समाचार
|| जन-कल्याण एवं सुराज अभियान में मुख्यमंत्री श्री चौहान देंगे अनेक सौगातें || सुराज का मतलब है बिना लिए-दिए और बिना विलंब के लोगों के काम हो : मुख्यमंत्री श्री चौहान || 39 दिव्यांगों को मिले सहायक उपकरण जिला अस्पताल में संपन्न हुआ शिविर || भोपाल के पास अचारपुरा में बनेगी खुर्जा की पोटरी और मुरादाबाद के डेकोरेटिव आइटम || सुराज का मतलब है बिना लिए-दिए और बिना विलंब के लोगों के काम हो : मुख्यमंत्री श्री चौहान || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कलेक्टर्स एवं कमिश्नर से किया संवाद || केंद्रीय मंत्री श्री सिंधिया से भेंट कर सांसद श्री डामोर ने रतलाम में हवाई अड्डे की मांग की || गर्भवती मां को टीकाकरण से नुकसान नहीं, बच्चे के जीवन की सुरक्षा भी होगी || सुराज का मतलब है बिना लिए-दिए और बिना विलंब के लोगों के काम हो : मुख्यमंत्री श्री चौहान || टीएल के जिन प्रकरणों का निराकरण नहीं हुआ, की फाइल लाए
अन्य ख़बरें
आईटी पार्कों में भूखंड-निवेशकों को शानदार मौका
भोपाल आईटी पार्क में सर्वाधिक 16 भूखंड
शहडोल | 15-सितम्बर-2021
     मध्यप्रदेश के भोपाल, इंदौर और जबलपुर के आईटी पार्कों में आईटी कम्पनियों और संस्थाओं के लिए भूखंड लेने का सुनहरा अवसर है जहां वे स्थानीय युवाओं को रोजगार प्रदाताओं के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय आईटी कम्पनियों के साथ स्वस्थ्य व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा भी कर पाएंगे। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमित राठौर ने बताया कि भोपाल के 24, इंदौर के 2 तथा जबलपुर के एक भूखंड के लिए 27 अगस्त को पुनः प्रस्ताव आमंत्रित किये गए हैं। निवेशकों को 16 सितम्बर तक अपने प्रस्ताव प्रस्तुत करना होंगेI प्रस्ताव की शर्त अनुसार तकनीकी प्रस्तावों को 17 सितम्बर को सबके समक्ष खोला जाएगा एवं पात्र इकाइयों को भूखन्डों का आवंटन पारदर्शी प्रक्रिया अनुसार किया जाएगाI
आईटी पार्क के रूप में विकसित संरचना
मध्यप्रदेश शासन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा प्रदेश के प्रमुख शहरों भोपाल, इंदौर, जबलपुर एवं ग्वालियर मे आईटी पार्को का विकास किया गया हैI भोपाल में 212, इंदौर में 164, जबलपुर में 64 एवं ग्वालियर मे 100 एकड़ भूमि इन पार्कों में उपलब्ध कराई गई थीI
इन शहरों में आईटी पार्को के विकास के कार्य एवं निवेशकों को आकर्षित करने के लिए मध्यप्रदेश राज्य इलेक्ट्रॉनिक्स विकास निगम को नोडल एजेंसी बनाया गया हैI निगम द्वारा पार्को के विकास हेतु मध्यप्रदेश हाउसिंग बोर्ड को निर्माण एजेंसी नियुक्त किया हैI
निवेश और निवेशकों का आकर्षण
आईटी पार्को में निवेश को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के नौजवानों को प्रदेश में ही रोजगार उपलब्ध कराने और प्रदेश में अधिकाधिक निवेश आकर्षित करने के मध्यप्रदेश शासन द्वारा वर्ष 2016 में मध्यप्रदेश आईटी, आईटी ई एस और ईएसडीएम इन्वेस्टमेंट प्रमोशन पॉलिसी एवं स्कीम 2016 लागू की गई हैI
निवेशकों को 99 साल की लीज पर भूखंड
प्रदेश में निवेश करने की इच्छुक इकाइयों को रियायती दर पर विकसित भूमि का आवंटन 99 वर्ष की लीज पर किये जाने का प्रावधान हैI पूर्व में जिन इकाइयों को भूखंड आवंटित किए गए हैं उन्होंने भूमि पर भवन निर्माण एवं आवश्यक अधोसरंचना का विकास कर अपनी इकाइयों से उत्पादन कार्य प्रारंभ कर दिया है। प्रदेश के नवयुवकों को रोजगार उपलब्ध हो रहा है एवं प्रदेश को राजस्व की भी प्राप्ति होना प्रारंभ हुई हैI निवेश इकाइयो को शासन द्वारा विभिन्न प्रकार की सहायता जैसे कैपिटल इन्वेस्टमेंट इंट्रेस्ट, स्किल गेप और रजिस्ट्रेशन रिअम्बर्समेंट दी जा रही हैI
 
छोटी इकाइयों के लिए भी पर्याप्त स्पेस
प्रदेश के विभिन्न आईटी पार्कों मे छोटी इकाइयों अथवा ऐसी इकाइयां जो अपना व्यवसाय शीघ्र प्रारंभ करना चाहती हैं के लिए भी पर्याप्त स्पेस है। भोपाल में 1 लाख, इंदौर में 3 लाख, जबलपुर में 80 हजार एवं ग्वालियर में लगभग 1 लाख वर्ग फीट निर्मित क्षेत्र आईटी पार्कों के आधुनिक भवन मे उपलब्ध कराया गया हैI इन भवनों मे कम्पनियां अपना व्यवसाय प्रतिमाह न्यूनतम किराए पर भी प्रारंभ कर सकती है। कई कंपनियों द्वारा वर्तमान में अपना व्यवसाय भी इस स्पेस में किया जा रहा हैI इन कंपनियों को 30 वर्ष तक की अवधि के लिए निर्मित क्षेत्र उपलब्ध करवाया जाता हैI
भोपाल आई टी पार्क
भोपाल में राजा भोज एयरपोर्ट से 2 किलोमीटर की दूरी एवं रेलवे स्टेशन से 5 किलोमीटर की दूरी पर राजीव गांधी तकनीकी विश्वविद्यालय के पास 212 एकड़ में आईटी पार्क का विकास किया गया हैI इस पार्क में विभिन्न साइज़ के 116 भूखंडो का विकास किया गया हैI पार्क में आधुनिक स्तर का विकास जिसमें चोड़ी सड़कें, विद्युत आपूर्ति हेतु परिसर में 132 केवी एवं 33 केवी सब स्टेशन का निर्माण जिससे 24 घंटे एलटी और एचटी इलेक्ट्रिकल लाइन आपूर्ति के अलावा नर्मदा पाइप लाइन से ओव्हर टैंक के माध्यम से जल जल आपूर्ति, सीवेज लाइन एवं एसटीपी का निर्माण, उद्यानिकी हेतु लगभग 40 एकड़ पर 07 गार्डनों का निर्माण के साथ ही कामन व्यवस्था के रूप में ट्रेड पवेलियन, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, एम्पि थियेटर के लिए स्थान आरक्षित, बरसाती पानी के निकास की व्यवस्था, स्ट्रीट लाइट, नेटवर्किंग केबल के लिए आधुनिक ट्रेंच, कवर्ड कैम्पस, सुरक्षा गेट, सुरक्षा गार्ड की व्यवस्था , साफ सफाई की व्यवस्था, गार्डन संधारण हेतु व्यवस्था, इलेक्ट्रिकल संधारण के लिए 24 घंटे कर्मचारियों की उपलबद्धता इत्यादि सभी आधुनिक सुविधाए शासन द्वारा निवेशकर्ताओं को उपलब्ध कराई गई हैंI
इस पार्क में नवम्बर 2020 तक प्रथम आओ प्रथम पाओ के आधार पर 59 भूखंडो का आवंटन विभिन्न इकाइयों को किया गया था। वर्ष 2021 मे भूखंडो का आवंटन निविदा के माध्यम से पारदर्शी प्रक्रिया अपनाकर किए जाने का निर्णय लिया गयाI इस प्रक्रिया से निवेशकों का निवेश एवं भूखंड आवंटन हेतु रुझान बढ़ा है और इसका नतीजा ये रहा कि कोरोना के दौर में भी जनवरी, 2021 मे निविदा के माध्यम से भोपाल में 30 भूखंडो का आवंटन पारदर्शी प्रक्रिया अनुसार किया गया एवं लीज डीड कराई गई I
वर्तमान में कुछ प्रमुख कंपनियां जिनको भूखंडो का आवंटन किया गया है इसमें Soluzione, Appointy X-tranet Technologies, STPI, NIC, Dauto, Cyber futuristic, Noida, Technotask, Green Surfer, Future Green एवं HLBS प्रमुखतः हैंI
5 एकड़ भूमि पर आधुनिक भवन
भोपाल स्थित पार्क मे 5 एकड़ भूमि पर निगम द्वारा आधुनिक भवन का निर्माण वर्ष 2018 में पूर्ण किया गया। इस भवन में लगभग 1 लाख फ़ीट निर्मित क्षेत्र विभिन्न आईटी कंपनियों को 30 वर्ष तक की लीज पर प्रतिमाह किराए के आधार पर दिये जाने का प्रावधान है I वर्तमान मे इस भवन में 10 कंपनियों ने निर्मित क्षेत्र किराए पर लिये गये हैं अथवा लेने की प्रक्रिया में है जिसमें प्रमुख रूप से Artech (US), DoIT Lean India (Urope) ,MP Online, Sutherland (US), TCS एवं V-Group शामिल हैंI
(5 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer