समाचार
|| अत्याचार निवारण हेतु गठित जिला स्तरीय राहत समिति द्वारा 16 प्रकरणों में 23 लाख 50 हजार रूपये राहत राशि स्वीकृत || भू अभिलेख शुध्दी करण की प्रदेश सरकार की मुहिम से किसानों को मिल रही है राहत "खुशियों की दास्तां" || भू-माफिया के कब्जे से सभी जमीनें मुक्त होने तक अभियान जारी रहेगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महात्मा फुले को पुण्य-तिथि पर किया नमन || प्रधानमंत्री श्री मोदी ने जनजातीय समुदाय के योगदान का किया स्मरण || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्मार्ट उद्यान में लगाया पिंकेशिया और पीपल का पौधा || भोपाल को देश के प्रमुख शहरों की विमान सेवाओं से जोड़ने की माँग || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उर्वरक वितरण की समीक्षा की || कोरोना के नए वेरिएंट से सिर्फ चिंतित नहीं सावधान भी रहें || मोबाइल एप और ऑनलाइन द्वारा मतदाता सेवाओं का लाभ लें
अन्य ख़बरें
बकरी गरीब की ऐसी गाय है, जो कुछ लेती नही वरन् देती ही देती है - पशुपाल मंत्री श्री प्रेमसिंह पटेल
जनजातीय गौरव दिवस के अवसर पर पशु पालन मंत्री ने किया प्रदेश में बकरी दूध विक्रय का शुभारंभ
बड़वानी | 15-नवम्बर-2021
    बकरी का दूध बहुत स्वास्थ्यवर्धक होता है, क्योकि बकरी शाकाहारी पशु है, और ऐसे पौधों की पत्तियां खाती है जो औषधीय युक्त होते है। जिसका लाभ इसके दूध के सेवन करने वाले को भी मिलता है। और उसका स्वास्थ्य बेहतर बना रहता है।  बकरी गरीब की ऐसी गाय होती है, जो कुछ लेती नही वरन् देती ही देती है।
    उक्त बाते प्रदेश के पशुपालन मंत्री श्री प्रेमसिंह पटेल ने जनजातीय गौरव दिवस के अवसर पर मध्यप्रदेश के लोगों को स्वास्थ्यवर्धक और सुपाच्य बकरी का दूध विक्रय करने के कार्य का शुभारंभ करते हुए कही। इस अवसर पर कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा, पुलिस अधीक्षक श्री दीपक कुमार शुक्ला, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री ओम सोनी, इन्दौर दुग्ध संघ के महाप्रबंधक श्री एसडी जाधव, फील्ड आफिसर श्री ओमप्रकाश झा, सहायक महाप्रबंधक श्री आरपीएस भाटिया, बड़वानी जिला प्रबंधक श्री आरएस पुरी सहित अन्य जनप्रतिनिधि सहित बड़ी संख्या में गणमान्यजन उपस्थित थे।
    बड़वानी के साईनाथ बी कालोनी में सोमवार को आयोजित इस कार्यक्रम में उपस्थितों को सम्बोधित करते हुये पशु पालन मंत्री श्री प्रेमसिंह पटेल ने बताया कि बकरी के दूध की उपयोगिता को देखते हुये इसे दुग्ध संघ के माध्यम से प्रदेश में विक्रय का कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। इससे जहॉ लोगो को सरलता से मानक स्तर का बकरी दूध निर्धारित मूल्य पर मिलने लगेगा, वहीं बकरी पालन करने  वाले जनजातीय भाईयों को भी नया रोजगार उपलब्ध होगा और वे अपने बकरी पालन के परम्परागत व्यवसाय को और बेहतर तरीके से करने लगेंगे। 
    इस अवसर पर कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा ने भी सम्बोधित करते हुये बताया कि दूर पहाड़ों पर रहने वाले जनजातीय भाईयों के घर में यदि कोई पशु सहजसुलभ है तो वह बकरी ही है। अब प्रदेश में दुग्ध संघ के माध्यम से बकरी दूध विक्रय का यह प्रयास जनजातीय भाईयों को ओर तेजी से समृद्ध बनायेगा।
    इस दौरान दुग्ध संघ इन्दौर के पदाधिकारियों ने बताया कि बकरी दूध विक्रय की शुरूआत जबलपुर और इंदौर संभाग के आदिवासी बहुल जिलों से एकत्र दूध से होगी। इंदौर संभाग के बड़वानी, धार, झाबुआ और जबलपुर संभाग के सिवनी, बालाघाट जिलों के आदिवासियों से 50 से 70 रूपये प्रति किलो की दर से दूध, इंदौर एवं जबलपुर दुग्ध संघ द्वारा खरीदा जा रहा है। दुग्ध संघ के पार्लर में 200 एमएल की बॉटल में अधिकतम 30 रूपए की दर से यह दूध वर्तमान में जबलपुर और इंदौर दुग्ध संघ के पार्लरों पर उपलब्ध होगा।

 
(14 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2021दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer