समाचार
|| कोरोना कण्ट्रोल रूम पहुंचकर कलेक्टर ने लिया डाटा एण्ट्री का जायजा || कोरोना वैक्सीनेशन महाअभियान के चौथे चरण में भी हुआ रिकार्ड वैक्सीनेशन || मुख्यमंत्री श्री चौहान को अनुग्रह सहायता योजना के हितग्राही दे रहे धन्यवाद "खुशियो की दास्ता" || जबलपुर स्मार्ट सिटी द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव का शुभारंभ || प्रथम डोज का 100 प्रतिशत टीकाकरण कार्य संपन्न || कोई न छूटे ... अभियान के तहत कलेक्ट्रेट कन्ट्रोल रूम में 193 अधिकारियों-कर्मचारियों ने लगवाया कोरोना का टीका || जनसुनवाई कार्यक्रम आज || डुमना एयरपोर्ट पर किया गया एंटी हाइजैकिंग का अभ्यास || एएनएम, आगनबाडी कार्यकर्ता को प्रशस्ती पत्र और चैक प्रदान || कोरोना कण्ट्रोल रूम पहुंचकर कलेक्टर ने लिया डाटा एण्ट्री का जायजा
अन्य ख़बरें
डेंगू नियंत्रण की गतिविधियों का निरीक्षण
डेंगू के बचाव हेतु सावधानी बरतने की अपील
धार | 03-अगस्त-2021
    वर्तमान में मौसमी बीमारी डेंगू के प्रकरण संज्ञान में आने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी  डॉ. जितेन्द्र चौधरी, जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ. संजय भण्डारी, जिला मलेरिया अधिकारी श्री धर्मेन्द्र जैन, जिला मलेरिया सलाहकार कटारे द्वारा विकासखण्ड सरदारपुर के ग्राम अमझेरा, सगवाल, बान्देड़ी का दौरा कर डेंगू नियंत्रण की गतिविधियों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान घरो के अंदर व आस-पास जल भराव के अलावा पानी के कन्टेनरों का निरीक्षण किया गया। कई घरों में डेंगू मच्छर के लार्वा पाये गये, जिन्हे खाली करवाया गया बारीष में घरों की छतो पर रखे टायर, कबाड़ा, गमलो में पानी भरा होने से डेंगू मच्छरों के लार्वा पनपता है। लोगो को समझाईष देकर डेंगू के प्रति जागरूकता के साथ अपने घरों में रखे पानी के कंटेनरो को प्रति सप्ताह साफ करने व पानी की टंकीयो को ढक कर रखने के निर्देश दिये गये। निरीक्षण के दौरान सेक्टर सुपरवाईजर, ए.एन.एम, एम.पी.डब्ल्यू, एवं ग्राम की आशा कार्यकर्ता उपस्थित थे।
   निरीक्षण के दौरान आम जनता से अपील गई है कि डेंगू के बचाव के लिए इन बातों पर ध्यान देने को अनुरोध किया है। इनमें छत एवं घर के आस-पास अनुपयोगी सामग्री में बारिष का पानी जमा न होने दे, इनमें डेंगू फैलाने वाले एडिज मच्छर पैदा होते है। सप्ताह में एक बार अपनी टंकी, कंटेनर, बाल्टी, कूलर्स आदि का पानी खाली कर दोबार पानी भरने से पहले उन्हें अच्छी तरह सुखाए। पानी के बर्तन, टंकियों आदि का ढककर रखें, हैण्डपंप के आस-पास पानी एकत्र न होने दे। घर के आस-पास के गड्डों को मिट्टी से भर दें। पानी भरे रहने वाले स्थानों पर मिट्टी का तेल या जला हुआ इंजन का तेल डालें। मच्छर आमतौर पर घर के अंदर एवं घर के बाहर अंधेरे एवं नमीयुक्त जगह बर्तन पर घरों में अलमारी में जहॉ कपड़े लटके रहते है पर्दो के पिछे, फर्नीचर के नीचे लटके हुए वायर, रस्सी आदि पर छिप कर बैठते है। अतः नियमित अपने घरों की साफ-सफाई की जावे। सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें। शाम को नीम की पत्तियों का धुआ करे तथा पूरी बांह क कपड़े पहने। बुखार आने पर अपने नजदीकी शासकीय चिकित्सालय में खून की जॉंच करवाये।
 
(56 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer