समाचार
|| फोटो निर्वाचक नामावली का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-2022 दावे, आपत्ति प्राप्त करने की अवधि में वृद्धि, अब 5 दिसम्बर, 2021 || आर्थिक सहायता स्वीकृत || प्रशासकीय स्वीकृति जारी || कोविड वैक्सीन के दुसरे डोज के लक्ष्यपूर्ति हेतु बैठक संपन्न || विश्व दिव्यांगता दिवस के अवसर पर विभिन्न प्रकार की खेल गतिविधियों का आयोजन || एनएफडीबी हैदराबाद की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. सी. सुवर्णा द्वारा जिले में मत्स्य पालन गतिविधियों का किया अवलोकन || देवास जिले के किसान भाई समर्थन मूल्य पर फसल के पंजीयन एवं विक्रय के लिए अपना बैंक खाता एवं मोबाईल नम्बर आधार से लिंक कराये || जिले मे यूरिया की वैकल्पिक व्यवस्था इफको नैनो यूरिया || नेहरू युवा केंद्र देवास द्वारा "स्वच्छ गांव-हरित गांव" पर कार्यशाला आयोजित || 07 दिसंबर को सशस्त्र सेना झण्डा दिवस
अन्य ख़बरें
कलेक्टर ने गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय सीमा में कार्य पूर्ण कराने के दिए निर्देश
कलेक्टर ने की जल जीवन मिशन की प्रगति की समीक्षा
रायसेन | 07-अक्तूबर-2021
   जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक घर में नल से जल पहुंचाने के लिए संचालित जल जीवन मिशन की प्रगति की कलेक्टर श्री अरविन्द कुमार दुबे द्वारा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक आयोजित कर समीक्षा की गई। बैठक में कलेक्टर श्री दुबे ने कहा कि जल जीवन मिशन शासन की महत्वाकांक्षी योजना है। मिशन के तहत किए जा रहे कार्यो की प्रत्येक स्तर पर गहन मॉनीटरिंग करते हुए गुणवत्ता के साथ समय सीमा में निर्माण कार्य पूर्ण कराएं। 
   कलेक्टर श्री दुबे ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत जनपदवार ग्रामीण क्षेत्रों में स्वीकृत जल प्रदाय के कार्यों तथा निर्माणाधीन नल-जल योजनाओं की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने निर्माणाधीन जल प्रदाय योजनाओं के कार्यों को गति देने के निर्देश देते हुए कहा कि जिन योजनाओं के टेण्डर की प्रक्रिया पूरी होने के बाद भी अब तक कार्य प्रारंभ नहीं हुआ है, उनका शीघ्र कार्य प्रारंभ कराएं। उन्होंने कहा कि 15 दिवस बाद पुनः जल जीवन मिशन की बैठक आयोजित कर समीक्षा की जाएगी।
   कलेक्टर श्री दुबे ने स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में नल कनेक्शन के माध्यम से पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करने के संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्कूलों में नल-जल योजना का कार्य सम्पूर्ण गुणवत्ता के साथ होना चाहिए। पानी की टंकी की देखरेख व रख-रखाव का दायित्व शिक्षा विभाग का होगा।
   बैठक में पीएचई विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री आरके राजपूत द्वारा जानकारी दी गई कि जिले में जल जीवन मिशन के तहत कुल 1411 गॉवों में कार्य किए जा रहे हैं। इनमें कुल 226999 परिवार हैं तथा अब तक कुल 73020 कनेक्शन दिए गए हैं। जिले में 307 योजनाओं को प्रशासकीय स्वीकृति मिली है जिनकी लागत 13105.49 लाख रू है। इनमें 254 योजनाओं में कार्यादेश जारी कर दिया गया है तथा 53 योजनाओं में निविदा कार्यवाही प्रक्रिया में है। बैठक में जानकारी दी गई कि 30 योजनाएं पूर्ण हो गई हैं, 198 योजनाएं प्रगतिरत हैं तथा 26 अप्रारंभ योजनाएं हैं। प्रस्तावित नल कलेक्शन 46310 हैं जिनमें से 11103 नल कनेक्शन हो गए हैं।
   बैठक में जानकारी दी गई कि जल जीवन मिशन के तहत जिले में 51 आरसीसी उच्च स्तरीय टंकी निर्माण प्रावधानित हैं जिनमें से तीन टंकी का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है, 38 टंकियां निर्माणाधीन हैं तथा दस टंकियों का निर्माण अप्रारंभ है। इनके अतिरिक्त 72 भू-स्तरीय टंकी, संपवेल निर्माण होना हैं जिनमें से 11 का कार्य पूर्ण हो गया है, 38 प्रगतिरत हैं तथा 23 भू-स्तरीय टंकी, संपवेल का निर्माण कार्य प्रारंभ होना है। बैठक में जानकारी दी गई कि जिले में 1961 शाला परिसर हैं जिनमें 1008 शालाओं में नल से जल प्रदाय किया जा रहा है। शेष 953 शालाओं में कार्य प्रगतिरत है। इसी प्रकार जिले में 386 ऑगनवाड़ी केन्द्रों में नल से जल प्रदाय किया जा रहा है तथा 358 ऑगनवाड़ियों में नल से जल प्रदाय कार्य प्रगतिरत है। बैठक में संबंधित विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।
 
(58 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2021जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer