समाचार
|| जन-कल्याण एवं सुराज अभियान में मुख्यमंत्री श्री चौहान देंगे अनेक सौगातें || सुराज का मतलब है बिना लिए-दिए और बिना विलंब के लोगों के काम हो : मुख्यमंत्री श्री चौहान || 39 दिव्यांगों को मिले सहायक उपकरण जिला अस्पताल में संपन्न हुआ शिविर || भोपाल के पास अचारपुरा में बनेगी खुर्जा की पोटरी और मुरादाबाद के डेकोरेटिव आइटम || सुराज का मतलब है बिना लिए-दिए और बिना विलंब के लोगों के काम हो : मुख्यमंत्री श्री चौहान || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कलेक्टर्स एवं कमिश्नर से किया संवाद || केंद्रीय मंत्री श्री सिंधिया से भेंट कर सांसद श्री डामोर ने रतलाम में हवाई अड्डे की मांग की || गर्भवती मां को टीकाकरण से नुकसान नहीं, बच्चे के जीवन की सुरक्षा भी होगी || सुराज का मतलब है बिना लिए-दिए और बिना विलंब के लोगों के काम हो : मुख्यमंत्री श्री चौहान || टीएल के जिन प्रकरणों का निराकरण नहीं हुआ, की फाइल लाए
अन्य ख़बरें
डेंगू पर प्रहार अभियान के तहत् रोकथाम एवं जागरूकता दल को कलेक्टर श्री द्विवेदी ने किया रवाना
-
खण्डवा | 15-सितम्बर-2021
      डेंगू पर प्रहार अभियान के तहत् 15 सितम्बर को डेंगू नियंत्रण महा अभियान प्रारंभ किया गया। कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी ने बुधवार को नगर निगम परिसर से डेंगू जागरूकता दल व डेंगू प्रचार वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.डी.एस. चौहान, नगर पालिक निगम उपायुक्त श्री दिनेश मिश्रा, एपिडिमियोलॉजिस्ट डॉ. योगेश शर्मा, जिला मलेरिया अधिकारी श्री करण सिंह भूरिया, डीपीएम डॉ. शिवराज सिंह चौहान, नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।
    मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. चौहान ने बताया कि यह दल शहर के विभिन्न वार्डो में जाकर लार्वा सर्वे के साथ-साथ लार्वा को नष्ट करने का कार्य करेगें और दल के द्वारा कीटनाशक दवाई का छिड़काव करेगें। साथ ही डेंगू से बचने की समझाईस के साथ पम्पलेट भी वितरित करेगेें। इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्र में आषा व स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा घर-घर जाकर लार्वा सर्वे किया जा रहा है। सर्वे के दौरान बुखार से पीड़ित व्यक्तियों की रेपिड किट से जॉंच की जा रही है। वहीं दल द्वारा लार्वा पाये जाने पर लार्वा को नष्ट किया जा रहा है। डेंगू व मलेरिया के बचाव संबंधी समझाईष भी दी जा रही है। मच्छरों के काटने से ही डेंगू व मलेरिया रोग होता है इसके मुख्य लक्षण है तेज बुखार, सिर दर्द, उल्टी, जोडों में दर्द एवं मांसपेशियों में दर्द होता है ऐसे लक्षण दिखने पर तुरन्त सरकारी अस्पताल एवं स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर खून की जांच निःशुल्क करवायें।
    मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. चौहान ने बताया कि डेंगू का मच्छर साफ पानी में पैदा होता है व दिन के समय में काटता है। घर के आस-पास पानी के गड्डे न रहे, घर में पानी की टंकियों की नियमित रूप से साफ सफाई करें एवं उसे ढक कर रखें, कूलर बर्तन आदि को भी साफ करें व पीने के पानी को साफ स्थान पर ढककर रखें। शरीर के अंगों को भी अधिकाधिक ढक कर रखे पूरे आस्तिन के कपड़े पहने जिससे मच्छरों से बचा जा सके। नीम की पत्तियों का धुऑं करने से भी मच्छरो का प्रकोप कम होता है। मच्छरदानी का प्रयोग करें। लार्वा को नष्ट करने के लिए पैराथ्रम का छिड़काव किया जाता है अथवा पानी से गड्डों में जला हुआ आईल डाले ताकि लार्वा को पनपने से रोका जा सके। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. चौहान ने सभी जनप्रतिनिधि, स्वयं सेवी संस्थाओं के पदाधिकारियों, धर्म गुरूओं, सामाज सेवी व आम नागरिकों से अपील की कि वे अपने घर के आस-पास साफ-सफाई रखे और जहां भी लार्वा हो उसे नष्ट करें ताकि अपने शहर व ग्राम में मलेरिया व डेंगू से बचा जा सकें।
 
(5 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer