समाचार
|| देवास जिले के किसान भाई समर्थन मूल्य पर फसल के पंजीयन एवं विक्रय के लिए अपना बैंक खाता एवं मोबाईल नम्बर आधार से लिंक कराये || जिले मे यूरिया की वैकल्पिक व्यवस्था इफको नैनो यूरिया || नेहरू युवा केंद्र देवास द्वारा "स्वच्छ गांव-हरित गांव" पर कार्यशाला आयोजित || 07 दिसंबर को सशस्त्र सेना झण्डा दिवस || स्पोर्ट्स शूज एवं स्कूल बैग के लिए 10 दिसंबर 2021 तक कोटेशन आमंत्रित || 04 से 08 दिसंबर तक मौसम शुष्क रहने का अनुमान || शराब का अवैध परिवहन करते हुए पाये जाने पर दो आरोपियों को भेज गया जेल || बलगांव में ग्रामीणों को लगाया गया कोविड वैक्सीन का टीका || जिले में कोरोना पाजेटिव की संख्या शून्य पर स्थिर || कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना को देखते हुये कलेक्टर ने नागरिकों से की सभी जरूरी सावधानियॉं बरतने की अपील
अन्य ख़बरें
टीएल बैठक में अधिकारियों को कलेक्टर ने दिये निर्देश
समय सीमा प्रकरणों की हुई समीक्षा
बालाघाट | 11-अक्तूबर-2021
  कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा की अध्यक्षता में आज 11 अक्टूबर को टीएल (समय सीमा) बैठक का आयोजन किया गया था। बैठक में समय सीमा में प्रकरणों की समीक्ष करने के साथ ही अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री विवेक कुमार, अपर कलेक्टर श्री शिवगोविंद मरकाम, संयुक्त कलेक्टर श्री सतीश प्रधान एवं सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
       बैठक में कलेक्टर डा मिश्रा ने आगामी 23 से 25 अक्टूबर 2021 तक बालाघाट में आयोजित होने वाले आदि रंग उत्सव के लिए सभी आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिये। इस आदि रंग उत्सव में आदिवासी संस्कृति, परंपरा, खेलकूद को प्रस्तुत किया जायेगा। इस अत्सव के दौरान शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जायेगा। यह आयोजन उत्कृष्ट विद्यालय के मैदान में किया जायेगा। कलेक्टर डॉ मिश्रा ने इस उत्सव के प्रतिभागियों के रूकने के लिए छात्रावास भवनों में व्यवस्था करने के निर्देश दिये। इस आयोजन में कोविड वैक्सीन टीकाकरण केन्द्र बनाने एवं जी आई टैग प्राप्त करने वाली चिन्नौर के प्रचार-प्रसार के निर्देश भी दिये गये।
       कलेक्टर डॉ मिश्रा ने बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री को निर्देशित किया कि जिले की शालाओं एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में नल-जल योजना से जल प्रदाय की व्यवस्था को दुरूस्त करें। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा अब तक जितने भी स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण किया गया है, उनमें यह व्यवस्था संतोषजनक नहीं पायी गई है। जिन स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में नल-जल योजना बनाई गई है, उसका शीघ्र सत्यापन करने के निर्देश दिये गये। कलेक्टर डॉ मिश्रा ने कहा कि स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान नल-जल योजना बंद मिलेगी या ठीक से संचालित नहीं होना पाया जायेगा तो संबंधित ठेकेदार को कारण बताओ नोटिस जारी किया जायेगा।
       कलेक्टर डॉ मिश्रा ने गत दिवस वारासिवनी क्षेत्र की शालाओं के किये गये निरीक्षण की चर्चा करते हुए कहा कि मेंहदीवाड़ा स्कूल के सहायक ग्रेड (लिपिक) द्वारा शिक्षकों एवं कर्मचारियों की सेवा पुस्तिका का संधारण ठीक से नहीं किया जा रहा है। अत: जिला शिक्षा अधिकारी इस लापरवाही के लिए उसके विरूद्ध कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि स्कूलों में शिक्षकों को समय पर उपस्थित होने के साथ ही बच्चों को अच्छे से पढ़ाना भी है। बच्चों की पढ़ाई छोड़कर शिक्षकों का प्रपत्रों में जानकारी तैयार करना ठीक नहीं है। प्रपत्रों में जानकारी तैयार करने एवं देने की जिम्मेदारी जनशिक्षा केन्द्र एवं बीआरसी की है। कलेक्टर डॉ मिश्रा ने जिला शिक्षा अधिकारी एवं सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग को निर्देशित किया कि वे जन शिक्षा केन्द्र एवं संकुल स्तर पर बच्चों की पढ़ाई में खराब प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों को चिन्हित करें। ऐसे शिक्षकों को डाईट में प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की जायेगी।
       कलेक्टर डॉ मिश्रा ने बैठक में सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग एवं जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि वे अपने अधीनस्थ शिक्षकों एवं अध्यापकों की सेवा पुस्तिका सत्यापन एवं वेतन निर्धारण की कार्यवाही शीघ्र पूर्ण करायें। जिला पेंशन अधिकारी को भी निर्देशित किया गया कि वे सेवा पुस्तिका सत्यापन एवं वेतन निर्धारण की कार्यवाही शीघ्र पूर्ण करायें।
       बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से कहा गया कि आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ता एवं सहायिका की भर्ती  संबंधी अपील प्रकरणों में शीघ्र निराकरण करायें। जिससे आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ता एवं सहायिका की भर्ती शीघ्रता से हो सके। बैठक में जिले के नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों एवं जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे अपने क्षेत्र के सामाजिक न्याय विभाग से सामाजिक सुरक्षा व अन्य पेंशन प्राप्त करने वाले हितग्राहियों का घर-घर जाकर सत्यापन करायें और यह सुनिश्चित करें कि जीवित व्यक्ति को ही पेंशन मिले।
       बैठक में अपात्र होने के बाद भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की राशि प्राप्त करने वाले सभी शासकीय सेवकों से सात दिनों के भीतर राशि वापस प्राप्त करने के निर्देश दिये गये। जिन शासकीय सेवकों द्वारा सात दिनों के भीतर राशि वापस नहीं की जायेगी, उनकी दो वेतन वृद्धि रोकने का प्रस्ताव तैयार करने और उनके समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये। इसी प्रकार प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन शीघ्र प्रदान करने के निर्देश दिये गये। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को खाद्य सामग्री विक्रय करने एवं तैयार करने वाले प्रतिष्ठानों व होटलों की नियमित रूप से जांच करने के निर्देश दिये गये। जिला परिवहन अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वे यात्री एवं व्यवसायिक वाहनों की नियमित रूप से जांच करते रहें और बगैर लायसेंस व परमिट के चलने वाले वाहनों पर कार्यवाही करें।
       बैठक में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के कार्यपालन यंत्री को निर्देशित किया गया कि जिन आंगनवाड़ी भवनों का कार्य पूर्ण हो गया है उनके पूर्णता प्रमाण पत्र शीघ्र प्रस्तुत करें। बैठक में सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का त्वरित निराकरण करें और आवेदक निराकरण से संतुष्ट होना चाहिए। जिन अधिकारियों का सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों के निराकरण में संतुष्टि का प्रतिशत कम पाया जायेगा, उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया जायेगा।
(54 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2021जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer