समाचार
|| प्रशासकीय स्वीकृति जारी || कोविड वैक्सीन के दुसरे डोज के लक्ष्यपूर्ति हेतु बैठक संपन्न || विश्व दिव्यांगता दिवस के अवसर पर विभिन्न प्रकार की खेल गतिविधियों का आयोजन || एनएफडीबी हैदराबाद की मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. सी. सुवर्णा द्वारा जिले में मत्स्य पालन गतिविधियों का किया अवलोकन || देवास जिले के किसान भाई समर्थन मूल्य पर फसल के पंजीयन एवं विक्रय के लिए अपना बैंक खाता एवं मोबाईल नम्बर आधार से लिंक कराये || जिले मे यूरिया की वैकल्पिक व्यवस्था इफको नैनो यूरिया || नेहरू युवा केंद्र देवास द्वारा "स्वच्छ गांव-हरित गांव" पर कार्यशाला आयोजित || 07 दिसंबर को सशस्त्र सेना झण्डा दिवस || स्पोर्ट्स शूज एवं स्कूल बैग के लिए 10 दिसंबर 2021 तक कोटेशन आमंत्रित || 04 से 08 दिसंबर तक मौसम शुष्क रहने का अनुमान
अन्य ख़बरें
एनएसएन के नौजवानों ने 35 किलो प्लास्टिक कचरा निकाला
-
खरगौन | 23-अक्तूबर-2021
    शासकीय पीजी कॉलेज खरगोन की राष्ट्रीय सेवा योजना एवं इको क्लब के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार को छात्र-छात्राओं स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत कुंदा नदी तट पर साई मंदिर से लेकर गणेश मंदिर तक सिंगल यूज प्लास्टिक व अन्य प्लास्टिक कचरे को एकत्रित कर नगरपालिका की कचरे गाड़ी में निस्तारण किया गया। इसके साथ ही स्थानीय लोगों को पॉलीथिन के हानिकारक दुष्प्रभाव एवं स्वच्छता के बारे में जागरूक किया गया। पॉलीथिन की जगह कपउे़ एवं जुट के थैले का उपयोग उपयोग करने के लिए प्रेरित किया गया।
   एनएसएस के नौजवान गीत से प्रारंभ कर किला रोड, तालाब चौक, औरंगपुरा बस्ती में जाकर जनमानस को सिंगल यूज प्लास्टिक व पॉलीथिन से होने वाले दुष्प्रभावों को बताया। कुंदा नदी तट पर स्वयंसेवकों ने 35 किलो प्लास्टिक एकत्रित कर प्लास्टिक के बोरों में भरकर नपा की कचरा गाड़ी में डाला। राष्ट्रीय सेवा योजना के जिला संगठक अधिकारी डॉ. सुरेश अवासे ने कहा कि खाद्य सामग्री को पॉलीथिन एवं प्लास्टिक अत्यंत दूषित कर देती है। ऐसा खाद्य पदार्थ अनेक रोगों का संवाहक होता है। यह भूमि की उर्वरा शक्ति को नष्ट कर देती है जो फसल की पैदावार को प्रभावित करती है। वहीं वन्य पशुओं के लिए भी पॉलिथिन जानलेवा है। उन्हें असमय ही मौत के मुंह में धकेल देती है। देश की उन्नति व रोगों से मुक्ति के लिए प्लास्टिक व पॉलीथिन का बहिष्कार परम आवश्यक हैं। इको क्लब के प्रभारी डॉ. रविन्द्र रावल ने  कहा कि इस अभियान में हम लोगों के मन मस्तिष्क में स्वच्छता के प्रति सचेत कर उनके विचारों में बदलाव लाने की कोशिश करना होगी तभी हमारा अभियान सफल होगा। हमें एक-एक व्यक्ति को जागरूक करना है। वहीं महिला इकाई कार्यक्रम अधिकारी डॉ. सुनैना चौहान ने कहा कि स्वच्छता के प्रति वैचारिक क्रांति लाना है और पूरे भारत को प्लास्टिक मुक्त बनाना है। इसी संदेश को लेकर शनिवार को 2 घंटे श्रमदान किया।
   स्वयंसेवक सावन धनगर ने कहा प्लास्टिक हमारे जीवन के लिए सुविधा नहीं एक अभिश्राप है। प्लास्टिक एक तरह का धीमा ज़हर हैं जो हमारे पृथ्वी पर लगातार अपना पैर पसारता जा रहा हैं। हम सभी को मिलकर इस जहरीले प्लास्टिक के उपयोग को तत्काल बंद करना चाहिए। साथ ही लोगों को प्लास्टिक से फ़ैल रहे प्रदूषण के खिलाफ लोगों को जागरूक भी करना है। भागीरथ खतवासे ने कहा प्लास्टिक प्रदूषण पुरे विश्व के लिए सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है, हमें मिलकर एक साथ प्लास्टिक के प्रति सभी को जागरूक होना पड़ेगा और प्लास्टिक को पूरी तरह से बंद करना होगा तभी जाकर हम इस ना समाप्त होने वाले खतरनाक प्रदूषण से बच सकते हैं। हम अपना पर्यावरण को स्वच्छ बना सकते हैं और भारत को प्लास्टिक मुक्त बना सकते है। इस कार्यक्रम में अनिल सोलंकी, सागर नैयर, धर्मेंद्र नार्वे, संवेदना पंढाणे, श्रेया सेन, शिवानी यादव, टीना आदि छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

 
(42 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2021जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer