समाचार
|| कोविड 19 टीकाकरण अभियान सतत जारी || पीएम किसान सम्मान निधि की 10 वीं किस्त होगी जारी || बनखेडी के 21 ग्रामों में ड्रोन फ्लाई का कार्य पूर्ण || 12 जनवरी को व्यापक स्तर आयोजित होगा रोजगार मेला || आज का न्यूनतम तापमान 7 डि.से. || वन विहार राष्ट्रीय उद्यान एवं जू वन, वन्य-जीव, पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के सफल प्रयास || औद्योगिक मजबूती के लिए हर माह साठ करोड़ की मदद || कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए पुख्ता रहे नियंत्रण की व्यवस्थाएँ - मुख्यमंत्री श्री चौहान || भारतमाला परियोजना में म.प्र. के लिए 876 करोड़ की स्वीकृति पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने माना केन्द्र का आभार || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जल जीवन मिशन में राशि स्वीकृति के लिए केन्द्र का आभार माना
अन्य ख़बरें
प्रदेश की प्रगति के आँकड़ों की स्पष्ट झलक मिली राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे में
बच्चों में कुपोषण की दर में आई 29.3 प्रतिशत की उल्लेखनीय कमी, प्रदेश में लिंगानुपात हुआ और भी बेहतर रू मुख्यमंत्री श्री चौहान
टीकमगढ़ | 26-नवम्बर-2021
      मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में सम्मिलित प्रयासों से नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 की रिपोर्ट में मध्यप्रदेश में लिंगानुपात बेहतर होकर वर्ष 2020-21 में प्रति 1000 बेटों पर 956 बेटियाँ पर पहुँच गया है। वर्ष 2015-16 में प्रति एक हजार बेटों पर बेटियों की संख्या 927 थी।
      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार ने लाड़ली लक्ष्मी योजना के माध्यम से बेटियों को सशक्त और आत्म-निर्भर बनाने के लिए हर संभव प्रयास किए हैं। बेटी बोझ न लगे इसके लिए उनके जन्म से लेकर शिक्षा और विवाह तक की हर जिम्मेदारी अभिभावक बनकर सरकार उठा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ट्वीट किया - "समाज के सशक्तिकरण के लिए नारी का सशक्त होना भी जरूरी है। आइये, हम सभी बेटियों को खुले आसमान में उड़ने दें, उन्हें कैद न करें। वह हमारा आने वाला कल हैं, उम्मीद हैं, उन्हें हौंसला दें और  उन्हें इस जहाँ में आने दें।"
      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश की जागरूक जनता और संबंधित विभागों द्वारा किए जा रहे महत्वपूर्ण प्रयासों के लिए बधाई दी। उन्होंने बेटियों के महत्व को इन पंक्तियों में प्रस्तुत किया..
बेटियाँ अभिमान हैं, ईश्वर का वरदान हैं
बेटी जैसा न कोई दूजा,बेटियाँ है तो सारा जहाँ है।

   राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-5 के आँकड़ों में प्रदेश में हुई प्रगति की स्पष्ट झलक दिखाई देती है। हाल ही में जारी राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-5 के आँकड़ों में प्रदेश ने वर्ष 2015-16 के राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-4 के मुकाबले अनेक क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति प्राप्त की है।
   केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा एनएफएचएस-5 (राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-5) वर्ष 2020-21 के जारी आँकड़ों में प्रदेश में 5 वर्ष तक आयु वर्ग के बच्चों में सभी प्रकार के कुपोषण की दरों में कमी आई है। प्रदेश में एनएफएचएस-4 वर्ष 2015-16 की तुलना में सर्वे-5 में राष्ट्रीय औसत से भी अधिक सुधार हुआ है।
   प्रदेश में विभागीय योजनाओं के समन्वित एवं प्रभावी क्रियान्वयन से अति गंभीर कुपोषण में 29.3 प्रतिशत कमी आई है। देश के अन्य प्रदेशों की तुलना में प्रदेश की स्थिति में 13 रैंक का सुधार हुआ है। प्रदेश 30वें स्थान से 17वें स्थान पर आ गया है। जहाँ देश में अति गंभीर कुपोषण 2.7 प्रतिशत बढ़ा है, वहीं मध्यप्रदेश में 29.3 प्रतिशत की गिरावट दर्ज हुई है।
दुबलेपन (वेस्टिंग) में प्रदेश अन्य राज्यों में सुधार के क्रम में तीसरे स्थान पर है। देश में 8.1 प्रतिशत का सुधार हुआ है, जबकि मध्यप्रदेश में 26.4 प्रतिशत का सुधार हुआ है। पूर्व में एनएफएचएस-4 में प्रदेश 32वें स्थान पर था, जो अब 24वें स्थान पर आ गया है। इस प्रकार 8 स्थान का सुधार हुआ है।
   कम वजन श्रेणी में सुधार में प्रदेश देश में द्वितीय स्थान पर है। देश में 10.3 प्रतिशत का सुधार हुआ है, जबकि मध्यप्रदेश में 22.9 प्रतिशत का सुधार हुआ है। पूर्व में एनएफएचएस-4 में प्रदेश 33वें स्थान पर था, अब 31वें स्थान पर आ गया है। इस प्रकार 2 स्थान का सुधार हुआ है।
   ठिगनेपन में अधिकतम सुधार करने वाले राज्यों में मध्यप्रदेश छठवें नंबर पर हैं। देश में 7.8 प्रतिशत का सुधार हुआ है, जबकि प्रदेश में 15 प्रतिशत का सुधार हुआ है। पूर्व में एनएफएचएस-4 में प्रदेश 32वें स्थान पर था, जो अब 30वें स्थान पर आ गया है। इस प्रकार प्रदेश की रैंकिंग में 2 स्थान का सुधार हुआ है।
   बाल विवाह की दर में देश में 13.1 प्रतिशत की गिरावट आई है, जबकि प्रदेश में 28.7 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। इसके अतिरिक्त जन्म के समय लिंगानुपात में देश में 1.1 प्रतिशत का सुधार हुआ, जबकि प्रदेश में 3.1 प्रतिशत का सुधार दर्ज हुआ है।
 
(55 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2022फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer