समाचार
|| ग्राम कर्री के विक्रेता पर एफआईआर दर्ज || केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्र पर पुष्प अर्पित किए || रोजगार मेले में चयनित युवाओं को दिया गया प्रशिक्षण || रविवार को लगाए जायेंगे टीके || जिले में 9 हजार 791 लोगों को लगाया गया कोविड- 19 का टीका || कलेक्टर श्री रोहित सिंह भ्रमण पर पहुंचे ग्राम लिंगा- पिपरिया || कलेक्टर ने किया वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण || जल संरक्षण और किसानों के लिए वरदान बन रहें छोटे-छोटे स्टापडेम "खुशियों की दास्तां" || रेत का अवैध परिवहन करते हुए 3 ट्रेक्टर-ट्राली और 1 डम्फर किया जप्त || पंडित दीनदयाल जयंती पर व्याख्यानमाला का आयोजन
अन्य ख़बरें
सामान्य जनजीवन की सभी सुविधाएं दिव्यांग साथियों को भी मिलें, यही शासन के प्रयास हैं–मुख्यमंत्री श्री चौहान
सामाजिक अधिकारिता शिविर में छिंदवाडा जिले के 4146 दिव्यांगजनों को लगभग 4.32 करोड़ रूपये लागत के सहायक उपकरण नि:शुल्क वितरित
छिन्दवाड़ा | 31-जुलाई-2021
   प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्य आतिथ्य एवं केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ.वीरेन्द्र कुमार की अध्यक्षता में वर्चुअल उपस्थिति में शनिवार को ‍छिंदवाडा जिला मुख्यालय के स्थानीय एफ.डी.डी.आई. इमलीखेड़ा में भारत सरकार की एडिप योजना के अंतर्गत दिव्यांगजनों को नि:शुल्क सहायक उपकरण वितरण के लिये सामाजिक अधिकारिता शिविर संपन्न हुआ। सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के अधीन कार्यरत भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को), कानपुर द्वारा जिला प्रशासन छिंदवाड़ा, सामाजिक न्याय विभाग और भारतीय रेडक्रास सोसायटी के सहयोग से आयोजित इस शिविर में जिले के 4146 दिव्यांगजनों को लगभग 4.32 करोड़ रूपये लागत के सहायक उपकरण नि:शुल्क वितरित किये गये।
      इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य ‍अतिथि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मध्यप्रदेश और छिंदवाड़ावासियों की ओर से सभी अतिथियों और कार्यक्रम से जुड़े हुए जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों का स्वागत करते हुए कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि छिंदवाड़ा जिले में आयोजित इस कार्यक्रम के माध्यम से दिव्यांग जनों की सेवा का अवसर मुझे मिला है। उन्होंने सभी दिव्यांग जनों से कहा कि  आप सभी मन से बहुत ही मजबूत हैं। भगवान किसी एक अंग को कमजोर करता है तो किसी और अंग को दिव्य शक्ति जरूर देता है। लोग शरीर से स्वस्थ दिखते हैं, उनमें भी वैचारिक अथवा आचरण संबंधी कोई ना कोई कमी रहती है, इसीलिए दिव्यांग साथी अपने आप को किसी भी तरह से कमजोर ना समझें। सामान्य जनजीवन में सभी सुविधाएं दिव्यांग साथियों को भी मिले यही शासन के प्रयास हैं। स्कूल, कॉलेज, दफ्तर, रेल, बस सभी जगह इन दिव्यांगों को भी पूरी सुविधाएं मिलेंगी जिससे वे आत्मनिर्भरता और आत्मविश्वास के साथ अपना जीवन जी सकेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भारत सरकार से छिंदवाड़ा जिले में इस शिविर के आयोजन के लिये धन्यवाद ज्ञापित करते हुये इसी तरह प्रदेश के अन्य जिलों में भी इस तरह के सामाजिक अधिकारिता शिविरों का आयोजन करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि इस शिविर के माध्यम से आज जो सहायक उपकरण दिव्यांग साथियों को मिल रहे हैं, उनसे दिव्यांग जनों का जीवन आसान बनाने में मदद मिलेगी। दिव्यांगों को स्वावलंबी, सशक्त व आत्मनिर्भर बनाने और समाज की मुख्यधारा से जोड़ने में ये सहायक होंगे। साथ ही ये उपकरण सामाजिक जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में काम करने और आजीविका चलाने में दिव्यांग जनों के मददगार होंगे। उन्होंने दिव्यांग जनों और ट्रांसजेंडर्स के लिए शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाओं और प्रदेश के लाभान्वित हितग्राहियों की जानकारी से भी अवगत कराया।इस अवसर पर उन्होंने कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए जिला प्रशासन छिंदवाड़ा की टीम को बधाई भी दी। 
      इस अवसर पर केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के विजन को ध्यान में रखते हुये दिव्यांगजनों के कौशल विकास प्रशिक्षण पर जोर दिया जा रहा है ताकि वे न केवल आत्मनिर्भर बन सकें, बल्कि अपने परिवार की आजीविका भी कमा सके। एडिप योजना के अंतर्गत वितरित सहायक उपकरणों से दिव्यांगजनों को निश्चित रूप से सम्मानजनक जीवन व्यतीत करने में मदद मिलेगी। उन्होंने उनके मंत्रालय द्वारा पिछले 7 वर्षो और चालू वर्ष के दौरान दिव्यांगजनों के लिये किये गये कार्यो की विस्तार से जानकारी भी दी। केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री सुश्री भौमिक ने प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा दिव्यांगजनों को दिव्यांगजन का नाम देकर समाज की सोच और रवैये में बदलाव लाकर आमूल-चूल परिवर्तन किया है जिससे दिव्यांगजनों में आत्म विश्वास भी पैदा हुआ है। उन्होंने कहा कि सहायक उपकरणों के माध्यम से दिव्यांगजनों के सपने साकार होंगे और उनका जीवन  आसान बन सकेगा।  
      एफ.डी.डी.आई.इमलीखेड़ा में आयोजित इस कार्यक्रम का वर्चुअल शुभारंभ मुख्य अतिथि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ.वीरेन्द्र कुमार और केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री सुश्री प्रतिमा भौमिक ने ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया। इसके बाद एफ.डी.डी.आई. इमलीखेड़ा में उपस्थित अतिथियों राज्य सभा सांसद डॉ.विकास महात्मे, विधायकगण सर्वश्री सोहन वाल्मीकी, सुनील उईके, सुजीत चौधरी, विजय चौरे और निलेश उईके, जिला पंचायत की प्रशासनिक समिति की प्रधान श्रीमती कांता ठाकुर, पूर्व मंत्री चौधरी चंद्रभान सिंह व श्री नाना भाऊ मोहोड़, पूर्व विधायक श्री ताराचंद बावरिया, जिला क्राइसिस मेनेजमेंट कमेटी के सदस्य श्री विवेक साहू, सर्वश्री शेषराव यादव, विजय झांझरी व कन्हईराम रघुवंशी द्वारा दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का औपचारिक शुभारंभ किया गया। इस दौरान संयुक्त निदेशक एलिम्को श्री उमेश झलानी, इकाई प्रमुख एलिम्को जबलपुर श्री अनुपम प्रकाश, श्री निशांत व्दिवेदी व श्री अरुण पांडेय, जिला प्रशासन से कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन, पुलिस अधीक्षक श्री विवेक अग्रवाल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हरेंद्र नारायण, एसडीएम श्री अतुल सिंह, उपसंचालक सामाजिक न्याय श्री एस.के.गुप्ता, नगर पालिक निगम आयुक्त श्री हिमांशु सिंह व प्रशासनिक अधिकारी जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र श्री पंचलाल चंद्रवंशी सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारीगण और जिले के दिव्यांग लाभार्थी उपस्थित थे। भारत सरकार के दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की सचिव सुश्री अंजलि भावड़ा, संयुक्त सचिव डॉ.प्रबोध सेठ और एलिम्को के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री डी.आर.सरीन ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा कार्यक्रम में सम्मलित हुये। कार्यक्रम का आयोजन कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुये किया गया।
   शिविर में वितरित सहायक उपकरण– उप संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण श्री गुप्ता ने बताया कि जिले की जनपद पंचायत जुन्नारदेव के 703, परासिया के 197, तामिया के 451, हर्रई के 392, अमरवाड़ा के 315, चौरई के 255, बिछुआ के 300, मोहखेड़ के 309, सौंसर के 402, छिन्दवाड़ा के 567 और पांढुर्णा के 245 दिव्यांगजनों को 180 मोट्राइज्ड ट्रायसाईकल, एक सरवाइकल कॉलर,1223 ट्रायसाइकिल, 967 व्हील चेयर, 83 सी.पी.चेयर, 1490 वैशाखी, 897 वॉकिंग स्टिक, 117 रोलेटर, 480 एम.एस.आई.ई.डी. किट, एक हजार 70 बी.टी.ई. डिजीटल टाइप हियरिंग, 40 ब्रेल केन फोल्डिंग, 47 ब्रेल किट, 198 ए.डी.एल.किट, 156 सेल फोन, 235 स्मार्ट केन, 141 स्मार्ट फोन व 43 डेजी प्लेयर सहायक उपकरण वितरित किये गये। उन्होंने बताया कि जिले में एडिप योजना के अंतर्गत 4146 लाभार्थियों को चिन्हित किया गया था। इन पूर्व चिन्हित लाभार्थियों को लगभग 4 करोड़ 32 लाख रूपये लागत के 8291 सहायक उपकरणों का निःशुल्क वितरण किया जाना आज से जिले भर में प्रारम्भ हो गया है। सहायक उपकरण मिलने से अब इन दिव्यांगजनों का जीवन आसान होगा और वे जीविकोपार्जन कर अपने परिवार का भी सहयोग कर सकेंगे। इससे उनमें स्वाभिमान, आत्मविश्वास और आत्मनिर्भरता आएगी।इस सुविधा के लिए सर्वश्री आर्यन पहाड़े, नितीश बनवारी, शिवकुमार विश्वकर्मा, जतिन अल्डक, श्रीमती इंदिरा बाई, मकर लाल, राजेश, श्रीमती प्रियदर्शिनी और अन्य दिव्यांगजनों ने तहेदिल से शासन को धन्यवाद दिया है।                                                                      
(56 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer