समाचार
|| इंदौर संभाग में उप निर्वाचन शांतिपूर्ण, सुव्यवस्थित तथा पारदर्शी रूप से सम्पन्न कराने के लिये सभी तैयारियां व्यापक स्तर पर जारी || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मिलाद-उन-नबी पर दी शुभकामनाएं || प्रदेश में 163 ऑक्सीजन प्लांट हुए क्रियाशील प्रतिदिन 182 मी.टन ऑक्सीजन का उत्पादन || मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश की अपील || भू-अभिलेखों में सुधार के लिए चलाये जा रहे अभियान के तहत अभी तक 285 राजस्व शिविर आयोजित || ‘‘जिले मे 7540 मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध‘‘ || कचरा फैलाने और स्वच्छता नियम उल्लंघन पर होगा स्पॉट फाइन || आर्थिक सहायता स्वीकृत || निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पाये जाने पर 8 शिक्षक हुये निलम्बित || प्रदेश में पहली बार इंदौर में ट्रांसमिशन कंपनी ने किया हाइब्रिड स्विचगियर मॉड्यूल तकनीक का उपयोग
अन्य ख़बरें
कलेक्टर श्री दुबे ने की जल जीवन मिशन की समीक्षा
गुणवत्ता के साथ कार्य पूर्ण कराने प्रत्येक स्तर पर सघन मॉनीटरिंग के दिए निर्देश
रायसेन | 09-सितम्बर-2021
    जल जीवन मिशन शासन की अत्यंत महत्वाकांक्षी योजना है, जिसके माध्यम से घर-घर तक नल के माध्यम से पेयजल पहुँचाया जाएगा। योजना में प्रयुक्त होने वाले पाइप और अन्य सामग्री तथा कार्य की गुणवत्ता में किसी प्रकार का समझौता नहीं होना चाहिए। यह बात कलेक्टर श्री अरविंद कुमार दुबे ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित जल जीवन मिशन की बैठक में कही।
   कलेक्टर श्री दुबे ने जल जीवन मिशन की डीपीआर की जानकारी लेते हुए कहा कि मिशन के तहत जिले का कोई भी गॉव छूटे नहीं। उन्होंने कहा कि ठेकेदार कमतर गुणवत्ता का पाइप और सामग्री का उपयोग न कर पाएं, इसके लिए प्रत्येक स्तर पर नियमित और सघन मॉनीटरिंग सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे गॉव जहां पेयजल की समस्या है, भू-जल स्तर कम है। उन गॉवों में पेयजल आपूर्ति हेतु विशेष ध्यान दिया जाए।   कलेक्टर श्री दुबे ने कहा कि पेयजल सप्लाई पाईपलाइन के आसपास गंदा पानी एकत्रित ना हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए। साथ ही उन्होंने पाईपलाइन बिछाने के पूर्व बेस तैयार कराने के भी निर्देश दिए ताकि पाईपलाइन क्षतिग्रस्त ना हो।
   कलेक्टर श्री दुबे ने निर्देश देते हुए कहा कि गॉवों में स्कूल तथा आंगनबाड़ियों को भी नल जल मिशन में शामिल किया जाए। उन्होंने पेयजल सप्लाई हेतु पानी की टंकियों की जानकारी लेते हुए निर्माणाधीन टंकियों का कार्य शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिए। साथ ही जिन टंकियों का कार्य अभी तक प्रारंभ नहीं हुआ है, उन्हें शीघ्र प्रारंभ करते हुए पूर्ण किया जाए। कलेक्टर ने नल जल योजना के सुचारू क्रियान्वयन के लिए ग्रामीणों को समझाईश देने के भी निर्देश दिए, जिससे कि प्रतिमाह राशि एकत्रित हो सके। बैठक में डीएफओ श्री अजय पाण्डेय ने कहा कि जल जीवन मिशन योजना के क्रियान्वयन में आवश्यक सहयोग हेतु उनका विभाग सदैव तत्पर है। योजना के कार्य हेतु उनके विभाग से संबंधित जो भी स्वीकृति या अनुमति जरूरी है, वह आवेदन प्राप्त होने पर तत्काल प्रदान की जा रही है।
   बैठक में पीएचई विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री राजकुमार सिंह ने बताया कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत जिले में 13105.49 लाख रू लागत की 307 योजनाओं को प्रशासकीय स्वीकृति मिल गई है, जिनमें 254 योजनाओं में कार्यादेश जारी कर दिया गया है। इनमें से 30 योजनाएं पूर्ण हो गई हैं तथा 53 योजनाओं में निविदा की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। इसके अतिरिक्त 198 योजनाएं प्रगतिरत हैं और 26 योजनाएं अप्रारंभ हैं, जिनका कार्य भी शीघ्र प्रारंभ हो जाएगा। बैठक में जानकारी दी गई कि जिले में प्रस्तावित नल कनेक्शन की संख्या 46310 हैं तथा किए गए नल कनेक्शन की संख्या 9696 है। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री पीसी शर्मा, जनपद सीईओ सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।  

 
(39 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2021नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer