समाचार
|| मिलावट से मुक्ति अभियान के अंतर्गत विभिन्न प्रतिष्ठानों का निरीक्षण कर जांच हेतु लिये गये खाद्य पदार्थों के नमूने || अभी तक जिले में टीके के 20,86,896 डोज लगे || नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) मीडिया बुलेटिन || कलेक्टर ने राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की समीक्षा की || किसानों को सिंचाई के लिए बिजली की कमी नहीं आने देंगे: मुख्यमंत्री श्री चौहान || अवैध मदिरा के विरुद्ध कटनी क्षेत्र में आबकारी विभाग की कार्रवाई || कटनी जिले के विभिन्न गाँव व स्थानों में चल रहा है “स्वच्छ भारत” कार्यक्रम || चड्डा कॉलेज कटनी में स्थापित लीगल एड क्लीनिक में आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत आयोजित हुआ जागरूकता शिविर || कोरोना की सैंपलिंग इन स्थानों पर होगी आज || दीपावली दौज पर माँ रतनगढ़ पर आयोजित मेले में की जाने वाली व्यवस्थाओं के संबंध में अधिकारियों को दिए निर्देश
अन्य ख़बरें
कृषि उत्पादन आयुक्त की समीक्षा में अनूपपुर के पारम्परिक, सुगन्धित धान किस्मों के प्रयोग की हुई सराहना
-
अनुपपुर | 14-अक्तूबर-2021
 खरीफ वर्ष 2021 की समीक्षा एवं रबी वर्ष 2021-22 की तैयारी हेतु कृषि आदानों की समीक्षा वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कृषि उत्पादन आयुक्त श्री शैलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता व प्रमुख सचिव कृषि श्री अजीत केषरी एवं संचालक कृषि श्रीमती प्रीति मैथिल की उपस्थिति में की गई। जिला स्तर पर एनआईसी कक्ष से वीडियो कांफ्रेंसिंग माध्यम से कलेक्टर सुश्री सोनिया मीना, उप संचालक कृषि श्री एन.डी. गुप्ता सहित सर्व संबंधित अधिकारी शामिल हुए।
    वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से समीक्षा के दौरान निर्देषित किया गया कि कृषि आय में वृद्धि के उद्देष्य से कृषकों को उन्नत किस्म के बीजों के साथ-साथ ऐसी किस्में उत्पादन के लिए प्रोत्साहित किया जाए, जिनकी बिक्री बाजार में न्यूनतम समर्थन मूल्य से ज्यादा दरों पर हो सके, जिससे कृषकों को अधिक आय प्राप्त होने के साथ-साथ शासन पर निर्भरता कम हो सके। साथ ही क्षेत्र में कम पानी वाली फसलों के क्षेत्र विस्तार पर जोर दिया गया। कृषि उत्पादन आयुक्त की वीडियो कांफ्रेंसिग की समीक्षा बैठक में कलेक्टर सुश्री मीना द्वारा अवगत कराया गया कि जिले में कृषि विभाग की बीज ग्राम योजना अंतर्गत जिले के कृषकों को बिलासपुर छ.ग. से पारम्परिक सुगन्धित किस्म देवभोग के बीज आत्मा परियोजना के माध्यम से विष्णु भोग, दुबराज, बादषाह भोज एवं तुलसी मंजरी जैसी पारम्परिक किस्मों की बीज उपलब्ध कराया जाकर प्रायोगिक तौर पर उत्पादन किया जा रहा है। जिससे अच्छी फसल उत्पादन की संभावना है। इससे पारम्परिक सुगन्धित किस्मों के उत्पाद का मूल्य कृषकों को न्यूनतम समर्थन मूल्य से ज्यादा होगा। इस पर कृषि उत्पादन आयुक्त श्री शैलेन्द्र सिंह ने कलेक्टर अनूपपुर के नवाचार को समयानुकूल बताते हुए प्रोत्साहित किया गया। इस संबंध में उन्हें विस्तृत प्रतिवेदन तैयार कर भेजने को भी कहा गया। कलेक्टर सुश्री सोनिया मीना ने जिले के सहकारी समितियों में रखे 10 कस्टम हायरिंग केन्द्रों के जिले के एफपीओ, एनजीओ, प्रगतिषील कृषकों को खुली बोली के माध्यम से लीज पर उपलब्ध कराने का सुझाव दिया गया।  
(10 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2021नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer