बंधक श्रम प्रथा समाप्ति अधिनियम 1976 के तहत बंधक श्रमिकों के चिन्‍हांकन, विमुक्ति एवं पुर्नवास के संबंध में चर्चा की गयी। बैठक में मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री निलेश परीख, परियोजना अधिकारी शहरी विकास, महाप्रबंधक जिला व्‍यापार उद्योग केन्‍द्र, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन, महाप्रबंधक ग्रामीण विकास प्राधिकरण, कार्यपालन यंत्री आरईएस, संभागीय यंत्री एमपीईबी, कार्यपालन यंत्री गृह निर्माण मंडल, जिला रोजगार अधिकारी, मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत गुना, आरोन, राघौगढ़, चांचौडा, बमोरी, श्रम पदाधिकारी आदि उपस्थित रहे।
        बैठक में श्रम पदाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि मध्‍यप्रदेश बंधक श्रम प्रथा समाप्ति अधिनियम 1976 के तहत जिले में यदि बंधुआ मजदूर के सूचना मिलती है, तो उन्‍हें विमुक्‍त कराने हेतु कार्यवाही की जाती है। विमुक्‍त कराने के उपरांत 20-20 हजार रूपये की आर्थिक सहायता तत्‍काल दी जाती है। संबंधित व्‍यक्ति के विरूद्ध जो उन्‍हें बंधक बनाये हुए था, प्रकरण दर्ज होता है। प्रकरण का निराकरण अदालत से हो जाने के उपरांत प्रत्‍येक व्‍यक्ति को एक-एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता एवं महिलाओं को 2-2 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। जिले में अभी तक 20 बुधंआ मजदूर को विमुक्‍त कराया गया है। बैठक में बताया गया कि यदि किसी भी अधिकारी अथवा व्‍यक्ति को जानकारी मिलती है कि किसी व्‍यक्ति से दबाव पूर्वक काम कराया जा रहा है, तो उसकी सूचना संबंधित एसडीएम, तहसीलदार अथवा थाने या श्रम पदाधिकारी को दें, कार्यवाही की जाएगी। श्रम पदाधिकारी का नंबर 93405-33381 है।
        कलेक्‍टर श्री फ्रेंक नोबल ए ने निर्देश दिए कि जिले में यदि कोई भी व्‍यक्ति किसी भी व्‍यक्ति से जबरन काम कराते हुए पाया गया तो कृत्‍य को बंधुआ मजदूरी मानते हुए संबंधित के विरूद्ध एफ.आई.आर. दर्ज कराएं और बंधुआ मजदूर के पुर्नवास की व्‍यवस्‍था शीघ्र की जाए। कलेक्‍टर ने कहा किसी भी व्‍यक्ति से दबावपूर्वक बलात ढंग से कार्य कराया जाता है, खाने-पीने की सुविधा नही दी जाती है, यातना दी जाती है, तो वह बंधुआ मजदूरी की श्रेणी में आयेगा। उन्‍होंने निर्देश दिए कि इसके लिए अभियान चलाया जाये।
        श्रम पदाधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान 135 बाहर से लौटे थे, 128 ने रोजगार के लिए पंजीयन कराया था, जिनमें से 117 लोगों को मनरेगा के तहत रोजगार दिया गया। कलेक्‍टर ने एसडीएम, तहसीलदार, सीईओ जनपद, मुख्‍य नगर पालिका अधिकारी सभी को बंधुआ मजदूरी की सूचना पाते ही उन्‍हें विमुक्‍त कराने की कार्यवाही कर मजदूरों का पुर्नवास कराने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए।



 
(60 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer