समाचार
|| डिफेक्टिव ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपीएटी मशीनें बीईएल बैंगलुरू भेजने के निर्देश || खण्डवा जिले की प्रभारी मंत्री सुश्री ठाकुर 18 को खण्डवा आयेंगी || प्रत्येक आँगनवाड़ी में पोषण पंचायत का होगा आयोजन || ग्रामीण आजीविका मिशन की स्व सहायता समूह ने चलाया टीकाकरण अभियान || गली मोहल्लों और खेत-खलियान तक पहुंचे कोविड के टीके पहली बार वैक्सीनेशन महाअभियान-03 में बनाए सबसे ज्यादा सत्र || आज होगा प्रधानमंत्री उज्जवला-2 का शुभारंभ || कर्त्तव्य पथ पर अविचल कर्मयोगी हैं मोदी जी -शिवराज सिंह चौहान || शोध क्षमता प्रशिक्षण का हुआ आयोजन || प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जन-कल्याण और सुराज के प्रतीक – मुख्यमंत्री श्री चौहान || दिव्यांगता को कमजोरी नहीं ताकत बनाएँ : राज्यपाल श्री पटेल
अन्य ख़बरें
स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा कक्षाएं प्रारंभ करने के संबंध में निर्देश जारी
-
सतना | 24-जुलाई-2021
    स्कूल शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सभी शासकीय और अशासकीय विद्यालयों में शिक्षण सत्र 2021-22 के लिए 26 जुलाई 2021 से कक्षा 9वीं से 12वीं तक की कक्षाएं प्रारंभ एवं संचालित करने के लिए कैलेंडर एवं दिशा-निर्देश जारी किए हैं। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा विद्यार्थियों के भविष्य और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करते हुए स्कूल प्रारंभ करने के निर्देश दिए गए थे।
    स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देशानुसार प्रदेश के समस्त शासकीय प्राथमिक, माध्यमिक, हाई स्कूल, हायर सेकेण्डरी विद्यालयों में शैक्षणिक तथा गैर शैक्षणिक स्टॉफ शत-प्रतिशत उपस्थित रहेगा। शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों के समस्त शिक्षकों एवं कर्मचारियों का प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीनेशन कराया जाए। वैक्सीनेशन की कार्यवाही अभियान के रूप में एक नियत समय-सीमा में पूर्ण की जाए। पालकों की लिखित सहमति से ही विद्यार्थी विद्यालय में उपस्थित होगें। विद्यालयों को प्रारंभ करने के लिये विभाग द्वारा जारी कैलेण्डर के अनुसार 26 जुलाई 2021 से कक्षा 11वीं एवं 12वीं (सप्ताह में 2 दिवस), कक्षा 12वीं के लिए सोमवार एवं गुरूवार तथा कक्षा 11वीं के लिए मंगलवार एवं शुक्रवार का दिन नियत किया जा सकता है। विद्यालय 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ चलेंगे। 5 अगस्त 2021 से कक्षा 9 वीं से 12वीं तक, कक्षा 12वीं के लिए सोमवार एवं गुरूवार तथा कक्षा 11वीं के लिए मंगलवार एवं शुक्रवार दिन नियत किया जा सकता है। कक्षा 10 के लिए बुधवार एवं कक्षा 9 के लिए शनिवार नियत किया जा सकता है। विद्यालय 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ ही चलेंगें।
 जारी आदेश में बताया गया कि ऑनलाईन कक्षाओं का संचालन भी जारी रहेगा। विद्यालय प्रबंधन, विद्यार्थियों को इस रीति से विद्यालय में आमंत्रित कर सकेगा कि विद्यालय की आधारभूत संरचना अनुसार कक्षा में विद्यार्थियों के बैठने की कुल क्षमता के 50 प्रतिशत से अधिक न हो। संस्था प्रमुख विद्यालय की क्षमता अनुसार आवश्यक निर्णय लेगें ताकि कोविड-19 के लिये नियत प्रोटोकाल का पालन हो सके। विद्यालय में प्रार्थना सभा, स्वीमिंग पूल इत्यादि सामूहिक गतिविधियाँ प्रतिबंधित रहेंगी। किसी भी स्थिति में विद्यार्थी एक स्थान पर एकत्रित न हो इस बात की विशेष निगरानी रखी जाये।यदि विद्यालय द्वारा परिवहन सुविधा का प्रबंधन किया जा रहा है, तो बसों या अन्य परिवहन वाहनों में समुचित भौतिकं दूरी सुनिश्चित करते हुए 50 प्रतिशत क्षमता से चलाई जाएगी और बसों या अन्य परिवहन वाहनों का 1 प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट के उपयोग से सैनिटाइजेशन सुनिश्चित किया जायेगा। कक्षा 11वीं एवं कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों के लिये छात्रावास भी 26 जुलाई 2021 से प्रारंभ किए जा सकेंगें। छात्रावासों में छात्रों के आगमन से पूर्व नियत कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए आवश्यक तैयारियां की जाए एवं प्रोटाकाल का पालन अनिवार्य होगा। छात्रावास में कार्यरत समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी का टीकाकरण अनिवार्य होगा। छात्रावास के सैनिटाइजेशन एवं बाथरूम इत्यादि की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। कक्षा 12वीं के लिए 5 अगस्त 2021 से कोचिंग संस्थाएं प्रारंभ की जा सकेगी। कोचिंग संस्थान में कार्यरत समस्त शिक्षकों एवं स्टॉफ के लिये वैक्सीनेशन अनिवार्य होगा। कोंचिग संस्थानों के सैनिटाइजेशन एवं बाथरूम इत्यादि की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। कोचिंग संचालन में भी नियत कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करना अनिवार्य होगा। स्थानीय प्रशासन कोचिंग संस्थानों के संचालन की नियमित रूप से इस बात की जांच करेगा कि उक्त संस्थानों द्वारा कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन किया जा रहा है। विद्यालय, छात्रावास एवं कोचिंग संस्थान को निर्धारित किए गए कैलेण्डर अनुसार खोले जाने के संबंध में स्थानीय परिस्थितियों के दृष्टिगत आवश्यक निर्णय हेतु प्रकरण जिला आपदा प्रबंधन समिति में प्रस्तुत किया जाएगा। जिला आपदा प्रबंधन समिति तदनुसार उक्त संस्थाओं को प्रांरभ करने के बारे में अंतिम निर्णय लेगी। यदि जिला आपदा प्रबंधन समिति, प्रस्ताव से भिन्न मत रखती है तो संबंधित कलेक्टर कारण दर्शित करते हुए स्कूल शिक्षा विभाग को वस्तु स्थिति से अवगत कराएंगे। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किये गये स्वास्थ्य एवं सुरक्षा संबंधी एसओपी एवं गाईडलाईन्स का पालन अनिवार्य होगा। प्राचार्य यह सुनिश्चित करेंगे कि समस्त स्टाफ का कोविड प्रतिरोधक टीकाकरण हो गया हो। यदि स्टाफ के किसी सदस्य द्वारा टीका नहीं लगवाया गया हो तो तुरंत टीका लगवाने के लिये निर्देशित करें। पालन न करने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाए। प्राचार्य/छात्रावास अधीक्षक समय-समय पर छात्रों तथा स्टाफ का रेण्डम कोविड-19 का टेस्ट कराये।
 
(55 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer