समाचार
|| त्रि स्तरीय पंचायत निर्वाचन की तैयारियों के संबंध में टीएल बैठक आज || सितार वादन में संभागीय बाल भवन की छात्रा अनुष्का सोनी राष्ट्रीय कला उत्सव के लिए चयनित || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वैक्सीन के 9 करोड़ डोज़ पूरे होने पर दी बधाई || निर्वाचन मे अनुमति लेकर ही उपयोग होगें लाउड स्पीकर || पंचायत प्रतिनिधियों के वाहन होगें वापस || सम्पत्ति विरूपण रोकने दल गठित || जिले के ग्रामीण क्षेत्र के शस्त्र लाईसेंस निलंबित || बिना अनुमति मुख्यालय नही छोडेगें अधिकारी-कर्मचारी || ग्रामीण क्षेत्रो के अंतर्गत धारा-144 के प्रतिबंधात्मक आदेश जारी || त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन - मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा आज
अन्य ख़बरें
प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत मत्स्यपालन की योजनाएं
-
सीहोर | 12-अक्तूबर-2021
   प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत मत्स्यपालन की योजनाएं क्रियान्वित है। इकाई लागत के लिए हितग्राही स्वयं के व्यय तथा बैंक से ऋण लेकर कर सकता है। भारत सरकार द्वारा योजना स्वीकृति कि बाद ही अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग तथा महिला हितग्राहियों को 60% एवं सामान्य वर्ग हितग्राहीयों को 40% अनुदान प्राप्त हागा।
   पुनः परिसंचरणीय जलकृषि की प्रणाली इस योजना अंतर्गत RAS की स्थापना के लिए हितग्राही को स्वयं की भूमी पर निर्मित कराने होंगे, जिसमें पानी, बिजली, पानी के शुद्धिकरण की समुचित व्यवस्था होना आवश्यक है। 8 टैंक 90 घन मीटर टैंक, जिससे 40 टन मत्स्य उत्पादन अपेक्षित है निर्माण लागत 50 लाख प्रावधानित है, 6 टैंक 30 घन मीटर टैंक, जिससे 10 टन मत्स्य उत्पादन अपेक्षित हे निर्माण लागत 25.00 लाख प्रावधानित है। 1 टैंक 100 घन मीटर जिसकी निर्माण लागत रू.7.50 लाख प्रावधानित है।
   योजनान्तर्गत सभी वर्ग के मछुआरे पात्र होगें। भूमी के संबंध में आवश्यक दास्तावेज- नक्सा, खसरा, निर्माण कार्य तकनीकी अमले की देख-रेख में होगा। हितग्राही किसी बैंक-वित्तीय संस्था का डिफाल्टर नहीं होना चाहिए। आवर्ती व्यय बैंक ऋण-स्वयं हितग्राही को वहन करना होगा

मत्स्यबीज संवर्धन जलक्षेत्र निर्माण
   योजनाअंतर्गत 1 हेक्टयर जलक्षेत्र में मत्स्यबीज संवर्धन इकाई के निर्माण पर रू. 7.00 लाख प्रावधानित है, योजना अंतर्गत सभी वर्ग मछुआरे पात्र होंगे। भूर्मी के संबंध में आवश्यक दस्तावेज- नक्सा, खसरा, 10 वर्षीय तालाब पट्टा एवं मत्स्य पालक को मत्स्यबीज उत्पादन का पशिक्षण लेना आवश्यक होगा। इस योजना में 40 प्रतिशत एवं 60 प्रतिशत अनुदान देय है।

बायोफ्लॉक की स्थापना
   योजना अंतर्गत स्वयं की भूमी पर निर्मित कराने होंगे जिसमें पानी, बिजली, पानी के शुद्धिकरण की समूचित व्यवस्था 50 टैंक 4 मीटर व्यास एवं 1.5 मीटर ऊँचाई जिससे 40 टन मत्स्य उत्पादन अपेक्षित है। लागत 50 लाख रूपये प्रावधानित, 25 टैंक 4 मीटर व्यास एवं 1 मीटर ऊँचाई जिसमे 10 टन  मत्स्य उत्पादन अपेक्षित है। लागत रू. 25 लाख प्रावधानित है, 7 टैंक 4 मीटर व्यास एवं 1.5 मीटर ऊँचाई जिसमे 6 टन  मत्स्य उत्पादन अपेक्षित है। लागत.1 लाख रूपये प्रावधानित है।

केज / पेन कल्चर
   इस योजना अन्तर्गत जलाशय के केज/पेन के निर्माण एवं स्थापना पर केवल प्रथम उपज के लिए मत्स्यबीज, आहार, उर्वरक, दवाईया, परिवहन 3 लाख रूपये प्रावधानित है। जलाशय में जिस स्थान पर केज लगाया जाना हो, वहां पर जल के स्तर की गहराई ग्रीष्म ऋतु में भी 20 फीट न्युनतम होना चाहिए जिसमे प्रति केज 4 से 5 टन पंगेशियस मत्स्य उत्पादन प्राप्त होना चाहिए। एक बैटरी में 4 केज जिसका आकार 6X4X4 मीटर हो। समिति- समूह हितग्राही को मत्स्य पालन के लिए जलाशय पट्टे पर आवंटित होना चाहिए। एक जलाशय में अधिकतम चार बैटरी जिसमें 24 केज हो एक निर्धारित स्थल पर लगाए जा सकते हैं । इस योजना में 40 प्रतिशत एवं 60 प्रतिशत अनुदान है।
स्वयं की भूमी में नवीन तालाब निर्माण
   इस योजनाअन्तर्गत स्थंव की भूमी पर 0.50 हैक्टर का तालाब निर्माण कराने पर 3.50 लाख रूपये एवं 1 हेक्टर पर 7 लाख एवं 2 हैक्टर पर 14 लाख का प्रावधान है, इस योजनाअंतर्गत किसी भी मत्स्य कृषक को न्यूनतम 0.5 एवं अधिकतम 2.00 हेक्टर तक के तालाब निर्माण पर 40 तथा 60 प्रतिशत अनुदान है।

पोण्ड कलचर योजनाअन्तर्गत इनपुट्स पर अनुदान

   योजना अन्तर्गत स्थानीय स्वयं के द्वारा 10 वर्षीय तालाब का पटटा होने के बाद ही योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है। तालाब में प्रथम वर्ष इनपुट्स पर पट्टा राशि, मत्स्यबीज, खाद्य, पूरक आहार एवं दवाईयों के लिए  4:00 लाख प्रति हेक्टर प्रावधानित है। किसी भी मत्स्य कृषक को न्यूनतम 0.5 एवं अधिकतम 2.00 हैक्टर की इकाई पर अनुदान की राशि प्रदान की जाती है। नवीन निर्मित तालाब/शुद्धिकरण किये गये तालाबों में मत्स्य पालन के लिए प्राथमिकता।  

सर्कुलर हैचरी निर्माण
   सर्कुलर हैचरी की स्थापना हितग्राही स्वयं की 0.50 हैक्टर भूमी पर (उत्पादन क्षमता 15 लाख फाई, 6 करोड़ स्पॉन प्रति वर्ष होना चाहिए, इकाई स्थापना पर रू. 25 लाख प्रावधानित है। हैचरी, बुडर पोण्ड, नर्सरी पोण्ड, संवर्धन पोण्ड ओवर हेट टैंक, जल एवं की आवश्यक है। इस योजना के लागत पर 40 एवं 60 प्रतिशत अनुदान देय है। विभागीय यंत्री प्लान तथा एस्टीमेंट इंजीनियर द्वारा बनाए जायेंगे एवं संबंधित विषय का परिक्षण दिया जाना आवश्यक है निर्माण कार्य तकनीकी अमले की देखरेख में होगा। हितग्राही को शासकीय दर से मत्स्य पालको को मत्स्य बीज विक्रय करना होगा। हैवरी निर्माण के पश्चात, हैचरी में सुधार, मरम्मत तथा प्रबंधन हितग्राही को स्वयं करना होगा।

बर्फ सयंत्र आइस प्लान्ट की स्थापना
   दस टन का बर्फ सयंत्र, कोल्ड स्टोरेज के निर्माण पर 40 लाख रूपये प्रावधानित है, बीस टन का बर्फ सयंत्र, कोल्ड स्टोरेज के निर्माण पर 80 लाख रूपये प्रावधानित है। तीस टन का बर्फ सयंत्र, कोल्ड स्टोरेज के निर्माण पर 120 लाख रूपये प्रावधानित है। सभी वर्ग के मत्स्य कृषक पात्र होंगे। भूमी के संबंध में आवश्यक दस्तावेज के साथ जैसे- नक्सा, खसरा आदि। बर्फ सयंत्रा की स्थापना के पश्चात् प्रबंधन एवं विपणन आदि की समस्त जिम्मेदारी संबंधित हितग्राही की होगी। हितग्राही आवती व्यय स्वयं वहन करना होगा। जिसके लिए बैंक से सहायता प्राप्त कर सकते है। इस योजना के लागत पर 40 एवं 60 प्रतिशत अनुदान देय है।

फिश फीड मिल की स्थापना
  छोटे फिश मिल उत्पादन क्षमता 2 टन/दिन लागत 30 लाख प्रावधानित है। "मध्यम फिश मिल उत्पादन क्षमता 8 टन/दिन लागत 100 लाख प्रावधानित है। बड़ी फिश मिल उत्पादन क्षमता 20 टन/दिन लागत 200 लाख प्रावधानित है। फश फीड प्लान्ट उत्पादन क्षमता कम से कम 100 टन/दिन लागत 650 प्रावधानित है। इस योजना में सभी वर्ग के मत्स्य कृषक पात्र होंगें। भूमी के संबंध में आवश्यक दस्तावेज के साथ जैसे नक्सा, खसरा आदि। कृषकों को मत्स्व आहार उचित दर पर उपलब्ध कराना होगा। फीड मिल स्थापना के पश्चात् प्रबंधन एवं विपणन आदि की समस्त जिम्मेदारी संबंधित हितग्राही की होगी। इस योजना के लागत पर 40 एवं 60 प्रतिशत अनुदान देय है।

मत्स्य परिवहन हेतु सहायता प्रशीतित वाहन

   प्रशीति वाहनके लिए इकाई लागत 25 लाख रूपये प्रावधानित है। इन्स्लेटेड वाहन हेतु इकाई लागत रूपये 20 लाख प्रावधानित है। •आटो रिक्शा विथ आइस बॉक्स इकाई लागत रू. 3 लाख प्रावधानित है। मोटर साइकिल विथ आइस बॉक्स हेतु इकाई लागत रु. 75 हजार प्रावधानित है। सायकिल विथ आइस बॉक्स के लिए इकाई लागत 10 हजार का प्रावधान है। मत्स्य उत्पदन/मत्स्य व्यवसाय करने वाले व्यक्तियों को प्राथतिकता। मछुआ सहकारी समिति/समूह के सदस्य जो कि मत्स्य व्यवसाय से जुड़े हो मछुआ सहकारी समिति को जलाशय/तालाब पट्टे पर आवंटित हो अथवा विभागीय जलाशय जो मत्स्याखेट हेतु आवदित है। हितग्राही को प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से संलग्न होना आवश्यक है। हितग्राही को मत्स्य व्यवसाय का ज्ञान आवश्यक है। योजना अंतर्गत उपलब्ध कराई गई। सामग्री को मत्स्य व्यवसाय के अतिरिक्त अन्य प्रयोजन हेतु पूर्णतः वर्जित है। इस योजना के लागत पर 40 एवं 60 प्रतिशत अनुदान देव है।

क्योरका  मछली की फुटकर दुकान निर्माण
   इस योजना अंतर्गत मछली की फुटकर दुकान 100 वर्गफिट मय मछली स्टोरेज डिसप्ले केबिन की स्थापना हेतु 10 लाख रूपये प्रावधानिक है अजा, अजजा, महिला, बेरोजगार युवाओं को प्राथमिकता कियोस्क निर्माण पश्चात संचालन एवं मरम्मत हितग्राही द्वारा स्वयं की जावेगी। इस योजना के लागत पर 40 एवं 60 प्रतिशत अनुदान देय है।
 
(54 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2021जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer