समाचार
|| भाई और बहन ने एक साथ प्राप्त किया कोरोना सुरक्षा कवच "सफलता की कहानी" || दोस्ती की मिसाल – एक साथ लगवाया कोरोना टीका "सफलता की कहानी" || छिन्दवाडा में विधिक जागरूकता शिविर संपन्न || महाअभियान में 90 वर्षीय इंदिरा देवी ने लगवाया टीका "सफलता की कहानी" || उप संचालक कृषि श्री सिंह द्वारा पोषण वाटिका महाअभियान और पौधारोपण कार्यक्रम के अंतर्गत किया गया पौधारोपण || उज्ज्वला योजना के हितग्राहियों को विधायक करेंगे गैस कनेक्शन का वितरण || उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाए डॉ.पक्षवार ने भैंस के पेट से मृत बच्चे को निकाल कर भैंस की बचाई जान || प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत 10 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ || प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से हितग्राहियों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन का वितरण आज || टीकाकरण केंद्रों का निरीक्षण करने फील्ड पर पहुंचे कलेक्टर और एसपी
अन्य ख़बरें
जिला जल स्वच्छता मिशन की बैठक में बुनियादी कार्ययोजना पर चर्चा हुई
मानवीय जरुरत, कृषि, शाला, चिकित्सालय एवं आंगनबाड़ी के लिए पानी की उपलब्धता सुलभ हो, पेयजल स्त्रोत की ऐसी कार्य योजना न बनाये जो ड्राय रहे, सितम्बर 2023 तक ग्रामीण क्षेत्रों में टेप से वॉटर मिलने की कार्य योजना बनाये
छतरपुर | 15-सितम्बर-2021
   कलेक्टर छतरपुर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में बुधवार को सम्पन्न जिला जल स्वच्छता मिशन की बैठक में बुनियादी कार्ययोजना पर चर्चा हुई। बैठक में सीईओ जिला पंचायत ए.बी. सिंह सहित जिला जल स्वच्छता मिशन समिति के विभागीय सदस्यगण तथा विधायक प्रतिनिधि डॉ. नामदेव उपस्थित हुए। जिल जीवन मिशन का उद्देश्य है नियमित एवं दीर्घकालीन आधार पर गुणवत्ता युक्त पेयजल की पूर्ति करना। बैठक में लक्ष्य, संस्थागत, तंत्र, ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति, कार्यान्वयन सहायता एजेंसी, ग्राम एवं जिला कार्य योजना के घटक, सामुदायिक योगदान, कंवरजैन्स, किए जाने वाले कार्य तथा जिले के वर्तमान स्थिति एवं तैयारियों के संबंध में जानकारी दी गई।
   कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि मानवीय जरुरत के साथ-साथ कृषि में होने वाली सिंचाई, शाला, चिकित्सालय एवं आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए पानी की उपलब्धता सुलभ रहें इस दृष्टि से धरातल पर व्यवहारिक कार्य योजना बनाये। राजनगर, चंदला एवं गौरिहार क्षेत्र में केवल कुटनी डैम पर आधारित जलापूर्ति की योजना व्यवहारिक नहीं हो सकती है। इसके लिए अल्टरनेट स्त्रोत खोज और अगली बैठक में कार्य योजना प्रस्तुत करें।
   उन्होंने कहा कि अल्प वर्षा के मद्देनजर उपलब्ध जल के आधार पर ऐसी कार्य योजना बनाये जिससे समाज के लोगों को पेयजल उपलब्ध हो सके। पेयजल स्त्रोत की ऐसी कार्य योजना न बनाये जो ड्राय रहे, ऐसी योजना का कार्य पूर्ण नहीं माना जाएगा और यह पाये जाने पर जांच की जाएगी। बक्स्वाहा क्षेत्र में जिन स्त्रोत से जल आपूर्ति होगी, उनका दोबारा परीक्षण करें। जिससे किसी प्रकार व्यवधान न हो और सितम्बर 2023 तक घरों में नल कनेक्शन से जल आपूर्ति हो सके। जल निगम द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा पीएचई विभाग करें। वर्तमान में किए जा चुके कार्यों के साथ-साथ भविष्य में होने वाले कार्यों की सूची भी उपलब्ध कराते हुए हर हप्ते किए जा रहे कार्यों की प्रगति से भी अवगत कराए।
   कलेक्टर ने साफ शब्दों में कहा कि जल मिशन के निर्माणाधीन कार्यों की गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जाएगा। जहां-जहां कार्य चल रहे है वहां जरुरत के अनुसार जल उपलब्ध है कि नहीं का आंकलन भी करें। लोगों को स्वच्छ पानी मिले। क्षेत्रीय वसाहट की कोई भी बस्ती और वहां संचालित होने वाले शासकीय कार्यालय, चिकित्सालय, शाला, आंगनबाड़ी जल आपूर्ति से वंचित न रहे इसे ध्यान रखकर ही कार्य योजना तैयार करें। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि कार्य योजना तैयार करने के पूर्व वसाहट के जो क्षेत्र छूट गये उन क्षेत्रों में ग्राम सभा आयोजित करते हुए लोगों से चर्चा करें और उस आधार पर छूटे ग्रामों को कार्ययोजना में सम्मलित करें। आम लोगों से की गई चर्चा में जो जानकारी प्राप्त हो उसे पीएचई विभाग के एसडीओ स्तर के अधिकारी परीक्षण करें। जिस वक्त पाइप लाइन डाली जाए, उस समय सूक्ष्म रूप से मॉनीटिरिंग करें। पाइप लाइन व्यवस्थित रुप में डाले जिससे भविष्य में टूट फुट की संभावना कम हो।
   बैठक के प्रारंभ में जल जीवन मिशन में घरेलू जल कनेक्शन प्रदाय योजना में विकासखण्डवार स्वीकृत कार्यों की प्रस्तुति की गई। जिले के 1 हजार 80 ग्रामों में कार्य लिए गए। बैठक में रिट्रोफिट योजना, सिंगल विलेज, बहुग्राम योजना में प्रगतिरत, स्वीकृत, तथा तैयार की जाने वाले योजना की जानकारी दी गई।
ठेकेदारों का भुगतान रोके नहीं
स्वच्छता जल मिशन के निर्माण कार्यों की समीक्षा में कलेक्टर ने लवकुशनगर के एसडीओ पीएचई को निर्देश दिए कि कराये जा रहे निर्माण कार्यों से संबंधित देयक प्राप्त होने पर विभाग का दायित्व है कि कराये गये कार्यों का मूल्यांकन के आधार पर भुगतान करे। भुगतान करने में किसी भी स्तर तक अनावश्यक हस्तक्षेप न करें। इस संबंध में शिकायत मिलने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।
(2 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer