समाचार
|| महिलाओं को मिलेगी चूल्हें के धुएं से मुक्ति – केन्द्रीय गृह मंत्री श्री शाह || मध्यप्रदेश ने वैक्सीनेशन में फिर बनाया नया कीर्तिमान || नगर निगम आयुक्त द्वारा वर्षा काल के बाद किए जाने वाले कार्यों के संबंध में ली गई समीक्षा बैठक || जनसुनवाई पुनः शुरू होगी सामान्य प्रशासन मंत्रालय द्वारा पत्र जारी || श्रीगणेश प्रतिमाओं के विसर्जन हेतु शहर के विभिन्न स्थानों पर बनाये गये पर्यावरण हितैषी कुण्ड || मवेशियों का सड़क पर नहीं सुरक्षित स्थान पर बैठना सुनिश्चित करें || प्रधानमंत्री उज्जवला योजना अंतर्गत निःशुल्क गैस कनेक्शन वितरण कार्यक्रम सम्पन्न || आजीविका मिशन समूह की ग्रामीण महिलाओं को नि:शुल्क बकरी पालन का दिया गया प्रशिक्षण || जो दिव्यांग या वृद्धजन टीकाकरण केंद्र नहीं आ सकते उन्हें घर जाकर टीका लगाया जाए- मुख्यमंत्री || जिले में अब तक 766.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज
अन्य ख़बरें
उत्तर भारत का देशी गौ-भैंस संरक्षण का राष्ट्रीय ब्रीडिंग सेंटर कीरतपुर में तैयार
देशी नस्लों को विलुप्ति से बचायेगा सेंटर
सीधी | 15-सितम्बर-2021
     उत्तर भारत के लिये मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले के पशु प्रजनन प्रक्षेत्र, कीरतपुर (इटारसी) में नेशनल कामधेनु ब्रीडिंग सेंटर की स्थापना का कार्य पूर्ण हो गया है। केन्द्र का उद्देश्य भारतीय गौ-भैंस वंशीय नस्लों का संरक्षण एवं संवर्धन, उत्पादन एवं उत्पादकता में वृद्धि, अनुवांशिक गुणवत्ता का उन्नयन, प्रमाणित जर्मप्लाज्म का प्रदाय और देशी नस्लों को विलुप्ति से बचाना है।
   अपर मुख्य सचिव श्री जे.एन. कंगेसाटिया ने बताया कि भारत सरकार द्वारा देश में दो नेशनल कामधेनु ब्रीडिंग सेंटर (एनकेबीसी) स्थापना की स्वीकृति दी गई है। उत्तर भारत में मध्यप्रदेश के कीरतपुर में और दक्षिण भारत में आंध्रप्रदेश के नेल्लोर जिले में एनकेबीसी की स्थापना की जा रही है। प्रथम चरण में गायों की 13 नस्लें-साहीवाल, गिर, कांकरेज, रेड सिंधी, राठी, थारपारकर, मालवी, निमाड़ी, केनकथा, खिलारी, हरियाणा, गंगातीरी एवं गावलाव और भैंस की चार नस्लें- नीली राबी, जाफराबादी, भदावरी और मुर्रा संधारित की जाना है। कीरतपुर केन्द्र पर गायों की गिर, साहीवाल, थारपरकर, निमाड़ी, मालवी, कांकरेज, रेड सिंधी, राठी एवं खिलारी नस्ल की 195 और भैंस की मुर्रा, नीली राबी, भदावरी और जाफराबादी नस्ल की 107 के साथ हरियाणा, राठी, कांकरेज, निमाड़ी, मालवी, केनकथा और जाफराबादी नस्लों के 9 सांड उपलब्ध हैं।
   राज्य पशुधन एवं कुक्कुट विकास निगम के प्रबंध संचालक श्री एच.बी.एस. भदौरिया ने बताया कि ब्रीडिंग सेंटर केन्द्र शासन की शत-प्रतिशत 25 करोड़ रूपये  की सहायता से 270 एकड़ क्षेत्र में स्थापित किया जा रहा है। क्ष्ोत्र में 6 नवीन पशु शेड, क्वारन्टाइन शेड निर्माण के साथ 6 पशु शेड का जीर्णोद्धार, एप्रोच रोड, मेनगेट सुरक्षा कक्ष, बोरवेल, हारवेस्टिंग टैंक, बायोगैस, ड्रेनेज चैनल, दाना-भूसा गोदाम, ट्यूबवेल खनन आदि किया जा चुका है।
    
 
(3 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer