समाचार
|| दिव्यांग मतदाताओं के लिये नियुक्त किये जायेंगे दिव्यांग मित्रहोगी व्हील चेयर की व्यवस्था " त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2022" || सेक्टर हेल्थ रेग्युलेटर नियुक्त करने के निर्देश "त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2022" || जेड प्लस श्रेणी के सुरक्षा प्राप्त स्टार प्रचारकों को विश्राम गृह आवंटन हेतु जारी किये दिशा-निर्देश "त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2022" || सराय, होटल, लॉज एवं धर्मशाला में ठहरने वाले व्यक्तियों की देना होगी जानकारी "त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन-2022" || राष्‍ट्रीय पशुधन मिशन के उद्यमिता विकास कार्यक्रमों में आवेदन की तिथि बढ़ी || मछुआ कल्याण और मछली पालन के लिए जल्द लाई जाएगी संशोधित मछुआ नीति || स्व-सहायता समूहों को ऋण दिलाने के कार्य को गति दी जाए: पंचायत मंत्री श्री सिसोदिया || मुख्यमंत्री श्री चौहान की मंशा के अनुरूप प्रदेश में नई शिक्षा नीति का प्रभावी क्रियान्वयन किया जाएगा- राज्यमंत्री श्री परमार || हैण्डलूम एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल की सदस्यता लेगा मध्यप्रदेश एच.एस.व्ही.एन || बीओटी शर्तों का उल्लंघन करने वालों के ठेके होंगे निरस्त: लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
अन्य ख़बरें
हर वर्ग, आयु की टिकाउ, उपयोगी सामग्री
हस्तशिल्प मेले का आज अंतिम दिन
रतलाम | 23-अक्तूबर-2021
 
     संत रविदास मप्र हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम ने नगर की शिल्प को जानने-समझने-परखने का सामर्थ्य रखने वाले जानकारों के सामने प्रदेश के सबसे अच्छे शिल्पकार और उनकी कला का प्रदर्शन और विक्रय रोटरी हाल में करने का अवसर उपलब्ध कराया। एक साथ, एक ही समय में, एक स्थान पर शरीर, स्वास्थ्य, सौंदर्य, परिधान, सजावट, श्रृंगार की कलात्मक सामग्री का ऐसा खजाना उपलब्ध कराया जो बाजार में देखना तो ठीक सुनने को भी नहीं मिलता है। पिछले दिनों जिस मेले में यह सब देखा और खरीदा उसका आज अंतिम दिन है।

   मेला आयोजक श्री दिलीप सोनी ने बताया कि प्रदेश के शिल्पी सरकार से पुरस्कार और सम्मान पाते हैं। कारण केवल इतना होता है कि उनके उत्पाद घर की सुख, शांति और समृद्धि बढाते हैं। टाउन हाल में यह सभी सामग्री बेमिसाल तौर पर आम लोगों तक पहुंची है। यवुतियों, महिलाओं के श्रृंगार के लिए सिर से लेकर नख तक मिलने वाली सामग्री बाजार में भी है, लेकिन वहां के उत्पाद हस्तशिल्प के सामने नहीं टिकते हैं। चंदेरी की साडी पूरे देश में नाम कमाती है। हस्तशिल्प मेले में जो साडियां आई है वे अनूठी है। बैतूल और टीकमगढ का बेल मेटल का काम कोई भी शिल्पकार आसानी से नहीं कर सकता है। एक-एक प्रतिमा की नक्काशी पर खुद शिल्पकार के हस्ताक्षर होते हैं। जूते बाजार में भी मिलते हैं, लेकिन उसमे लेदर लगा या रेग्जिन यह पहचानने का जिम्मा ग्राहक का होता है, लेकिन मप्र शासन के इस मेले में इस प्रकार की कई सामग्री है जिसे पहचाने के लिए ग्राहक को ज्यादा मशक्कत करने की जरूरत नहीं होती है। यही कारण है कि हस्तशिल्प मेले के उत्पाद किसी भी स्तर तक जाकर अपनी गुणवत्ता बनाए रखते हैं और विश्वास के लायक होते हैं।

   बेडशीट, मलबरी सिल्क, सलील कॉटन, महेश्वरी साडी, फर, बाग की साडियां, सूट, खिलचीपुरा की कॉटन बेडशीट, ग्वालियर के हेंड एम्ब्रायडरी बेडशीट, रेडिमेट कुर्ते, खंडवा का सिल्क कॉटन, प्रिंटेड सूट, मंदसौर की मीनाकारी, इंदौर का सिरमिक आर्ट, ग्वालियर की सिक्का ज्वैलरी, दुधि के लकडी के खिलौने, ग्वालियर का ग्लास वर्क, चूडियां, उज्जैन की लाख ज्वैलरी, मांडना, खजूर शिल्प, देवास का लेदर बेग्स जैसे कई आयटम कहीं बाजार में नहीं मिलते हैं। शिल्पकारी को जानने वालों की अच्छी बात यह है कि मेले में पहुंचकर शिल्पकार को प्रोत्साहित किया है। हर सामग्री की अपनी अनूठी विशेषता है जो सौंदर्य के साथ स्वास्थ्य से जुडी है। कला परम्परागत होने के बाद भी आधुनिक परिवेश में उसको ढाला गया है। तकनीक और कम्प्यूटर के युग में उन सभी बातों का ख्याल रखा गया है जो किसी भी आवश्यकता की पूर्ति करने के साथ ही कलाप्रेमी की पसंद की पूर्ति करती है। मेले में आने वाले शिल्पकार ज्यादातर सरकार के मापदंड पर खरे उतरने वाले होते हैं और उनके उत्पाद मेले में आने वाले लोगों की निगाहों में खरे होते हैं। मेला प्रतिदिन सुबह 11 से रात्रि 9 बजे आम लोगों के लिए आज भी खुला है। मेले का मंगलवार को अंतिम दिन है।
(46 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2021जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer