समाचार
|| मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पद्म विभूषण स्व. डॉ. लक्ष्मी सहगल की जयंती पर किया नमन || भारतीय समाज का सर्वाधिक लोकप्रिय नायक राजा विक्रमादित्य – उच्चशिक्षा मंत्री डॉ. यादव || कलेक्टर ने कृषक संगोष्ठी कार्यक्रम में ग्रामीणों की सुनी समस्याएं, निराकरण करने के दिए निर्देश || लोगों को संगीत के माध्यम से मतदान हेतु किया गया जागरूक || मुख्यमंत्री 25 अक्टूबर को मध्यान्ह भोजन की राशि करेंगे हस्तांतरण || पैरालीगल वालेंटियर्स एवं पैनल लायर की बैठक एडीआर सेंटर में संपन्न || स्थानांतरित पुलिस कर्मियों को दी गई विदाई || मत्स्य पालन एवं सिंघाडा उत्पादन हेतु लोगो को किया जागरूक, सीईओ जिला पंचायत ने तालाबों का किया निरीक्षण || शिविर में लोगो को नालसा की आदिवासियों के अधिकारों के  संरक्षण व कानूनी जानकारी के प्रति किया गया जागरूक || आज का अधिकतम तापमान 31.6 डि.से.
अन्य ख़बरें
पिता की मृत्यु के बाद लाड़ली लक्ष्मी योजना ने दूर की प्रिंसी यादव की शिक्षा प्राप्त करने की चिंता “खुशियों की दास्तां”
-
नरसिंहपुर | 14-अक्तूबर-2021
    नरसिंहपुर की श्री नरसिंह पब्लिक हायर सेकेंडरी स्कूल की कक्षा 12 वीं की छात्रा प्रिंसी यादव के पिता की मृत्यु के पश्चात उनकी मां को प्रिंसी की शिक्षा की बहुत चिंता थी। लेकिन लाड़ली लक्ष्मी योजना से मिली मदद के कारण प्रिंसी यादव की शिक्षा प्राप्त करने की चिंता दूर हो गई है। इसी मदद के कारण आज प्रिंसी यादव अपनी पढ़ाई जारी रख सकी हैं।
   प्रिंसी ने बताया कि लाड़ली लक्ष्मी योजना की स्कॉल‍रशिप मिलने के कारण ही आज मैं अच्छे स्कूल में अध्ययन कर पा रही हूं। मुझे कक्षा 6 वीं में दो हजार रूपये, कक्षा 9 वीं में 4 हजार रूपये, कक्षा 11 वीं में 6 हजार रूपये और कक्षा 12 वीं में 6 हजार रूपये की स्कॉलरशिप मिल चुकी है। इस मदद से मैं बहुत खुश हूं और अपनी पढ़ाई पूरी कर पा रही हूं। मुझे 21 वर्ष की आयु में एक लाख रूपये की राशि प्राप्त होगी। इस राशि से मैं अपना भविष्य संवार सकूंगी। प्रिंसी कहती हैं कि थैंक्यू लाड़ली लक्ष्मी योजना। प्रिंसी यादव इसके लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं मध्यप्रदेश सरकार के प्रति आभार प्रकट करती हैं।
   उल्लेखनीय है कि लाड़ली लक्ष्मी योजना मध्यप्रदेश सरकार की प्रमुख हितग्राहीमूलक योजना है। इस योजना से बेटियों को बोझ समझने की विचारधारा एवं सामाजिक दृष्टिकोण से समाज में काफी परिवर्तन नजर आ रहा है। अब लोग बेटियों को बोझ नहीं समझते हैं। यह योजना एक अप्रैल 2007 से मध्‍यप्रदेश में लागू हुई। इस योजना में प्रकरण स्‍वीकृत होने पर बालिका के नाम से शासन की ओर से एक लाख 18 हजार रूपये का ई-प्रमाण पत्र जारी कर हितग्राही को दिया जाता है। इस राशि में से 18 हजार रूपये का भुगतान बालिका की शिक्षा के दौरान छात्रवृत्ति के रूप में प्रदाय किया जा रहा है।
   लाडली लक्ष्‍मी योजना के तहत बालिका को कक्षा 6 मे प्रवेश लेने पर 2 हजार रूपये, कक्षा 9 वीं में प्रवेश लेने पर 4 हजार रूपये, कक्षा 11 वीं में प्रवेश लेने पर 6 हजार रूपये एवं कक्षा 12 वीं में प्रवेश लेने पर 6 हजार रूपये की छात्रवृति प्रदाय की जाती है। लाडली लक्ष्मी योजना के तहत अंतिम भुगतान बालिका की आयु 21 वर्ष होने पर एक लाख रूपये इस शर्त पर दिया जायेगा कि हितग्राही बालिका का 18 वर्ष की आयु के पूर्व विवाह न हुआ हो और उसने कक्षा 12 वीं में प्रवेश लिया हो।
   इस योजना के तहत नरसिंहपुर जिले में योजना लागू होने से अब तक 69 हजार 207 बेटियों को लाड़ली लक्ष्‍मी योजना का लाभ मिल चुका है। छात्रवृत्ति के लिए अब तक कक्षा 6 वीं में 16 हजार 440 कक्षा 9 वीं में 5 हजार 176, कक्षा 11 वीं में 547 एवं कक्षा 12 वीं में 26 हितग्राही बालिकाओं को लाभ दिया जा चुका है। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास नरसिंहपुर ने बताया कि लाडली लक्ष्‍मी योजना के कारण लिंगानुपात की दर 919 से 931 हो गई है एवं बालिका शिक्षा की दर 50.29 प्रतिशत से 59. 24 प्रतिशत हो गई है।
 
(11 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2021नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer